यूपी के 11 विधायक जीते लोकसभा चुनाव, विधानसभा उपचुनाव में साथ लड़ेंगी सपा-बसपा!

यूपी के 11 विधायक जीते लोकसभा चुनाव, विधानसभा उपचुनाव में साथ लड़ेंगी सपा-बसपा!
अखिलेश यादव और मायावती विधानसभा चुनाव 2022 तक यूपी में सपा-बसपा गठबंधन जारी रखने पर सहमत नजर आ रहे हैं.

आम चुनाव में उम्मीद के मुताबिक सफलता नहीं मिलने के बावजूद मायावती और अखिलेश यादव विधानसभा चुनाव 2022 तक उत्तर प्रदेश में गठबंधन जारी रखने को लेकर सहमत नजर आ रहे हैं.

  • Share this:
लोकसभा चुनाव 2019 में सपा-बसपा गठबंधन को यूपी में उम्मीद के मुताबिक सफलता नहीं मिली. मायावती के नेतृत्व वाली बसपा को 10 सीट ही मिलीं. वहीं, अखिलेश यादव की सपा को 5 सीट से ही संतोष करना पड़ा. ऐसे में राजनीति के पंडित कयास लगा सकते हैं कि इस हार के बाद सपा-बसपा गठबंधन टूट सकता है. लेकिन, अखिलेश और मायावती विधानसभा चुनाव 2022 तक गठबंधन जारी रखने पर सहमत नजर आ रहे हैं.

यूपी के 11 मौजूदा विधायक लोकसभा चुनाव जीत गए हैं. इन विधानसभा सीटों के खाली होने के कारण यूपी में उपचुनाव होंगे. इस दौरान एक बार फिर सपा-बसपा गठबंधन का भी परीक्षण हो जाएगा. बसपा के सूत्रों के मुताबिक, दिल्ली जाने से पहले मायावती ने कहा था कि सपा और अजित सिंह के रालोद के साथ गठबंधन जारी रहेगा. बसपा के एक नेता ने कहा कि अब सभी की नजरें 11 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव पर टिकी हैं. इनके नतीजे यूपी में गठबंधन का भविष्य तय करेंगे.

बसपा को मिला बड़ा फायदा
हालांकि, लोकसभा चुनाव में गठबंधन को उम्मीद के मुताबिक सीटों पर जीत नहीं मिली, फिर भी इससे बसपा को बड़ा फायदा मिला है. इस बार बसपा के सांसदों की संख्या शून्य से बढ़कर 10 हो गई है. लेकिन, समाजवादी पार्टी को इसका खास फायदा नहीं मिला. यहां तक कि सपा प्रमुख अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव कन्नौज सीट से चुनाव हार गईं. यही नहीं, उनके भाई धर्मेंद्र यादव और अक्षय यादव भी अपनी सीटें नहीं बचा पाए. दोनों को बीजेपी प्रत्याशियों के मुकाबले शिकस्त मिली.
लोकसभा जीतने वालों में योगी के मंत्री भी


यूपी में लोकसभा चुनाव जीतने वालों में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कुछ मंत्री भी शामिल हैं. इलाहाबाद से रीता बहुगुणा जोशी के लोकसभा चुनाव जीतने के कारण लखनऊ कैंट विधानसभा सीट खाली हो गई है. कानपुर से सत्यदेव पचौरी जीत गए हैं. ऐसे में गोविंद नगर विधानसभा सीट पर उपचुनाव होगा. वहीं, एसपी सिंह बघेल आगरा से लोकसभा चुनाव जीते हैं. उनके संसद जाने पर खाली होने वाली टुंडला विधानसभा सीट पर भी उपचुनाव होगा.

कैराना से संसद पहुंचे सहारनुपर के विधायक
प्रतापगढ़ के विधायक संगम लाल गुप्ता प्रतापगढ़ लोकसभा सीट से जीते हैं, जबकि सहारनपुर से विधायक प्रदीप कुमार कैराना लोकसभा क्षेत्र से विजयी हुए हैं, तो चित्रकूट के विधायक आरके सिंह बांदा लोकसभा सीट से जीत गए हैं. इसके अलावा बाराबंकी के विधायक उपेंद्र रावत ने बाराबंकी लोकसभा क्षेत्र से जीत दर्ज की है, जबकि बहराइच के विधायक अक्षयवर लाल बहराइच लोकसभा सीट से जीत गए हैं.

सपा के आजम और बसपा के रितेश भी संसद पहुंचे
अलीगढ़ के विधायक राजवीर सिंह के हाथरस लोकसभा क्षेत्र से जीतने के कारण उनकी सीट पर भी उपचुनाव होगा. सपा के कद्दावर विधायक आजम खां रामपुर लोकसभा सीट से जीत गए हैं. वहीं, जबलपुर से बसपा विधायक रितेश पांडे अब अंबेडकरनगर से सांसद हो गए हैं. लिहाजा, इन सीटों पर भी उपचुनाव होंगे. उम्मीद है कि इन सभी सीटों पर गठबंधन के प्रत्याशी उतारे जाएंगे.

ये भी पढ़ें: 

हार के बाद कांग्रेस में सियासी घमासान, गहलोत VS पायलट जंग फिर शुरू?

जनसंख्या नियंत्रण के लिए रामदेव का नया उपाय- तीसरे बच्चे को न मिले वोटिंग अधिकार

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading