भारत ने कहा- आतंकियों को ट्रेनिंग दे रहा है हाफिज सईद , PAK कार्रवाई करे दिखावा नहीं

भारत ने पाकिस्तान की खबर लेते हुए यह भी कहा है कि हाफ़िज़ सईद का संगठन आतंकियों को कैसे ट्रेनिंग देता है ये पूरी दुनिया को पता है, अब दिखावा नहीं कार्रवाई करनी होगी.

News18Hindi
Updated: July 18, 2019, 5:53 PM IST
भारत ने कहा- आतंकियों को ट्रेनिंग दे रहा है हाफिज सईद , PAK कार्रवाई करे दिखावा नहीं
भारत ने कुलभूषण जाधव और हाफ़िज़ सईद मामले में पाकिस्तान को कार्रवाई करने के लिए कहा है.
News18Hindi
Updated: July 18, 2019, 5:53 PM IST
पाकिस्तान को एक बार फिर शर्मिंदा होना पड़ा है. भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने एक बार फिर से पाकिस्तान को डांट लगाई है. उन्होंने हाफिज सईद की गिरफ्तारी को दिखावा कहा है कुलभूषण जाधव के मामले में अंतरराष्ट्रीय कोर्ट के फैसले के बाद पाकिस्तान से तुरंत एक्शन लेने की बात कही है.

रवीश कुमार ने यह भी कहा है कि इस बार जो हाफ़िज़ की गिरफ़्तारी जो हुई है इस बार देखना होगा की पाकिस्तान कितना गंभीर है. उन्होंने पाकिस्तानी के दिखावटीपन की ख़बर लेते हुए यह भी कहा कि हाफ़िज़ का जो संगठन है वो आतंकियों को कैसे ट्रेंड करता है सबको पता है. साथ ही उन्होंने पाकिस्तान को साफ संदेश दिया है कि दिखावटी कार्रवाई करने से नही चलेगा अगर कुछ ठोस कार्रवाई होगी तो हमें भी पता चलेगा.

कुलभूषण जाधव पर विदेश मंत्रालय का बयान
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने पाकिस्तान में कैद भारतीय नौसेना के पूर्व अफसर कुलभूषण जाधव पर बुधवार को अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (ICJ) के फैसले को आखिरी बताया है साथ ही उन्होंने कहा है कि पाकिस्तान इसके लिए बाध्य है कि वह फैसले के अनुसार कार्रवाई करे.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने यह भी बताया कि फैसले के खिलाफ अपील नहीं हो सकती है. साथ ही पाकिस्तान को कुलभूषण को भारतीय दूतावास से संपर्क में रहने और वकील मुहैया कराए जाने जैसी सुविधाएं तुरंत देनी होंगीं. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को यह कार्रवाईयां ICJ के फैसले के बाद पाक को तुरंत कार्रवाई करनी होगी.

हाफ़िज़ सईद की गिरफ़्तारी एक ड्रामा
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा है कि भारतीय विदेश मंत्रालय ने हाफिज सईद को गिरफ्तार किए जाने की रिपोर्ट देखी है. की हाफ़िज़ सईद की गिरफ़्तारी की. भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने पाकिस्तान के इस कदम को एक ड्रामा करार दिया है. उन्होंने कहा कि किसी भी घटना के बाद उसे पहले गिरफ़्तार किया जाता है फिर किसी कारण से रिहा कर दिया जाता है. 2001 से 8 बार इस तरह की ड्रिल कई बार हो चुकी है जिसमें पहले हाफिज सईद की गिरफ़्तारी की गई और फिर उसे रिहाई दे दी गई.
Loading...

आतंकियों को घुसपैठ कराने में मदद करती है पाकिस्तानी सेना
इसके अलावा रक्षा मंत्रालय की वार्षिक रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तानी सेना के जरिए आतंकवादी गुटों को लगातार भारत में घुसपैठ के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है. इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि इन आतंकियों की घुसपैठ को मुमकिन बनाने के लिए जम्मू-कश्मीर के कई इलाकों में सीमापार से भारी गोलीबारी की जाती है. भारतीय सेना भी ऐसे हालातों में उपयुक्त कदम उठाती है.

यह भी पढ़ें: अब इंटरनेशनल कोर्ट में केस हारने के बाद पाकिस्तान को  चुकाने होंगे 40 हजार करोड़ रुपये
First published: July 18, 2019, 5:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...