liveLIVE NOW
  • Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • Kisan Rail Roko Andolan Live: किसानों के रेल रोको आंदोलन का असर, 30 जगहों पर सेवा प्रभावित, हरियाणा में RAF तैनात

Kisan Rail Roko Andolan Live: किसानों के रेल रोको आंदोलन का असर, 30 जगहों पर सेवा प्रभावित, हरियाणा में RAF तैनात

संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) लखीमपुर हिंसा के मामले में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा की बर्खास्तगी और गिरफ्तारी की मांग को लेकर 18 अक्टूबर को ‘रेल रोको’ आंदोलन कर रहा है. यहां पढ़ें किसानों के रेल रोको आंदोलन से जुड़े Live Updates

  • News18Hindi
  • | October 18, 2021, 11:56 IST
    facebookTwitterLinkedin
    LAST UPDATED A MONTH AGO

    AUTO-REFRESH

    13:12 (IST)
     यूपी के सीतापुर में किसानों के ट्रेन रोको आह्वान को लेकर जिला प्रशासन अलर्ट दिखाई दिया. प्रशासन की सख्ती को लेकर किसानों का ट्रेन रोको आह्वाहन फेल होता दिखाई दिया. ट्रेन रोको आह्वाहन को लेकर जिले के सभी रेलवे स्टेशनों पर पुलिस बल तैनात रहा. यहाँ तक की जिला व पुलिस प्रशासन की छोटे छोटे रेलवे हाल्ट पर भी पुलिस बल तैनात किया गया. किसानों के ट्रेन रोकने के आह्वान को देखते हुए पुलिस ने महोली तहसील के बड़ा गांव निवासी किसान नेता आनंद प्रताप सिंह को  रात में ही हाउस अरेस्ट कर लिया.आंदोलन को लेकर SDM सदर पीएल मोर्य लगातार रेलवे स्टेशनों का जायजा लेते रहे.

    13:10 (IST)
     'रेल रोको' आंदोलन पर डीसीपी रेलवे  हरेंद्र सिंह ने कहा कि  दिल्ली में राजकीय रेलवे पुलिस सभी रेलवे स्टेशनों और पटरियों पर गश्त कर रही है. अब तक, किसी भी रेलवे ट्रैक पर गड़बड़ी या ट्रेनों के रद्द होने की कोई खबर नहीं है. हम पड़ोसी राज्यों के जीआरपी के साथ मिलकर काम कर रहे हैं.

    12:37 (IST)
    पंजाब में चंडीगढ़ जाने वाली ट्रेन के यात्रियों का कहना है कि किसान संघ द्वारा चल रहे 'रेल रोको' आंदोलन के कारण एसएएस नगर जिले की डेरा बस्सी तहसील के दप्पर स्टेशन पर ट्रेन को रोके जाने से उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

    11:55 (IST)
    लखीमपुर खीरी में एहतियात के तौर पर चार ट्रेनों को निरस्त किया गया. कल से ट्रेनों का संचालन  होगा. लखीमपुर जिला इस वक्त संवेदनशील है.

    11:50 (IST)

    उत्तर प्रदेश स्थित में मुजफ्फरनगर में भाकियू कार्यकर्ता तेज बारिस में मंसूरपुर रेलवे स्टेशन पहुंचे. इस दौरान सभी ने रेलवे ट्रैक पर ट्रेन के सामने नारेबाजी  की. जब किसान आंदोलन कर रहे थे इस दौरान स्टेशन पर इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन मौजूद थी.

    11:33 (IST)
    भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने किसान संगठनों के रेल रोको आंदोलन पर कहा कि  ये अलग-अलग ज़िलों में अलग-अलग जगह होगा। पूरे देश में वहां के लोगों को पता रहता है ​कि हमें कहां ट्रेन रोकनी है. भारत सरकार ने अभी हमसे कोई बात नहीं की है.

    11:25 (IST)

    'रेल रोको' आंदोलन पर सीपीआरओ, उत्तर रेलवे के प्रवक्ता ने कहा कि  उत्तर रेलवे जोन में 30 स्थान प्रभावित हैं और 8 ट्रेनें रेगुलेट की गई है.

    11:20 (IST)
    किसानों के रेल रोको का असर शुरू हो गया है. आंदोलन के चलते 4 सेक्शन प्रभावित हैं और  5 ट्रेनों को रेगुलेट किया गया यानी रोक दिया गया है.  बरेली से रोहतक जाने वाली गाड़ी संख्या  02715 नई दिल्ली तक आकर रद्द हो गई तो वहीं  02439 नांदेड़ श्रीगंगानगर तिलकब्रिज पर रोक कर रखी गयी है इसके साथ ही 02716 रद्द और  गाड़ी संख्या 02925 प्रभावित है.

    नई दिल्ली. संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) ने ऐलान किया था कि संगठन लखीमपुर हिंसा के मामले में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा की बर्खास्तगी और गिरफ्तारी की मांग को लेकर 18 अक्टूबर को ‘रेल रोको’ आंदोलन करेगा. हालांकि अब यह आंदोलन उत्तर प्रदेश स्थित लखीमपुर जिले में नहीं होगा. यह जानकारी किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष ने एक वीडियो के जरिए दी. उन्होंने कहा कि जिले में रेल रोको आंदोलन नहीं होगा. यह आंदोलन बाकी हिस्सों में होगा लेकिन लखीमपुर में नहीं होगा. उधर,  आंदोलन के संदर्भ में 5-6 घंटे का प्रोग्राम है. अलग-अलग जिले में अलग-अलग कार्यक्रम हैं. उन्होंने कहा कि ये संयुक्त मोर्चे का फैसला है. संयुक्त मोर्चा पूरे देश में इस पर काम कर रहा है.

    वहीं निहंगों द्वारा लखबीर सिंह की हत्या पर टिकैत ने कहा कि  यह धार्मिक घटना है इसका आंदोलन से कोई मतलब नहीं है. भाकियू नेता ने कहा कि  इसको भारत सरकार किसान के ईश्यू से न जोड़े, ये धार्मिक मामला था. उन्होंने दावा किया कि सरकार कभी भी माहौल खराब करवा सकती है. हत्या के मामले का सरकारों पर दोषारोपण करते हुए टिकैत ने दावा किया कि  ‘ये जानबूझकर माहौल खराब करवाने के लिए करवाया गया है.’

    टिकैत ने भी किया रेल रोको आह्वान
    इससे पहले भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के नेता राकेश टिकैत ने लखीमपुर हिंसा के खिलाफ 18 अक्टूबर को छह घंटे तक ‘रेल रोको’ प्रदर्शन का आह्वान किया था. उन्होंने यह भी कहा था कि भाकियू 26 अक्टूबर को लखनऊ में एक बड़ी किसान पंचायत का आयोजन करेगा. उधर, गुरुवार को संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा था कि 18 अक्टूबर को ‘हर जिले’ में किसान पटरियों पर जाएंगे और विरोध प्रदर्शन करेंगे.

    वहीं भाकियू (दकौंदा) के प्रदेश महासचिव जगमोहन सिंह ने कहा था, ‘पंजाब में हमने घेराबंदी के लिए 36 जगहों की पहचान की है. हम यह सुनिश्चित करेंगे कि किसी भी इन बिंदुओं से किसी भी राज्य की ट्रेन गुजरने न पाए.’

    किसान नेताओं ने की है आंदोलन की घोषणा
    उधर मथुरा में भाकियू (अंबावता) के जिला अध्यक्ष राज कुमार तोमर ने कहा था, ‘600 लोगों से राया स्टेशन और करीब 400 लोगों से मथुरा जंक्शन पर इकट्ठा होने के लिए कहा गया है. बुधवार को हुई जिला स्तरीय बैठक में यह फैसला लिया गया है.’

    मंत्री को 12 अक्टूबर तक बर्खास्त नहीं किए जाने की स्थिति में किसान नेताओं ने पहले ही अपनी विरोध योजनाओं की घोषणा कर दी थी. इसमें भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के पुतले जलाना, रेल रोको और 26 अक्टूबर को लखनऊ में महापंचायत शामिल है. लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा में कुल 8 लोगों की मौत हो गई थी. इनमें चार किसान, दो बीजेपी कार्यकर्ता, एक ड्राइवर और एक पत्रकार शामिल है.

    विज्ञापन

    विज्ञापन