गणतंत्र दिवस: राजपथ पर दिखी देश की सामरिक और सांस्कृतिक झलक- 10 बड़ी बातें

गणतंत्र दिवस: राजपथ पर दिखी देश की सामरिक और सांस्कृतिक झलक- 10 बड़ी बातें
इंडिया गेट से कुछ ऐसा दिखा राजपथ का विहंगम दृश्य

गणतंत्र दिवस (Republic Day 2020) के दिन राजपथ पर कई ऐसी चीजें दिखीं, जो लोगों के लिए अनोखी थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 26, 2020, 5:45 PM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित राजपथ पर रविवार को देश की सामरिक और सांस्कृतिक ताकत का एहसास देश के हर नागरिक को हुआ. गणतंत्र दिवस (Republic Day 2020) पर राजपथ पर कई ऐसी चीजें दिखीं, जो भारत की जनता के लिए अनोखी थीं

डीआरडीओ की ए-सैट हथियार प्रणाली गणतंत्र दिवस परेड में
इस बार रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) की उपग्रह रोधी (ए-सैट) हथियार प्रणाली रविवार को गणतंत्र दिवस की परेड का हिस्सा बनी. किसी भी देश की आर्थिक और सैन्य सर्वोच्चता के लिए अंतरिक्ष महत्वपूर्ण आयाम है और इसमें ए-सैट हथियार आवश्यक रणनीतिक प्रतिरोध प्रणाली में अहम भूमिका निभाता है. पिछले साल मार्च में डीआरडीओ ने भारत के पहले ए-सैट मिशन ‘मिशन शक्ति’ को लॉन्च किया था. यह भारत का पहला ए-सैट मिशन है जो विरोधी उपग्रहों को मार गिराने की भारत की क्षमता का प्रदर्शन करता है.

चिनूक हेलीकॉप्टर ने गणतंत्र दिवस परेड में लिया हिस्सा



भारतीय वायु सेना में शामिल किए गए चिनूक और अपाचे युद्धक हेलीकॉप्टर गणतंत्र दिवस की भव्य सैन्य परेड में आकर्षण का मुख्य केंद्र रहे . चिनूक दूरदराज के स्थानों तक व्यापक स्तर पर सामग्री को पहुंचा सकता है. यह ट्वीन रोटर वाला हेलीकॉप्टर है जिससे भारतीय वायु सेना की सैन्य और आपदा संबंधी भार क्षमता बढ़ी है.





प्रधानमंत्री ने बांधा केसरिया रंग का ‘साफा’
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस पर साफा बांधने की अपनी परंपरा को बरकरार रखते हुए इस बार गणतंत्र दिवस पर केसरिया रंग का ‘बंधेज’ का साफा बांधा. पारंपरिक कुर्ता पजामा और जैकेट पहने प्रधानमंत्री नजर आए. गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री के परिधान में खास तौर पर उनके साफे की काफी चर्चा होती है. पिछले साल प्रधानमंत्री ने लाल किले की प्राचीर से छठवीं बार स्वतंत्रता दिवस का भाषण दिया था और उस दौरान उन्होंने कई रंगों वाला साफा बांधा था.

Best Republic Day images,India Republic Day, pm modi, presedent kovind, india, country राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, गणतंत्र दिवस, भारत

48 साल पुरानी पंरपरा तोड़ते हुए पीएम मोदी ने  इंडिया गेट पर स्थित अमर जवान ज्योति के बजाय यहां नव निर्मित राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर पहली बार शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी. इस दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, सीडीएस जनरल बिपिन रावत और तीनों सेनाध्यक्ष मौजूद रहे.



राजपथ के आसमान में नजर आया अपाचे
अपाचे हवा से हवा और हवा से जमीन पर मार करने वाली मारक क्षमता वाला हेलीकॉप्टर है जो दुश्मनों पर कहर ढा सकता है. इससे भारतीय सशस्त्र बलों को दुश्मनों के खिलाफ युद्धक्षेत्र में महत्वपूर्ण बढ़त मिलती है. यह भी राजपथ पर इस बार नजर आया.



ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो मुख्य अतिथि
ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो का नाम आज उन विश्व नेताओं की सूची में शुमार हो गया, जिन्होंने पिछले कुछ दशकों में भारत के गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि बनकर शिरकत की है. बोलसोनारो भारत के 71वें गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि थे, जिन्होंने राजपथ पर राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अन्य नेताओं के साथ भव्य परेड का आनंद उठाया. इससे पहले 1996 और 2004 में ब्राजील के राष्ट्रपति गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि बन चुके हैं. वहीं 2016 में ब्राजील के राष्ट्रपति मिशेल टेमेर गोवा में आयोजित आठवीं ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में शिरकत करने भारत आए थे.



झाकियों ने किया आकर्षित
राजपथ पर राष्ट्र की बहुमूल्य सांस्कृतिक धरोहर और आर्थिक प्रगति को दर्शाने वाली 22 झांकियों में से 16 झांकियां राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की होंगी और छह विभिन्न मंत्रालयों और विभागों की थीं. इन्होंने सभी को आकर्षित किया.

पहला दस्ता सेना की 61वीं घुड़सवार टुकड़ी का
इस बार परेड की कमान परेड कमांडर दिल्ली क्षेत्र के जनरल ऑफिसर कमांडिंग लेफ्टिनेंट जनरल असित मिस्त्री के हाथों में थी. दिल्ली क्षेत्र के चीफ ऑफ स्टाफ मेजर जनरल आलोक कक्कड़ परेड के सेकंड-इन-कमांड थे. परेड में पहला दस्ता सेना की 61वीं घुड़सवार टुकड़ी का था. छह टुकड़ियों को मिलाकर एक अगस्त 1953 को स्थापित यह टुकड़ी विश्व की एकमात्र सक्रिय सैन्य घुड़सवार टुकड़ी है.

An Indian air force helicopter sprays flower petals as Sashastra Seema Bal paramilitary soldiers participate in a parade to mark Republic Day in Gauhati, India, Sunday, Jan. 26, 2020. Sunday's event marks the anniversary of the country's democratic constitution taking force in 1950. (AP Photo/Anupam Nath)

कुमाऊँ रेजिमेंट और सिग्नल कोर के दस्ते शामिल
भारतीय सेना के स्वदेश में निर्मित मुख्य युद्धक टैंक टी-90 भीष्म, इन्फैंट्री युद्धक वाहन 'बॉलवे मशीन पिकाटे', के-9 वज्र और धनुष तोपें, चलित उपग्रह टर्मिनल और आकाश मिसाइल प्रणाली मैकेनाइज्ड दस्ते का मुख्य आकर्षण रहे. पैदल मार्च करने वाले दस्तों में भारतीय सेना की पैराशूट रेजिमेंट, ग्रेनेडियर्स रेजिमेंट, सिख लाइट इन्फैंट्री रेजिमेंट, कुमाऊँ रेजिमेंट और सिग्नल कोर के दस्ते शामिल थे.

 बहुप्रतीक्षित फ्लाई पास्ट हुआ
परेड के अंतिम चरण में बहुप्रतीक्षित फ्लाई पास्ट हुआ जिसमें तीन एडवांस हल्के हेलीकाप्टर 'त्रिशूल' फार्मेशन में उड़ते दिखाई दिये. ऐसा पहली बार होगा जब गणतंत्र दिवस परेड में सशस्त्र सेनाओं के तीनों अंग एक साथ 'ट्राई सर्विस' फार्मेशन में दिखे. पांच जगुआर विमान और पांच मिग-29 विमान 'एरोहेड' फार्मेशन में वायुसेना के पराक्रम का प्रदर्शन किया. परेड का समापन सुखोई-30 एमकेआई जेट विमानों के हवाई करतब से हुआ.

Best Republic Day images,India Republic Day, pm modi, presedent kovind, india, country राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, गणतंत्र दिवस, भारत
First published: January 26, 2020, 5:44 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading