• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • Kisan Andolan: कुमार विश्वास बोले- दोनों पक्ष बरतें नरमी, देश की छवि के लिए यह ठीक नहीं

Kisan Andolan: कुमार विश्वास बोले- दोनों पक्ष बरतें नरमी, देश की छवि के लिए यह ठीक नहीं

कुमार विश्वास राजनीतिक और सामाजिक विषयों पर ट्वीट के जरिये अपने विचार रखते रहते हैं. उन्‍होंने किसान आंदोलन को लेकर भी किसानों और सरकार को संकेतों में सलाह दी है.

कुमार विश्वास राजनीतिक और सामाजिक विषयों पर ट्वीट के जरिये अपने विचार रखते रहते हैं. उन्‍होंने किसान आंदोलन को लेकर भी किसानों और सरकार को संकेतों में सलाह दी है.

कुमार विश्वास राजनीतिक और सामाजिक विषयों पर ट्वीट के जरिये अपने विचार रखते रहते हैं. उन्‍होंने किसान आंदोलन को लेकर भी किसानों और सरकार को संकेतों में सलाह दी है.

  • Share this:

    नई दिल्ली. पिछले 2 महीने से अधिक समय से चल रहा किसान आंदोलन (Kisan Agitation) 26 जनवरी की घटना के बाद कमजोर लगने लगा था, लेकिन किसान नेता राकेश टिकैत के भावुक होने बाद एक बार फिर से आंदोलन ने जोर पकड़ लिया है. इसके बाद से हजारों की संख्या में किसान यूपी और हरियाणा से गाजीपुर बॉर्डर पर पहुंच रहे हैं. इधर, किसान आंदोलन को लेकर सुपरिचित कवि कुमार विश्वास (Kumar Vishwas) लगातार ट्वीट के जरिए समस्‍या के समाधान की बात कर रहे हैं. कुमार विश्वास ने अपने ट्वीट में इशारों-इशारों में केंद्र सरकार और किसान संगठनों से मिल-बैठकर आपसी बातचीत के जरिए हल निकालने की गुजारिश की है.

    Kisan Andolan_ Kisan agitation, Kumar Vishwas, social media, international image of the country, 26 January, tractor parade, violence demonstration, Rakesh Tikait

    कवि कुमार विश्वास ने केंद्र सरकार और किसान संगठनों से मिल-बैठकर आपसी बातचीत के जरिए हल निकालने की गुजारिश की है.

    उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि “दोनों पक्षों के बीच हल निकालने की पहल और गंभीर तरीके से होनी चाहिए. पिछले कुछ समय में जो कुछ हुआ और जो अब हो रहा है. वह किसी भी तरह से देश और उसकी अंतरराष्ट्रीय छवि के लिए ठीक नहीं है. दोनों पक्ष थोड़ा और अधिक नरम, सहकारी, संवेदनशील और राष्ट्रीयता भरा रुख अपनाएं और समस्या का निस्तारण करें.”

    इससे पहले 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस पर किसान ट्रैक्टर परेड के दौरान समूची दिल्ली में हिंसा हुई थी. इसमें 300 के करीब पुलिसकर्मी घायल हुए थे, जबकि एक किसान की तो मौत ही ही गई. किसान आंदोलन में शामिल अराजक तत्वों ने शर्मनाक हरकत को अंजाम देते हुए लाल किला की प्राचीर पर तिरंगे के बगल के एक अन्य झंडा लगा दिया था. उपद्रवी किसानों की इस करतूत पर कुमार विश्वास ने नाराजगी जताई थी.

    उन्होंने ट्वीट में लिखा था कि, “सोचकर और देखकर मन बहुत ख़राब है! हमें क्षमा करना पुण्य-पूर्वजों हमारी सोच, हमारे काम व हमारी व्यवस्था ने आपके बलिदानों से अर्जित गणतंत्र दिवस को दुख का दिन बना दिया कोई एक पक्ष नहीं, एक देश के नाते हम सब ज़िम्मेदार हैं, हम सबने एक दूसरे को दुख पहुंचाया ! दुनिया हम पर हंस रही है.”

    इससे पहले भी कुमार विश्वास अन्य ट्वीट में अपना दर्द बयान कर चुके हैं, उन्होंने लिखा- “संविधान की मान्यता के पर्व पर देश की राजधानी के दृश्य लोकतंत्र की गरिमा को चोट पहुंचाने वाले हैं. याद रखिए देश का सम्मान है तो आप हैं. हिंसा लोकतंत्र की जड़ों में दीमक के समान है. जो लोग मर्यादा के बाहर जा रहे हैं वे अपने आंदोलन व अपनी मांग की वैधता व संघर्ष को ख़त्म कर रहे हैं.”

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज