अपना शहर चुनें

States

Kisaan Andolan: किसानों के समर्थन में पंजाब के जेल DIG लक्षमिंदर सिंह जाखड़ ने दिया इस्तीफा, कहा- अब आंदोलन करेंगे

पंजाब के डीआईजी (जेल) लक्षमिंदर सिंह जाखड़ (फोटो: Facebook)
पंजाब के डीआईजी (जेल) लक्षमिंदर सिंह जाखड़ (फोटो: Facebook)

Kisaan Andolan: पंजाब के डीआईजी जेल लक्षमिंदर सिंह जाखड़ (Lakhminder Singh Jakhar) ने पंजाब सरकार (Punjab Government) को अपना इस्तीफा भेज दिया है. किसान आंदोलन के नाम पर इतना बड़ा कदम उठाने के चलते जाखड़ मीडिया की सुर्खियां बन गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 13, 2020, 7:14 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. नए कृषि कानूनों (Farm Laws) का विरोध कर रहे किसानों को अफसरों का भी समर्थन मिलने लगा है. अब पंजाब के डीआईजी लक्षमिंदर सिंह जाखड़ (Lakhminder Singh Jakhar) ने इस्तीफा दे दिया है. एडीजीपी पीके सिन्हा ने इस बात की पुष्टि की है. जाखड़ का कहना है कि वह अब किसानों के साथ आंदोलन करेंगे. एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार जाखड़ ने कहा कि मैं अपने किसान भाइयों के साथ खड़े होने के मेरे विचार के बारे में सूचित करना चाहता हूं, जो कृषि कानूनों का शांतिपूर्वक विरोध कर रहे हैं.

पंजाब के डीआईजी जेल जाखड़ ने पंजाब सरकार (Punjab Government) को अपना इस्तीफा भेज दिया है. हालांकि, सरकार ने इसे अभी मंजूर नहीं किया है. किसान आंदोलन के नाम पर इतना बड़ा कदम उठाने के चलते जाखड़ मीडिया की सुर्खियां बन गए हैं. अंग्रेजी अखबार द ट्रिब्यून की रिपोर्ट बताती है कि जाखड़ को घूस के आरोप में कुछ महीनों पहले निलंबित कर दिया था. उनपर जेल अधिकारियों से महीने के हिसाब से रुपए लेने के आरोप हैं.
मैं एक किसान का बेटा हूं और मुझे इस पर गर्व है
अपने पद से इस्तीफा देने के बाद जाखड़ ने कहा, 'किसान लंबे समय से शांतिपूर्ण तरीके से विरोध कर रहे हैं, किसी ने उनकी समस्याओं को नहीं सुना. मैं एक अनुशासित बल से हूं और नियमों के अनुसार, मैं ड्यूटी पर होने पर विरोध का समर्थन नहीं कर सकता. मुझे अपनी नौकरी के बारे में पहले तय करना है फिर आगे की कार्रवाई तय करनी है.'






उन्होंने कहा कि नियमों के अनुसार, मुझे इस तरह की कार्रवाई के लिए 3 महीने का नोटिस देना होगा या अगर मैं आज इस्तीफा देना चाहता हूं तो मुझे उस अवधि के भुगतान भत्ते को जमा करना होगा. मैं राशि जमा करने के लिए तैयार हूं क्योंकि मुझे अभी जाना है. मैं एक किसान का बेटा हूं और मुझे इस पर गर्व है.



किसान आंदोलन से जुड़े लाइव अपडेट्स के लिए यहां क्लिक करें

इस्तीफे और अवॉर्ड वापसी का दौर जारी
दिल्ली की सरहदों पर प्रदर्शन कर रहे किसानों में ज्यादातर लोग पंजाब और हरियाणा के हैं. ऐसे में दोनों राज्यों से इन आंदोलनों को भरपूर समर्थन मिल रहा है. खेल और राजनीतिक जगत के कई बड़े नाम अपने अवॉर्ड वापस कर चुके हैं. एनडीए से किसान मुद्दे पर ही नाता तोड़ने वाले अकाली दल के प्रमुख और पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल पद्मविभूषण लौटाने की बात कह चुके हैं. राज्यसभा सांसद सुखदेव सिंह ढींढसा ने भी पद्मभूषण लौटाने का घोषणा की थी. इसके अलावा राज्य की कई हस्तियां अवॉर्ड लौटाने का ऐलान कर चुके हैं. इसके अलावा राज्य के 27 खिलाड़ी बी अवॉर्ड लौटाने का ऐलान कर चुके हैं.



किसानों ने दी आंदोलन तेज करने की चेतावनी
किसानों ने आंदोलन और तेज करने की चेतावनी दी थी. इसी के चलते दिल्ली पुलिस ने सरहदों पर जवानों की संख्या में इजाफा कर दिया है. किसानों ने कहा था कि रविवार से राजधानी से जुड़ने वाले बड़े हाईवे को ब्लॉक करेंगे. इसके अलावा 14 दिसंबर को भूख हड़ताल की भी घोषणा कर दी है. हालांकि, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने किसानों के इस प्रदर्शन को हाईजैक हो जाने की बात कही थी. उन्होंने दावा किया था कि प्रदर्शनों में माओवादी भी जुड़ चुके हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज