होम /न्यूज /राष्ट्र /

Kisan Aandolan: किसान आंदोलन के 100 दिन पूरे, KMP एक्सप्रेसवे पर आज करेंगे 5 घंटे की नाकाबंदी

Kisan Aandolan: किसान आंदोलन के 100 दिन पूरे, KMP एक्सप्रेसवे पर आज करेंगे 5 घंटे की नाकाबंदी

कृषि कानून के विरोध में दिल्‍ली के बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन जारी है.

कृषि कानून के विरोध में दिल्‍ली के बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन जारी है.

किसान आंदोलन (Kisan Aandolan) के सौ दिन पूरे होने पर किसान (Farmer) अपने घरों पर काले झंडे लगाकर और हाथों पर काली पट्टी बांधकर विरोध दर्ज कराएंगे. साथ ही केएमपी (कुंडली मानेसर पलवल) एक्सप्रेसवे पर 5 घंटे की नाकाबंदी की जाएगी.

    नई दिल्‍ली. कृषि कानून (Agricultural Law) के विरोध में दिल्‍ली के बॉर्डर (Border) पर चल रहे किसान आंदोलन (Kisan Aandolan) को आज 100 दिन पूरे हो गए हैं. किसान आंदोलन के सौ दिन पूरे होने पर किसान अपने घरों पर काले झंडे लगाकर और हाथों पर काली पट्टी बांधकर विरोध दर्ज कराएंगे. इसके साथ ही आज केएमपी (कुंडली मानेसर पलवल) एक्सप्रेसवे पर 5 घंटे की नाकाबंदी की जाएगी. किसान आंदोलन को फिर से तेज करते हुए दादरी, ग्रेटर नोएडा, डासना और दुहाई में किसान विरोध प्रदर्शन करते हुए जाम लगाएंगे.

    आंदोलनकारी किसानों के मुताबिक़ गर्मी भले ही बढ़ रही हो लेकिन आंदोलन पर इसका कोई असर नहीं दिखेगा. मकड़ौली टोल पर किसानों को तीन महीने पूरे होने को हैं. मकड़ौली टोल प्लाजा पर धरना दे रहे किसान नेता राजू ने बताया की सरकार के गलत कानूनों की वजह से किसान आंदोलन करने पर मजबूर हैं. उन्होंने सरकार को चेतावनी देते हुए आज केएमपी हाईवे जाम करने का ऐलान किया है.

    किसान नेता मास्टर महेन्द्र सिंह चौहान और राजकुमार ओलिहान ने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर यहां का किसान हर आदेश की पालना करता है. किसान सड़क पर टोल बैरियर पर बैठकर जनसभा करेंगे और विरोध-प्रदर्शन करेंगे और वहीं चोपाई व रागनियां आयोजित की जाएंगी. विरोध-प्रदर्शन की पूरी रूपरेखा तैयार कर ली गई है. गांवों से किसान ट्रैक्टर-ट्रालियों में धरनास्थल पर आएंगे और एक्सप्रेस-वे को 11 से 4 बजे तक जाम कर दिया जाएगा.

    इसे भी पढ़ें :- किसान आंदोलन में दरार! RLP नेता बेनीवाल ने राकेश टिकैत को करार दिया 'बाहरी'

    कल किसान आंदोलन की बागडोर महिलाओं के हाथ में होगी
    आठ मार्च को अंतरराष्‍ट्रीय महिला दिवस के मौके पर किसान महिलाएं न केवल किसान आंदोलन की पूरी बागडोर संभालेंगी बल्कि नए ढंग से विरोध प्रदर्शन भी करेंगी. दिल्‍ली के गाजीपुर बॉर्डर पर विरोध में बैठी महिलाओं की आज हुई बैठक में अंतरराष्‍ट्रीय महिला दिवस के दिन मेहंदी लगाकर विरोध जताने का फैसला किया गया है. हालांकि यह कोई साधारण मेहंदी नहीं होगी. किसान महिलाओं का कहना है कि यह इंकलाबी मेहंदी होगी.

    Tags: Agricultural Law, Farmer movement, Farmers Protest, Kisan Aandolan, New Agricultural Law

    अगली ख़बर