Home /News /nation /

तुरंत वापस लिए जाएंगे सारे मामले, दिया जाएगा मुआवजा- केंद्र सरकार का किसानों को प्रस्तावः सूत्र

तुरंत वापस लिए जाएंगे सारे मामले, दिया जाएगा मुआवजा- केंद्र सरकार का किसानों को प्रस्तावः सूत्र

किसान आंदोलन 26 नवंबर को एक साल का हो चुका है.

किसान आंदोलन 26 नवंबर को एक साल का हो चुका है.

संयुक्त किसान मोर्चा ने किसान आंदोलन को समाप्त करने का अनुरोध करने वाले सरकार के प्रस्ताव पर जवाब में किसानों पर दर्ज ‘फर्जी’ मामले वापस लेने के लिए पूर्व शर्त पर भी स्पष्टीकरण मांगा है. उधर प्रदर्शन कर रहे 40 किसान संगठनों के शीर्ष संगठन एसकेएम के सदस्यों ने आंदोलन के भविष्य का फैसला करने के लिए बुधवार को सिंघु बॉर्डर पर एक महत्वपूर्ण बैठक बुलाई है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. केंद्र सरकार (Modi Government) द्वारा पिछले मानसून सत्र में पास किए गए तीन कृषि कानूनों (3 Farm Laws) को संसद के मौजूदा शीतकालीन सत्र (Winter Session Of Parliament) में रद्द किए जाने के बाद किसानों के अवरोध कम करने की कोशिश जारी है. इसी क्रम में केंद्र सरकार ने किसानों से कहा है कि आंदोलन के दौरान दर्ज किए गए सभी मामले वापस लिए जाएंगे. किसान यूनियन के सूत्रों के मुताबिक केंद्र ने किसानों को प्रस्ताव भेजा है जिसमें सभी मामले वापस लिए जाने का जिक्र है. इसके साथ ही सरकार मुआवजे पर भी तैयार हो गई है. SKM के सूत्रों के मुताबिक मुआवजा पंजाब की तर्ज पर हो सकता है. हरियाणा और यूपी सरकार इसके लिए तैयार हो गए हैं. गौरतलब है कि पंजाब सरकार आंदोलन में मारे गए किसानों के परिजनों को 5 लाख रुपये का मुआवजा दे रही है.

बता दें संयुक्त किसान मोर्चा (SKM)ने मंगलवार को कहा था कि उसने आंदोलन को समाप्त करने का अनुरोध करने वाले सरकार के प्रस्ताव का जवाब दिया है, जिसमें कुछ बिंदुओं पर स्पष्टीकरण मांगा गया है. इसमें किसानों पर दर्ज ‘फर्जी’ मामले वापस लेने के लिए पूर्व शर्त पर भी स्पष्टीकरण मांगा है.

किसानों के खिलाफ दर्ज मामले वापस लिए जाने का प्रस्ताव ऐसे समय आया है जब SKM की पांच सदस्यीय समिति बुधवार को केंद्रीय मंत्रियों अमित शाह और नरेंद्र सिंह तोमर से अलग-अलग मुलाकात कर कृषि संबंधी अपने लंबित मुद्दों पर चर्चा कर सकती है. एक किसान नेता ने यह जानकारी दी. दोनों मंत्रियों के साथ संभावित चर्चा आंदोलन का नेतृत्व कर रहे एसकेएम की दोपहर दो बजे से निर्धारित बैठक से कुछ घंटे पहले होगी.

यह भी पढ़ें : Kisan Andolan: SKM ने केंद्र सरकार को भेजी आंदोलन में जान गंवाने वाले 702 किसानों की लिस्ट

सिंघु बॉर्डर पर बुलाई गई बैठक
प्रदर्शन कर रहे 40 किसान संगठनों के शीर्ष संगठन एसकेएम के सदस्यों ने आंदोलन के भविष्य का फैसला करने के लिए बुधवार को सिंघु बॉर्डर पर एक महत्वपूर्ण बैठक बुलाई है. पहचान जाहिर नहीं करने का अनुरोध करते हुए एक वरिष्ठ किसान नेता ने बताया, ‘एसकेएम की पांच सदस्यीय समिति की आज सुबह एक आंतरिक बैठक होगी और फिर वे किसानों के मुद्दों और लंबित मांगों पर चर्चा करने के लिए केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से मिलने वाले हैं.’ उन्होंने कहा, ‘समिति के केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भी मिलने की संभावना है. इसके बाद, एसकेएम की दोपहर दो बजे की बैठक के बाद फैसला होने की संभावना है.’

किसान नेता ने कहा कि किसानों की मांगों पर विचार करने में सरकार का रवैया हाल में ‘सकारात्मक’ रहा है और उन्होंने किसान आंदोलन के भविष्य के संबंध में सकारात्मक निर्णय की ओर इशारा किया. (भाषा इनपुट के साथ)

Tags: BJP, Kisan Andolan, Narendra modi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर