अपना शहर चुनें

States

विपक्षियों पर भड़के रविशंकर प्रसाद, कहा- पहले कानूनों का समर्थन करने वाले अब विरोध कर रहे

केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद (फोटो: ANI)
केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद (फोटो: ANI)

Farmers Protest: केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravishankar Prasad) के मुताबिक, सरकार लगातार लोगों को इन कानूनों की जानकारी देगी. उन्होंने कहा 'हम लोगों को यह बताएंगे कि कैसे कृषि कानून किसानों के लिए फायदेमंद होगा.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 13, 2020, 5:16 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नए कृषि कानूनों (Farm Laws) का विरोध कर रहे किसान संगठनों के समर्थन में आए विपक्षी दलों (Opposition Parties) पर केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने निशाना साधा है. रविशंकर प्रसाद ने रविवार को कहा कि जो लोग आज विरोध कर रहे हैं, वह भी पहले यही बदलाव चाहते थे. खास बात है कि किसानों का समर्थन करने के लिए कांग्रेस, आम आदमी पार्टी जैसे कई बड़े दल आगे आए हैं. इससे पहले केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने भी आरोप लगाया था कि आंदोलन को माओवादियों ने हाईजैक कर लिया है.

केंद्रीय मंत्री प्रसाद ने कहा, 'जो प्रमुख लोग आज कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं, वह केवल इन कानूनों का विरोध करने के लिए ही ऐसा कर रहे हैं.' उन्होंने कहा, 'उन लोगों ने भी पहले इन बदलावों की जरूरत को पहचाना था.' प्रसाद के मुताबिक, सरकार लगातार लोगों को इन कानूनों की जानकारी देगी. उन्होंने कहा, 'हम लोगों को यह बताएंगे कि कैसे कृषि कानून किसानों के लिए फायदेमंद होगा.'

राजनाथ और तोमर से मुलाकात के बाद चिल्ला बॉर्डर पर यातायात बहाल
प्रदर्शनकारी किसानों ने केंद्रीय मंत्रियों राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) और नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) के साथ शनिवार देर रात मुलाकात के बाद चिल्ला के रास्ते नोएडा को दिल्ली से जोड़ने वाला मुख्य मार्ग रविवार को खाली कर दिया है. अधिकारियों ने बताया कि किसान चिल्ला बॉर्डर से हट गए, जिसके बाद इस मार्ग पर नोएडा एवं दिल्ली के बीच सामान्य यातायात बहाल हो गया. किसान एक दिसंबर से इस स्थान पर धरना प्रदर्शन कर रहे थे.
उन्होंने बताया कि दिल्ली और नोएडा को जोड़ने वाले डीएनडी और कालिंदी कुंज मार्ग पर भी यातायात सामान्य है. हालांकि सीमा पर प्रदर्शन जारी रहा और भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ठाकुर भानु प्रताप सिंह समेत इसके कुछ समस्य सीमा पर मौजूद रहे. बीकेयू के एक पदाधिकारी ने बताया कि रक्षा मंत्री सिंह और कृषि मंत्री तोमर के साथ मुलाकात के बाद किसानों ने शनिवार आधी रात को मार्ग खाली कर दिया.



बीकेयू (भानु) के आईटी सेल के एक वरिष्ठ सदस्य सतीश तोमर ने ‘पीटीआई भाषा’ से फोन पर कहा, ‘राजनाथ जी ने हमारी मांगें सुनीं और बातचीत आगे ले जेने एवं समस्याओं का समाधान करने पर सहमति जताई. इसके बाद हमने सड़क खाली करने का फैसला किया, लेकिन इसका यह अर्थ नहीं है कि हमारा प्रदर्शन समाप्त हो गया है.’

(भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज