Home /News /nation /

जानें क्या है UAPA संशोधन बिल की खास बातें

जानें क्या है UAPA संशोधन बिल की खास बातें

अमित शाह ने कहा- अर्बन नक्सलियों को नहीं बख्शेंगे

अमित शाह ने कहा- अर्बन नक्सलियों को नहीं बख्शेंगे

गृह मंत्री ने कहा कि यह समय कि मांग है कि आतंकवाद के खिलाफ कठोर कानून की ज़रूरत है. इस बिल में संगठनों के साथ आतंकी गतिविधियों में शामिल लोगों को आतंकी घोषित किए जाने का भी प्रावधान है.

    गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) संशोधन विधेयक, 2019 (UAPA) राज्यसभा में पास हो गया. इस बिल के पास होने से पहले राज्यसभा में लंबी बहस हुई. लोकसभा में यह बिल 24 जुलाई को पास हो गया था. लोकसभा और राज्यसभा में विपक्ष ने चर्चा के दौरान इस बिल का विरोध किया और इसे लेकर कई तरह के सवाल खड़े किए गए.

    गृह मंत्री ने कहा था कि यह समय की मांग है कि आतंकवाद के खिलाफ कठोर कानून की ज़रूरत है. इस बिल में संगठनों के साथ आतंकी गतिविधियों में शामिल लोगों को आतंकी घोषित किए जाने का भी प्रावधान है.

    गृह मंत्री अमित शाह ने UAPA संशोधन विधेयक, 2019 पर राज्यसभा में शुक्रवार को जवाब दिया. शाह ने कहा कि बिल का मकसद आतंकवाद से लड़ना है. उन्होंने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ एकजुटता जरूरी है. शाह ने विपक्ष की इस दलील को खारिज किया कि कानून का गलत इस्तेमाल होगा.

    अब आसानी से आतंकियों की संपत्ति होगी जब्त
    इस कानून के पास हो जाने के बाद अब आतंकी संगठनों और आतंकियों की संपत्ति को डीजीपी की अनुमति के साथ जब्त किया जा सकेगा. वहीं राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) अगर ऐसे मामलों की जांच कर रही है तो उसे एनआईए के महानिदेशक की मंजूरी लेनी होगी.



    व्यक्ति को घोषित किया जा सकेगा आतंकी
    इस संशोधन के बाद से अब ऐसे संगठनों और व्यक्तियों को आतंकी घोषित किया जा सकेगा जो किसी आतंकी घटना में शामिल हों या उन्होंने ऐसी घटना को अंजाम दिया हो. या फिर आतंकी घटनाओं की तैयारी करने वालों पर भी अब केंद्र सरकार शिकंजा कस सकेगी.

    इसके अलावा किसी भी तरह से आतंकवाद को बढ़ावा देने वालों या किसी भी तरह से आतंकवाद में शामिल रहे हों. अमित शाह ने लोकसभा में कहा कि आतंकवाद व्यक्ति की मंशा में होता है किसी संस्था में नहीं होता.

    लोकसभा में गृहमंत्री ने किया था यासीन भटकल का ज़िक्र
    गृहमंत्री अमित शाह ने लोकसभा में यासीन भटकल मामले का ज़िक्र करते हुए कहा था कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने जिस इंडियन मुजाहिदीन संगठन से भटकल जुड़ा था उसे आतंकी संगठन घोषित किया था लेकिन कानून में प्रावधान नहीं होने के कारण उसे आतंकी घोषित नहीं किया जा सका था. गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि कानून न होने का फायदा उठाकर यासीन भटकल ने 12 आतंकी घटनाओं को अंजाम दिया था.

    ये भी पढ़ें- लोकसभा में पास हुआ UAPA बिल, शाह ने कांग्रेस पर साधा निशाना

    जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद के लिए स्थानीय भर्ती में आई 40 प्रतिशत की कमी: सरकार

    Tags: Amit shah, Home ministry, Terrorism, Terrorist attack, Yasin bhatkal

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर