J&k में शिवसेना की पहली PC, कहा - नवाज का बाला साहब के किरदार में होना हमारे सेक्युलर होने की पहचान

शिवसेना के प्रदेश महासचिव मिनेश साहनी ने कहा, अनुच्छेद 370 के तहत सूबे को मिला बिशेष दर्जा नेताओं की बयानबाजी से निरस्त नहीं हो सकता है.

News18Hindi
Updated: May 17, 2019, 9:22 PM IST
J&k में शिवसेना की पहली PC, कहा - नवाज का बाला साहब के किरदार में होना हमारे सेक्युलर होने की पहचान
कश्मीर के प्रेस क्लब में पहली कांफ्रेंस करने पहुंचे शिवसेना नेताओं ने कहा, हम सूबे को बंटने से बचाना चाहते हैं.
News18Hindi
Updated: May 17, 2019, 9:22 PM IST
शिवसेना ने जम्मू-कश्मीर में प्रेस कांफ्रेंस कर सभी को चौंका दिया. पहली प्रेस कांफ्रेंस करने के लिए पार्टी के प्रदेश स्तरीय नेता भगवा स्टोल डालकर कश्मीर के प्रेस क्लब पहुंचे. शिवसेना के प्रदेश महासिचव मिनेश साहनी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर धर्म के आधार पर बंट चुका है. हिंदू-मुस्लिम के नाम पर कश्मीर और जम्मू में विभाजित हो चुका है.

साहनी ने कहा कि हम कश्मीर के लोगों को शांति का संदेश देने आए हैं. साहनी के साथ 10 अन्य पार्टी नेता भी मौजूद थे. इनमें एक शिवसेना के कश्मीर प्रमुख अब्दुल खालिक ने श्रीनगर संसदीय क्षेत्र से फारुक अब्दुल्ला के खिलाफ चुनाव भी लड़ा है. खालिक को उम्मीद है कि लोग उनको अच्छी संख्या में वोट करेंगे.



जम्मू-कश्मीर विधानसभा ही करेगी अनुच्छेद 370 पर फैसला 

जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा मुहैया कराने वाले अनुच्छेद 370 के मुद्दे पर साहनी ने कहा कि इसे नेताओं की बयानबाजी से निरस्त नहीं किया जा सकता है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सूबे की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती जैसे लोग अनुच्छेद 370 पर राजनीति कर रहे हैं. ये लोग इसे हटा नहीं सकते हैं. जम्मू-कश्मीर विधानसभा ही इसको बरकरार रखने या हटाने का फैसला करेगी.

शिवसेना नया अध्याय शुरू करना चाहती है 

साहनी ने कहा कि घाटी के राजनीतिक दल सूबे को बांटने चाहते हैं और हम ऐसा होने से बचाना चाहते हैं. कश्मीर में शिवसेना की छवि काफी खराब है. आरोप लगता रहा है कि पार्टी कार्यकर्ता देश में रहने वाले कश्मीरियों पर हमले करती रही है. जब साहनी से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि हम नया अध्याय शुरू करना चाहते हैं. हर दल में कुछ खराब लोग होते ही हैं. अब यह पुरानी बात हो गई है. अब हम इसे खत्म करना चाहते हैं. अगर ऐसा नहीं होता तो हम यहां आते ही नहीं.

रमजान पर घाटी में संघर्षविराम की वकालत की 
Loading...

शिवेसना नेता ने रमजान के दौरान घाटी और नियंत्रण रेखा पर संघर्षविराम की वकालत की. उन्होंने कहा कि पाक महीने में आतंकियों को भी हमारे सुरक्षाबलों पर हमला नहीं करना चाहिए. इस दौरान साहनी ने बांदीपोरा में हुई रेप की घटना की भी निंदा की.

शिवसेना की मुस्लिम विरोधी छवि पर दिया से जवाब 

साहनी से जब शिवसेना की मुस्लिम विरोधी छवि के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, पार्टी की सभी को साथ लेकर चलने की प्रवृत्ति को इस बात से समझा जा सकता है कि बाला साहब ठाकरे का किरदार मुस्लिम अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी निभा रहे हैं. इस दौरान उन्होंने कहा कि हम जम्मू और कश्मीर के साथ समान व्यवहार चाहते हैं.

ये भी पढ़ें: 

5 साल के कार्यकाल के बाद दोबारा चुनकर आएगी हमारी सरकार- PM मोदी

पंजाब में कांग्रेस हारी तो दे दूंगा इस्तीफा: कैप्टन अमरिंदर सिंह

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार