कोर्ट की अवमानना मामले में घिरे कुणाल कामरा नहीं मांगेंगे माफी, एटॉर्नी जनरल को लिखा पत्र

एटॉर्नी जनरल कुणाल कामरा के खिलाफ मामला चलाए जाने की अनुमति दे चुके हैं.
एटॉर्नी जनरल कुणाल कामरा के खिलाफ मामला चलाए जाने की अनुमति दे चुके हैं.

कुणाल कामरा (Kunal Kamra) के मामले पर सुनवाई पर सहमति जताते हुए केके वेणुगोपाल (KK Venugopal) ने कहा था कि यह समय था जब लोगों को समझना होगा कि बेशर्मी से एपेक्स कोर्ट (Apex Court) पर हमला करने पर आपको सजा हो सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 13, 2020, 8:43 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कॉमेडियन कुणाल कामरा (Kunal Kamra) पर अदालत की अवमानना का मामला चलाए जाने की अनुमति एटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल गुरुवार को दे चुके हैं. जबकि, कामरा अपने ट्वीट को लेकर हुए विवाद पर माफी मांगने के लिए तैयार नहीं हैं. उन्होंने एक ट्विटर पोस्ट के जरिए कहा है कि वो किसी भी तरह से पीछे हटने या अपने बयानों पर माफी नहीं मांगेंगे.

क्या कहा कुणाल ने
कुणाल ने ट्विटर पर एटॉर्नी जनरल (Attorney General) और जजों को एक लैटर लिखा है. अपने लैटर में उन्होंने कहा 'मैंने हाल ही में जो ट्वीट किए हैं, उन्हें कोर्ट की अवमानना के रूप में देखा गया है. मैंने जो भी ट्वीट किए हैं, वह सुप्रीम कोर्ट के पक्षपाती फैसले को लेकर हैं, जो उन्होंने भारत के प्राइमटाइम लाउडस्पीकर के पक्ष में सुनाया है.' अपने नोट में कामरा ने अदालत को नोटबंदी, जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाली याचिका, इलेक्टोरल बॉन्ड्स जैसे मुद्दों पर सुनवाई करने की सलाह दी है. अपने ट्वीट में भी उन्होंने साफ लिखा है, 'कोई जज नहीं, कोई माफी नहीं, कोई जुर्माना नहीं, कोई जगह की खराबी नहीं.'







एपेक्स कोर्ट पर हमला किया तो सजा मिलेगी: वेणुगोपाल
कामरा के मामले पर सुनवाई पर सहमति जताते हुए केके वेणुगोपाल ने कहा था कि यह समय था जब लोगों को समझना होगा कि बेशर्मी से एपेक्स कोर्ट पर हमला करने पर आपको सजा हो सकती है. उन्होंने कहा था, 'लोगों को लगता है कि वे मुखर और बेशर्म होकर भारत के सुप्रीम कोर्ट और इसके जजों का अपने अभिव्यक्ति की आजादी का इस्तेमाल कर अपमान कर सकते हैं. लेकिन संविदान के तहत बोलने की आजादी कोर्ट की अवमानना के आधीन है.'

क्या था मामला
कुणाल ने पत्रकार अर्नब गोस्वामी (Arnab Goswami) की गिरफ्तारी को लेकर कुछ ट्वीट किए थे. एक ट्वीट में उन्होंने कहा था कि जिस गति से सुप्रीम कोर्ट 'राष्ट्रीय महत्व' के मामलों को निपटा रहा है, यही वो समय है जब हमें महात्मा गांधी की जगह हरीश साल्वे की फोटो लगानी चाहिए. इसके अलावा एक ट्वीट में उन्होंने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ को फ्लाइट अटेंडेंट बताया था. बुधवार को एक ट्वीट में कामरा ने सुप्रीम कोर्ट को भारत का सबसे बड़ा मजाक बताया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज