क्लास 1 से मरना चाहती थी छात्रा, दसवीं में पहुंचकर काटी हाथ की नस

दसवीं कक्षा में पढ़ने वाली यह छात्रा दो दिन पहले बेसुध हालत में स्कूल के बाथरूम में मिली थी. उसकी हाथ की नस कटी हुई थी और सिर पर प्लास्टिक बंधी हुई थी.

News18Hindi
Updated: June 23, 2019, 1:23 PM IST
क्लास 1 से मरना चाहती थी छात्रा, दसवीं में पहुंचकर काटी हाथ की नस
क्लास 1 से मरना चाहती थी छात्रा, स्कूल के बाथरूम में काटी हाथ की नस
News18Hindi
Updated: June 23, 2019, 1:23 PM IST
मेरी मरने की इच्छा तब से थी जब मैं कक्षा एक में पढ़ती थी. मुझे एक मायावी नींद का इंतजार है. पापा आप मेरा अंतिम संस्कार बहुत अच्छे तरीके से करना. मेरे सभी दोस्तों और रिश्तेदारों को जरूर बुलाना. आंखों को नम कर देने वाला ये सुसाइड नोट 14 वर्षीय दसवीं की छात्रा ने लिखा है. छात्र का शव खून से लथपत हालत में स्कूल के बाथरूम में बरामद हुआ था.

छात्रा की अंतिम इच्छा का सम्मान करते हुए उसके परिजनों ने शनिवार को उसका अंतिम संस्कार कर दिया. छात्रा के अंतिम संस्कार में उनके परिवार के लोग और उनके सभी दोस्त शामिल हुए. बरुईपुर के कीर्तनखोला श्मशान घाट में छात्रा का शव लेकर पहुंचे परिजनों की आंखों से आंसू रुकने का नाम नहीं ले रहे थे. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि छात्रा ने सुसाइड किया है.

इसे भी पढ़ें :- लिंगानुपात में हुआ सुधार, छत्तीसगढ़ और केरल टॉप पर

गौरतलब है कि छात्रा दसवीं कक्षा में पढ़ती थी. दो दिन पहले ही उसे बेसुध हालत में स्कूल के बाथरूम से निकाला गया था. उसकी हाथ की नस कटी हुई थी और सिर पर प्लास्टिक बंधी हुई थी. प्लास्टिक को उसने अपनी यूनिफॉर्म की शर्ट से ढक लिया था जिससे से उसका दम घुट जाए और उसकी मौत हो सके. छात्रा ने मरने से पहले तीन पेज का सुसाइड नोट भी लिखा था. सुसाइड नोट के पहले दो पन्नों में लड़की बताती है कि कैसे उसने मायावी नींद के इंतजार में अपनी कई रातें बिताई हैं. उसने लिखा कि जब वह क्लास एक में पढ़ती थी तभी से वह मरना चाहती थी. दस साल तक इंतजार करने के बाद वो ये कदम उठाने जा रही है.

इसे भी पढ़ें :- कलाई काटते समय दर्द हुआ इसलिए छोड़ दिया खुदकुशी का इरादा
First published: June 23, 2019, 12:45 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...