बेटे के बाद अब मां के शव के साथ रह रहा था कोलकाता का ये परिवार

कोलकाता पुलिस के एक सीनियर अधिकारी ने कहा, "ऐसा लगता है कि महिला की मौत दो-तीन दिन पहले हो गई थी, लेकिन उनके परिवार वालों ने न तो अंतिम संस्कार किया और न किसी को बताया."

News18Hindi
Updated: July 8, 2019, 12:58 PM IST
बेटे के बाद अब मां के शव के साथ रह रहा था कोलकाता का ये परिवार
कोलकाता में 82 साल की महिला के शव के साथ रहता मिला परिवार. (सांकेतिक तस्वीर)
News18Hindi
Updated: July 8, 2019, 12:58 PM IST
दक्षिण कोलकाता के एक आवास से रविवार को 82 साल की एक वृद्ध महिला का सड़ा-गला शव बरामद किया गया. पुलिस ने बताया कि करीब छह महीने पहले महिला के बेटे का शव भी इस हालत में बरामद किया गया था.

मृतक महिला छाया चटर्जी के पड़ोसियों ने रविवार को उनके फ्लैट से तेज बदबू आने के बाद पुलिस को फोन किया था. पुलिस ने बताया कि छाया चटर्जी अपने पति रबिन्द्रनाथ चटर्जी और बेटी के साथ रहती थीं, लेकिन उनमें से किसी ने भी दूसरों को इस बारे में सूचना नहीं दी और न ही अंतिम संस्कार का इंतजाम किया.

कोलकाता पुलिस के एक सीनियर अधिकारी ने कहा, "ऐसा लगता है कि महिला की मौत दो-तीन दिन पहले हो गई थी, लेकिन उनके परिवार वालों ने न तो अंतिम संस्कार किया और न किसी को बताया."

उन्होंने कहां, "शव को हटाने और अंतिम संस्कार करने के लिए सभी जरूरी इंतजाम कर दिए गए हैं. मौत का कारण जानने के लिए जांच चल रही है."

6 महीने पहले हुई थी बेटे की मौत

पड़ोसियों ने कहा कि परिवारवालों की उनसे अधिक बातचीत नहीं होती थी जो उनके 57 वर्षीय बेटे देबाशीष चटर्जी की मौत के बाद और कम हो गई.

सारसुना पुलिस स्टेशन के एक अधिकारी ने कहा, "प्राथमिक पूछताछ से पता चला है कि परिवार ने अपने बेटे की मौत के समय भी इसी तरह का व्यवहार किया था, उन्होंने घटना के बारे में किसी को सूचना नहीं दी. पड़ोसियों ने फ्लैट से बदबू आने के बाद पुलिस को सूचना दी थी."
Loading...

घर के खिड़की दरवाजे किए थे बंद

बदबू घर से बाहर न जाए इसके लिए परिवार ने दूसरी मंजिल पर स्थित अपने फ्लैट के सभी दरवाजे और खिड़कियां बंद कर रखी थीं और यहां तक ​​कि मौत को छुपाने की कोशिश में खाने का सामान खरीदने के लिए घर से निकलना भी बंद कर दिया था.

ये भी पढ़ें: बहन ने कुछ दिन पहले की थी खुदकुशी अब भाई ने लगाई फांसी, घर पर हर गई विधवा मां

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 8, 2019, 12:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...