लाइव टीवी

पश्चिम बंगाल में ‘बुलबुल’ तूफान का खौफ, कोलकाता एयरपोर्ट 12 घंटे के लिए किया गया बंद

News18Hindi
Updated: November 9, 2019, 5:44 PM IST
पश्चिम बंगाल में ‘बुलबुल’ तूफान का खौफ, कोलकाता एयरपोर्ट 12 घंटे के लिए किया गया बंद
बुलबुल’ तूफान की वजह से रविवार सुबह 6 बजे तक कोलकाता एयरपोर्ट बंद

गृह मंत्रालय (MHA) के एक अधिकारी के मुताबिक, ‘चक्रवात 'बेहद शक्तिशाली ‘बुलबुल' (Cyclone Bulbul) के कारण कोलकाता एयरपोर्ट (Kolkata Airport) को 9 नवंबर शाम 6 बजे से लेकर 10 नवंबर सुबह 6 बजे तक बंद किया गया है.’

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 9, 2019, 5:44 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. बंगाल की खाड़ी (West Bengal) से उठा चक्रवात तूफान ‘बुलबुल’ (Cyclone Bulbul) ओडिशा से पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश की तरफ बढ़ रहा है. बंगाल में आज शाम इसके भयानक रूप लेने की आशंका है. इसी चलते कोलकाता एयरपोर्ट (Kolkata Airport) को 12 घंटे के लिए बंद कर दिया गया है. गृह मंत्रालय (MHA) के अधिकारियों के मुताबिक, शनिवार शाम 6 बजे से रविवार सुबह 6 बजे तक कोलकाता एयरपोर्ट बंद रहेगा. पूर्वी भारत में यह एयरपोर्ट सबसे व्यस्त माना जाता है.

अधिकारियों के अनुसार, पश्चिम बंगाल (West Bengal) तट पर शनिवार रात 8 बजे के करीब बारिश होने की संभावना है. साथ ही 120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं और एक से दो मीटर तक ज्वार की लहरें उठ सकती हैं. एमएचए के एक अधिकारी ने कहा, ‘चक्रवात 'बेहद शक्तिशाली ‘बुलबुल' (Cyclone Bulbul)  के कारण कोलकाता एयरपोर्ट (Kolkata Airport) को 9 नवंबर शाम 6 बजे से लेकर 10 नवंबर सुबह 6 बजे तक बंद किया जा रहा है.’

135 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती हैं हवाएं
मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि शनिवार दोपहर 2.30 बजे चक्रवात बुलबुल दक्षिण-पूर्व में दीघा से लगभग 90 किलोमीटर, सागर द्वीप से 85 किमी दक्षिण में और कोलकाता से 185 किलोमीटर दक्षिण-पूर्व में था. कोलकाता मौसम विभाग के कार्यालय ने कहा कि राज्य की राजधानी में हवा की गति लगभग 50 किमी प्रति घंटा होने की संभावना है, जिससे अधिकतम 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार होगी. चक्रवात सुंदरबन डेल्टा के सागर द्वीप के आसपास शाम 6 बजे के बाद, 120 से 135 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली हवा के साथ भूस्खलन की संभावना है.

सीएम ममता ने शांति बनाए रखने की अपील
मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. उन्होंने कहा कि राज्य प्रशासन स्थिति पर करीब से नजर रखे हुए है और किसी भी आकस्मिक स्थिति से निपटने के लिए है. उन्होंने ट्वीट में कहा, "विशेष नियंत्रण कक्ष स्थापित किए गए हैं और एनडीआरएफ-एसडीआरएफ की टीमें तैनात हैं.’ ममता ने कहा, ‘स्कूल, कॉलेज और आंगनवाड़ी केंद्र बंद कर दिए गए हैं और 1,20,000 से अधिक लोगों को पहले से ही सुरक्षित जगहों पर ले जाया गया है.’



NCMC ने की समीक्षा
चक्रवात से किसी भी आपात स्थिति को संभालने के लिए देश की सर्वोच्च संस्था नेशनल क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी (NCMC) ने पहले दिन में बंगाल की खाड़ी के ऊपर चक्रवात 'बुलबुल' से निपटने की तैयारियों की समीक्षा की. कैबिनेट सचिव राजीव गौबा की अध्यक्षता में हुई बैठक में भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने बताया कि चक्रवात अब तेज हो गया है और शनिवार शाम तक पश्चिम बंगाल के तट को पार करने की संभावना है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 9, 2019, 5:38 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...