जेल जा सकते हैं आजम खान और छिन सकती है सांसदी भी

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला की अगुवाई में इस मामले को लेकर हुई बैठक के दौरान आजम को सदन के सामने माफी मांगने के लिए कहा गया है. अगर वह माफी नहीं मांगेगे, तो स्‍पीकर उन पर कार्रवाई करने के लिए स्‍वतंत्र हैं.

News18Hindi
Updated: July 26, 2019, 6:46 PM IST
जेल जा सकते हैं आजम खान और छिन सकती है सांसदी भी
लोकसभा अध्यक्ष शेष सत्र यानी 7 अगस्त तक के लिए आजम खान को जेल भी भेज सकते हैं.
News18Hindi
Updated: July 26, 2019, 6:46 PM IST
लोकसभा में पीठासीन स्पीकर रमा देवी पर की गई अमर्यादित टिप्पणी समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान को बहुत भारी पड़ सकती है. बीजेपी सांसद रमा देवी ने आजम को पूरे कार्यकाल यानी अगले पांच साल तक लोकसभा से निलंबित करने की मांग की है. कई महिला सांसदों ने आज सदन में आजम खान के बयान की निंदा की और स्पीकर ओम बिरला से सख्त कार्रवाई की मांग की. अब सवाल यह उठता है कि लोकसभा स्पीकर आजम खान को कैसा और कितना दंड दे सकते हैं?

लोकसभा में पेश किया गया आज़म खान के खिलाफ कार्रवाई का प्रस्ताव आज सर्वसम्मति से पारित भी हो गया है. उनके खिलाफ एक्शन लेने के लिए स्पीकर को अधिकार दे दिया गया है. स्‍पीकर ओम बिरला की अगुवाई में हुई बैठक के दौरान आजम को सदन के सामने बिना शर्त माफ़ी मांगने के लिए कहा गया है. अगर वह माफी नहीं मांगेगे, तो स्‍पीकर उन पर कार्रवाई करने के लिए स्‍वतंत्र हैं.

पूरे कार्यकाल के लिए किया जा सकता है निलंबित
अगर आजम स्पीकर के आदेश के मुताबिक, सदन में माफी नहीं मांगते हैं तो लोकसभा अध्यक्ष उन्हें अगले पांच साल यानी पूरे कार्यकाल के लिए निलंबित कर सकते हैं. यही नहीं, स्पीकर उनकी लोकसभा सदस्यता भी रद कर सकते हैं. दूसरे शब्दों में उनकी सांसदी जा सकती है. संविधान विशेषज्ञ डॉ सुभाष कश्यप ने बताया कि इसके अलावा लोकसभा अध्यक्ष आजम खान को शेष सत्र यानी 7 अगस्त तक के लिए जेल भी भेज सकते हैं. यह भी जरूरी नहीं कि उन्हें 7 अगस्त तक के लिए ही जेल भेजा जाए. यह पूरी तरह से लोकसभा अध्यक्ष की इच्छा पर निर्भर है कि वह उन्हें कब तक के लिए जेल भेजें.

डॉ. सुभाष कश्यप के मुताबिक, आजम खान लोकसभा अध्यक्ष की ओर से दी जाने वाली सजा को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दे सकते हैं.


आजम जा सकते हैं कोर्ट, लेकिन राहत की उम्मीद नहीं
डॉ कश्यप के मुताबिक, आजम खान लोकसभा अध्यक्ष की ओर से उनको दी जाने वाली किसी भी सजा को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दे सकते हैं. लेकिन, डॉ. कश्यप कहते हैं कि कोर्ट ऐसे मामलों में हस्तक्षेप नहीं करता है. दरअसल, किसी सांसद के खराब व्यवहार पर कार्रवाई करते हुए सजा देना लोकसभा अध्यक्ष का विशेषाधिकार है. लिहाजा, इस मामले में आजम खान को कोर्ट से कोई राहत मिलने की उम्मीद नहीं है.
Loading...

सभापति की कुर्सी पर बैठी रमा देवी पर की थी टिप्‍पणी
बता दें कि इस मामले में सत्ता पक्ष ही नहीं विपक्षी दलों की महिला सांसद भी आजम खान के खिलाफ हैं. ज्यादातर महिला सांसदों ने आजम खान के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है. दरअसल, लोकसभा में गुरुवार को तीन तलाक बिल पर चर्चा के दौरान रामपुर से एसपी सांसद आज़म खान ने सभापति की कुर्सी पर बैठी रमा देवी पर निजी और विवादास्‍पद टिप्‍पणी की थी. इसे लेकर संसद में काफी हंगामा हुआ था.

ये भी पढ़ें: 

आज़म खान को मांगनी होगी माफ़ी, नहीं तो स्पीकर लेंगे कड़ा एक्शन

अपनी टिप्पणी के लिए आजम खान के सामने क्या विकल्प हैं?


आजम खान पर भड़कीं TMC सांसद मिमी चक्रवर्ती
First published: July 26, 2019, 6:35 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...