Home /News /nation /

पश्चिम बंगाल: 4 दिनों तक सरकारी अस्पताल के लिफ्ट में फंसी रही महिला, आखिरकार ऐसे जीती मौत से जंग

पश्चिम बंगाल: 4 दिनों तक सरकारी अस्पताल के लिफ्ट में फंसी रही महिला, आखिरकार ऐसे जीती मौत से जंग

कोलकाता स्थित नीलरतन सरकारी अस्पताल. (सांकेतिक तस्वीर)

कोलकाता स्थित नीलरतन सरकारी अस्पताल. (सांकेतिक तस्वीर)

Woman Kolkata Hospital Lift: बादुड़िया के चंडीपुर गांव की वासिंदा आनोयारा बीबी ने बताया कि लिफ्ट में फंसने के बाद उसने बहुत चिल्लाया, लेकिन किसी ने भी उसकी आवाज नहीं सुनी. महिला ने कहा, "मेरे पास एक पानी की बोतल और एक चूड़ा का पैकेट था. हर रोज थोड़ा-थोड़ा चूड़ा खाकर पानी पीती थी और सोचती थी कि कब कोई आकर दरवाजा खोलेगा, लेकिन ऐसा हुआ नहीं."

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता (Kolkata) के एक सरकारी अस्पताल नीलरतन अस्पताल की लिफ्ट में एक महिला चार दिनों तक अटकी रहीं और किसी को भनक तक नहीं लगी. लिफ्ट में फंसे रहने दौरान महिला काफी चिल्लाई, लेकिन किसी ने उसकी आवाज नहीं सुनी. महिला ने तो अपने बचने की उम्मीद भी छोड़ दी थी. हालांकि इस घटना के बारे में अस्पताल प्रशासन को कोई भी जानकारी नहीं है. चार दिनों तक लिफ्ट में बंद रहने के समय में महिला के पास 300 मिलीलीटर पानी की बोतल ही एकमात्र सहारा था.

    बीते सोमवार को 60 वर्षीय आनोयारा बीबी एनआरएस अस्पताल के ओपीडी में डॉक्टर को दिखाने के लिए आई थीं और उन्हें चौथी मंजिल पर जाना था. पांव में दर्द की वजह से उन्होंने लिफ्ट का इस्तेमाल करने की सोची. वहां पर एक बड़ी लिफ्ट थी और एक छोटी. महिला छोटी लिफ्ट पर चढ़ गई, लेकिन दूसरी मंजिल के पास ही लिफ्ट बंद हो गई और वह सोमवार से शुक्रवार यानी लगातार चार दिनों तक लिफ्ट में कैद होकर रह गईं या यूं कहें कि इन चार दिनों वे जीवन-मृत्यु की जंग लड़ती रहीं.

    थोड़ा-थोड़ा पानी और चूड़ा खाकर काट रही थी समय
    बांग्ला समाचार पत्र गणशक्ति में प्रकाशित खबर के मुताबिक, बादुड़िया के चंडीपुर गांव की वासिंदा आनोयारा बीबी ने बताया कि लिफ्ट में फंसने के बाद वह बहुत चिल्लाईं, लेकिन किसी ने भी उनकी आवाज नहीं सुनी. महिला ने कहा, “मेरे पास एक पानी की बोतल और एक चूड़ा का पैकेट था. हर रोज थोड़ा-थोड़ा चूड़ा खाकर पानी पीती थी और सोचती थी कि कब कोई आकर दरवाजा खोलेगा, लेकिन ऐसा हुआ नहीं.”

    ऐसे लिफ्ट से निकली महिला
    चार दिनों कर जब महिला घर नहीं पहुंची, तो परिवार वाले उसकी तलाश में निकले. वे अस्पताल पहुंचे, लेकिन वह नहीं मिली. फिर शुक्रवार को उसके एक परिचित अस्पताल पहुंचे, जहां उन्हें लिफ्ट से आ रही महिला की आवाज सुनाई दी. फिर क्या था, इसके तुरंत बाद दूसरे लोगों को बुलाया गया और महिला को वहां से सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया. हालांकि चार दिनों तक इतने अंधकार में रहने की वजह से महिला काफी डरी हुई थी. दूसरी ओर, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अस्पताल प्रबंधन ने बताया कि उसे इस घटना के बारे में मालूम नहीं है.

    Tags: Kolkata, West bengal

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर