लाइव टीवी

कोलकाता: ATM कार्ड का क्लोन बनाकर 32 लोगों के खाते से लाखों रुपये उड़ा ले गए जालसाज़

News18Hindi
Updated: December 3, 2019, 8:27 AM IST
कोलकाता: ATM कार्ड का क्लोन बनाकर 32 लोगों के खाते से लाखों रुपये उड़ा ले गए जालसाज़
जालसाजों ने निकाले एटीएम से लाखों रुपये

कोलकाता (Kolkata) शहर के यादवपुर (Yadavpur) इलाके में 30 से अधिक लोगों ने शिकायत दर्ज कराई. इन सभी लोगों के खातों से पिछले तीन दिनों के दौरान बड़ी रकम निकाली गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 3, 2019, 8:27 AM IST
  • Share this:
कोलकाता. देश-दुनिया में साइबर क्राइम (Cyber crime) लगातार बढ़ते जा रहे हैं. साइबर क्राइम की बढ़ती घटनाओं ने लोगों के बैंक अकाउंट तक अपनी पहुंच बना ली है. ऐसा ही एक मामला कोलकाता (Kolkata) में देखने को मिला, जहां जादवपुर (Jadavpur) इलाके में 30 से अधिक लोगों ने शिकायत दर्ज कराई. इन सभी लोगों के खातों से पिछले तीन दिनों के दौरान बड़ी रकम निकाली गई है.

एक ही स्थान के ज्यादातर शिकायतकर्ता
पुलिस के पास शिकायत दर्ज होने के बाद जांच में पता चला कि अधिकतर शिकायतकर्ता कोलकाता दक्षिणी हिस्से जादवपुर में सुकांता सेतु के आसपास के निजी या राष्ट्रीयकृत बैंकों के एटीएम इस्तेमाल किए थे. जिन लोगों के बैंक अकाउंट से रुपया निकाला गया उन सभी के पास उनका एटीएम कार्ड सुरक्षित है.

एटीएम स्किमिंग का मामला

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस को शक है कि यह अपराध दिल्ली, गुड़गांव और नोएडा के एटीएम का इस्तेमाल कर किया गया है. हालांकि मूल मालिकों के पास उनके डेबिट कार्ड मौजूद थे. यह एटीएम स्किमिंग (एटीएम में एक छोटा यंत्र लगाकर कार्ड की जानकारी चुराने) का मामला लगता है. उन्होंने कहा कि संभवत: जालसाजों ने ग्राहकों के पुराने डेटा का इस्तेमाल किया है.

एक साथ दर्ज की गई 9 शिकायतें
शनिवार को जादवपुर पुलिस थाने में एक के बाद एक 9 शिकायतें दर्ज कराई गई, लेकिन सोमवार तक शिकायतों की कुल संख्या 32 पर पहुंच गई. लोगों के अकाउंट से एटीएम के जरिए रुपये निकाल लेने का मामला सामने आने के बाद से पुलिस व विभिन्न सरकारी व निजी बैंकों के अधिकारी चिंताएं बढ़ने लगी हैं. क्योंकि विभिन्न बैंकों के ग्राहकों के खाते से रुपये निकाले गए हैं. (भाषा इनपुट के साथ)ये भी पढ़ें : किसान सम्मान निधि स्कीम: 10 करोड़ से अधिक किसानों तक नहीं पहुंची अंतिम किश्त

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 3, 2019, 8:07 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर