लाइव टीवी

आखिर द्वारका सेक्‍टर-21 मेट्रो स्‍टेशन ही क्‍यों होगा जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल की भारत यात्रा का आखिरी पड़ाव?

News18Hindi
Updated: November 1, 2019, 7:34 PM IST
आखिर द्वारका सेक्‍टर-21 मेट्रो स्‍टेशन ही क्‍यों होगा जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल की भारत यात्रा का आखिरी पड़ाव?
जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल शनिवार सुबह वापसी की फ्लाइट पकड़ने से पहले नई दिल्‍ली के द्वारका सेक्‍टर-21 मेट्रो स्‍टेशन का दौरा करेंगी.

जर्मनी की चांसलर (German Chancellor) एंजेला मर्केल (Angela Merkel) की भारत यात्रा का आखिरी पड़ाव (Last Stop) द्वारका सेक्‍टर-21 का मेट्रो स्‍टेशन (Metro Station) होगा. वह जर्मनी के लिए फ्लाइट पकड़ने से पहले कुछ समय इस मेट्रो स्‍टेशन पर भी बिताएंगी. इससे पहले वह भारत सरकार के साथ कई बैंठकों में शिरकत करेंगी. आखिर वह द्वारका मेट्रो स्‍टेशन (Dwarka Metro Station) पर क्‍यों रुकेंगी? क्‍या इस स्‍टेशन का जर्मनी (Germany) से कोई संबंध है?

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 1, 2019, 7:34 PM IST
  • Share this:
उदय सिंह राणा

नई दिल्‍ली. जर्मनी की चासंलर (German Chancellor) एंजेला मर्केल (Angela Merkel) का भारत यात्रा कार्यक्रम जब सार्वजनिक किया गया तो उसमें उनका अंतिम पड़ाव (Last Stop) एक मेट्रो स्‍टेशन (Metro Station) को देखकर सब चौंक गए थे. भारत सरकार (Indian Government) और यहां जर्मन कारोबारी समुदाय (German Business Community) के साथ बैठकों के दौर के बाद शनिवार को जर्मनी के लिए वापसी की फ्लाइट पकड़ने से पहले वह सुबह 11.20 बजे द्वारका सेक्‍टर-21 मेट्रो स्‍टेशन पर भी पहुंचेंगी. दरअसल, इस मेट्रो स्‍टेशन का जर्मनी से संबंध है. इसलिए मर्केल कुछ देर यहां रुकेंगी. इस मेट्रो स्‍टेशन की छत (Terrace) पर सोलर पैनल्‍स (Solar Panels) लगाने के लिए जर्मनी की सरकार ने आर्थिक मदद (Funded) की थी.

मर्केल के सामने किया जाएगा ई-रिक्‍शा सिस्‍टम का प्रदर्शन
नई दिल्‍ली में जर्मन दूतावास (German Embassy) के प्रवक्‍ता क्रिश्चियन विंकलर (Christian Winkler) ने News18 से कहा कि जर्मनी अक्षय ऊर्जा (Renewable Energy) के इस्‍तेमाल को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है. इसलिए जर्मन विकास बैंक केएफडब्‍ल्‍यू ने मेट्रो स्‍टेशन की छत पर सोलर पैनल लगाने की परियोजना की फंडिंग की थी. विंकलर ने बताया कि जब मर्केल मेट्रो स्‍टेशन पहुंचेंगी तो उनके सामने ई-रिक्‍शा सिस्‍टम (E-rickshaw System) का प्रदर्शन भी किया जाएगा. वह देखेंगी कि बैटरी से चलने वाले वाहन कैसे काम करते हैं. इससे साफ होता है कि दोनों पक्ष जलवायु परिवर्तन (Climate Change) के खिलाफ लड़ने के लिए एक-दूसरे के देशों में इस्‍तेमाल होने वाले बेहतर विकल्‍पों के बारे में सीखने के लिए तैयार और तत्‍पर हैं.

पर्यावरण बचाने को साथ काम करने को तैयार हैं भारत-जर्मनी
एक सूत्र ने कहा कि पहले पश्चिमी देश (Western Countries) भारत को हर बात में खामियां निकालने वाले (Naysayer) देश के तौर पर देखता था. अब भारत की यह छवि बदल चुकी है. अब हम समाधान खोजने में सहयोगी बन चुके हैं. हमने 2015 में इंटरनेशनल सोलर अलायंस (International Solar Alliance) का गठन किया. यूरोप (Europe) इसमें सबसे बड़े साझेदार के तौर पर उभरा. भारत-जर्मनी के संयुक्‍त बयान से स्‍पष्‍ट है कि दोनों देश पर्यावरण को बचाने के लिए साथ मिलकर हर काम करने को तैयार हैं. संयुक्‍त बयान में कहा गया कि दोनों शीर्ष नेताओं को पृथ्‍वी को बचाने के लिए संयुक्‍त जिम्‍मेदारियों का अहसास है. दोनों देश अक्षय ऊर्जा को बढ़ावा देकर कार्बन फुटप्रिंट (Carbon Footprint) कम कर जलवायु परिवर्तन को कम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं.

नई दिल्‍ली के द्वारका सेक्‍टर-21 मेट्रो स्‍टेशन की छत पर लगे सोलर पैनल सिस्‍टम की फंडिंग जर्मनी की सरकार ने ही की थी.

Loading...

मानेसर में जर्मन कंपनी का दौरा भी करेंगी चांसलर मर्केल
भारत (India) और जर्मनी (Germany) के लिए स्‍थायी विकास लक्ष्‍य और पेरिस समझौता आपसी सहयोग की रूपरेखा तय करता है. इसमें कहा गया है कि भारत और जर्मनी में ऊर्जा (Energy) व यातायात (Transport) के साधनों में सफलतापूर्वक बदलाव के लिए दोनों देशों के बीच बेहतर समन्‍वय (Cooperation) जरूरी है. दोनों को एकदूसरे से सीखने और जलवायु परिवर्तन को कम करते हुए आर्थिक क्षमता बढ़ाने के लिए एकदूसरे के सहयोग की दरकार है. मर्केल शनिवार को कारोबारियों से मुलाकात के बाद गुरुग्राम के नजदीक मानेसर में स्थित एक जर्मन कंपनी का दौरा भी करेंगी. मर्केल और पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने शुक्रवार को इंटर-गवर्नमेटल कंसल्‍टेशन (IGC) की पांचवे दौर की अध्‍यक्षता की.

ये भी पढ़ें:

PM मोदी के साथ गांधी स्मृति पहुंचीं मर्केल, राष्ट्रपिता को दी श्रद्धांजलि

झारखंड में बीजेपी-आजसू के खिलाफ महागठबंधन ठोकेगा ताल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 1, 2019, 7:27 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...