लाइव टीवी

कौन हैं राष्ट्रपति को आशीर्वाद देने वाली थिमक्का जिनका 'मन की बात' में पीएम मोदी ने किया जिक्र

News18Hindi
Updated: January 26, 2020, 10:04 PM IST
कौन हैं राष्ट्रपति को आशीर्वाद देने वाली थिमक्का जिनका 'मन की बात' में पीएम मोदी ने किया जिक्र
पद्म श्री लेने के बाद राष्ट्रपति को आशीर्वाद देती थिमक्का

जिन थिमक्का का पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने मन की बात (Mann Ki Baat) में जिक्र किया है उन्हें पिछले वर्ष पद्म श्री (Padma Shri) दिया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 26, 2020, 10:04 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने रविवार को साल 2020 के पहले 'मन की बात' (Mann ki Baat) कार्यक्रम को संबोधित किया. इस कार्यक्रम में पीएम मोदी ने पिछले साल वायरल हुए एक वीडियो का जिक्र किया. पीएम मोदी ने उस घटना का जिक्र करते हुए कहा कि पूरे देश ने देखा कि कैसे 107 साल की एक बुजुर्ग मां राष्ट्रपति भवन (President House) समारोह में प्रोटोकॉल तोड़कर राष्ट्रपति जी को आशीर्वाद देती है.

ये महिला थीं सालूमरदा थिमक्का (Salumarda Thimmaka) जो कर्नाटक (Karnataka) में वृक्ष माता के नाम से विख्यात हैं और वह पद्म पुरस्कार (Padma Awards) का समारोह था. बहुत ही साधारण बैकग्राउंड से आने वाली थिमक्का के योगदान को देश ने जाना, समझा और सम्मान दिया. उन्हें पद्मश्री सम्मान मिल रहा था. भारत आज अपनी इन महान विभूतियों को लेकर गर्व करता है.

पिछले साल मिला था पद्म पुरस्कार
गौरतलब है कि पिछले वर्ष कर्नाटक में हजारों पौधे लगाने वालीं 107 साल की सालूमरदा थिमक्का को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पद्मश्री सम्‍मान से नवाजा था. इसी कार्यक्रम में थिम्मका ने राष्ट्रपति को माथे पर हाथ फेरकर आशीर्वाद दिया. थिमक्का पद्म पुरस्कार लेने नंगे पैर राष्ट्रपति भवन पहुंची थीं.

आपको बता दें थिमक्का ने बरगद के 400 बरगद समेत 8000 से ज्यादा पेड़ लगाएं हैं और यही वजह है कि उन्हें 'वृक्ष माता' की उपाधि मिली है. जब थिमक्का से 33 साल छोटे राष्ट्रपति कोविंद ने पुरस्कार देते वक्त उनसे चेहरा कैमरे की तरफ करने को कहा तो उन्होंने राष्ट्रपति का माथा छू लिया और आशीर्वाद दिया.

राष्ट्रपति ने भी किया था जिक्र
बता दें राष्ट्रपति कोविंद ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से इस वाकये से जुड़ा एक ट्वीट भी किया था. राष्ट्रपति ने लिखा, 'यह राष्ट्रपति का सौभाग्य है कि उन्हें भारत के सबसे अच्छे और काबिल लोगों को सम्मानित करने का मौका मिलता है. लेकिन आज कर्नाटक की पर्यावरणविद् 107 वर्षीय सालूमरदा थिमक्का ने मुझे आशीर्वाद दिया. यह बात मेरे दिल को छू गई.'थिमक्का के इस सहज कदम से राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और अन्य मेहमानों के चेहरे पर मुस्कान आ गई और समारोह कक्ष उत्साहपूर्वक तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा.

ये भी पढ़े-
ब्रू शरणार्थियों पर बोले PM मोदी- 23 साल तक जीवन था नर्क, अब सबको मिलेगा घर

PM मोदी ने 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा देने जा रहे स्टूडेंट्स को दी बधाई

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 26, 2020, 7:41 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर