• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • किसान हमारे अन्नदाता, उन्हें नक्‍सल और खालिस्‍तानी नहीं कहना चाहिए- राजनाथ सिंह

किसान हमारे अन्नदाता, उन्हें नक्‍सल और खालिस्‍तानी नहीं कहना चाहिए- राजनाथ सिंह

केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह

केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह

न्यूज एजेंसी ANI को दिए गए इंटरव्यू में राजनाथ सिंह ने ये बातें कही. उन्होंने कहा, 'हम किसानों का सम्मान करते हैं. सरकार किसानों के साथ कृषि कानून के हर मसले पर चर्चा करने को तैयार है, नए कानून किसानों की भलाई के लिए हैं. अगर किसी को कोई दिक्कत है तो सरकार चर्चा को तैयार है.'

  • Share this:
    नई दिल्ली. मोदी सरकार के नए कृषि कानूनों (New Agriculture Law 2020) के खिलाफ किसानों के आंदोलन (Farmers Protest) का आज 35वां दिन है. आज सरकार के साथ दोपहर 2 बजे किसान संगठनों की सातवें दौर की बातचीत भी होनी है. इस बीच केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने किसानों को 'नक्सल' और 'खालिस्तानी' करार दिए जाने पर आपत्ति जाहिर की है. रक्षामंत्री ने कहा, 'ये आरोप किसानों पर किसी के द्वारा नहीं लगाए जाने चाहिए. हम किसानों के प्रति अपना गहरा सम्मान व्यक्त करते हैं. वे हमारे अन्‍नदाता हैं. हम किसानों के प्रति हमारे सिर झुकते हैं.'

    न्यूज एजेंसी ANI को दिए गए इंटरव्यू में राजनाथ सिंह ने ये बातें कही. उन्होंने कहा, 'हम किसानों का सम्मान करते हैं. सरकार किसानों के साथ कृषि कानून के हर मसले पर चर्चा करने को तैयार है, नए कानून किसानों की भलाई के लिए हैं. अगर किसी को कोई दिक्कत है तो सरकार चर्चा को तैयार है.'

    राजनाथ सिंह ने चीन-पाक को चेताया- हम शांति चाहते हैं लेकिन जो हमें छेड़ेगा उसे छोड़ेंगे नहीं

    किसानों के आंदोलन पर रक्षा मंत्री ने कहा, 'कुछ ताकतों ने किसानों के बीच कुछ गलतफहमियां पैदा करने की कोशिश की है. हमने कई किसानों से भी बात की है. किसानों से मेरा केवल यही अनुरोध है कि खंड-वार चर्चा की जानी चाहिए और ‘हां या ‘नहीं’उत्तर की तलाश करनी चाहिए. हम संकल्प लेंगे.'


    “मार जा, मर जा” के नारे पीएम के खिलाफ लगाए गए
    रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, अपमानजनक टिप्पणी पीएम के खिलाफ नहीं की जानी चाहिए. पीएम सिर्फ एक व्यक्ति नहीं बल्कि एक संस्था है. मैंने कभी किसी पूर्व प्रधानमंत्री के खिलाफ अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल नहीं किया. “मार जा, मर जा” के नारे पीएम के खिलाफ लगाए गए, मुझे वाकई बहुत दुख हुआ.





    आगे भी जारी रहेगी MSP
    रक्षा मंत्री ने कहा कि लोकतंत्र में अगर नेता वादों को पूरा नहीं करते हैं, तो जनता उन्हें दंडित करेगी. सरकार ने बार-बार कहा है कि न्यूनतम समर्थन मूल्य जारी रहेगा. नए कानूनों में इससे छेड़छाड़ नहीं होगी. हम किसानों की आय बढ़ाने का प्रयास कर रहे हैं.



    केंद्र-किसानों के बीच बातचीत आज, प्रदर्शनकारी संगठन नए कानून वापस लेने की मांग पर अडिग

    किसानों के आंदोलन पर किसी भी देश को बोलने का हक नहीं
    राजनाथ सिंह ने किसान आंदोलन पर दूसरे देश के कमेंट पर आपत्ति जाहिर की. उन्होंने कहा, 'मैं किसी भी देश के प्रधानमंत्री के बारे में कहना चाहूंगा कि भारत के आंतरिक मामलों के बारे में टिप्पणी नहीं की जानी चाहिए. भारत को किसी भी बाहरी हस्तक्षेप की आवश्यकता नहीं है. यह हमारा आंतरिक मामला है. किसी भी देश को हमारे आंतरिक मामलों पर टिप्पणी करने का अधिकार नहीं है.'

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज