पूर्व केंद्रीय मंत्री केवी थॉमस की PM मोदी को सलाह, फोटो और न्यूज़ के इस्तेमाल के लिए सोशल मीडिया से रॉयल्टी ली जाए

पूर्व केंद्रीय मंत्री केवी थॉमस की PM मोदी को सलाह, फोटो और न्यूज़ के इस्तेमाल के लिए सोशल मीडिया से रॉयल्टी ली जाए
पूर्व केंद्रीय मंत्री केवी थॉमस

पूर्व केंद्रीय मंत्री केवी थॉमस (Former Union minister K V Thomas) के मुताबिक बड़े मीडिया घरानों को काफी ज्यादा पैसा निवेश करना पड़ता है. यहां बड़ी संख्या में कर्मचारी भी रखे जाते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 6, 2020, 11:33 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस के सीनियर नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री केवी थॉमस (Former Union minister K V Thomas) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सलाह दी है कि सोशल मीडिया (Social Media) से रॉयल्टी या फिर टैक्स की वसूली की जाए. उन्होंने इसको लेकर पीएम को एक चिट्ठी लिखी है. उनके मुताबिक सोशल मीडिया के आने से टीवी और प्रिंट मीडिया के लिए कॉम्पिटिशन काफी ज्यादा बढ़ गया है.

केवी थॉमस का तर्क
पूर्व केंद्रीय मंत्री केवी थॉमस के मुताबिक बड़े मीडिया घरानों को काफी ज्यादा पैसा निवेश करना पड़ता है.  यहां बड़ी संख्या में कर्मचारी भी रखे जाते हैं. जबकि सोशल मीडिया में काफी कम संख्या में लोग काम करते हैं. उन्हें काफी बड़ी संख्या में विज्ञापन मिलते हैं. यहां बिना जिम्मेदारी या जवाबदेही के दूसरों को प्लेटफॉर्म दिया जाता है. जबकि ये देश के आर्थिक विकास में सीधे योगदान भी नहीं देते हैंं. ऐसे में थॉमस ने सलाह दी कि फोटो और न्यूज़ का इस्तेमाल करने के लिए सोशल मीडिया से रॉयल्टी या टैक्स लिया जाएं.

ये भी पढ़ें:- बड़ी खबर: ट्यूशन फीस ले सकेंगे निजी स्कूल, कोर्ट ने सरकार का फैसला बदला
ऑस्ट्रेलिया में भी टैक्स लेने का फैसला


बता दें कि पिछले हफ्ते ऑस्ट्रेलिया ने गूगल और फेसबुक को समाचार सामग्री के बदले देश के मीडिया संस्थानों को भुगतान करने को कहा. मीडिया कंपनियों के साथ रेवेन्यू पर चर्चा के लिए सरकार तकनीकी कंपनियों को तीन महीने का समय दे सकती है. स्वतंत्र पत्रकारिता को बचाने के लिए ऑस्ट्रेलिया द्वारा उठाए गए इस कदम को ऐतिहासिक माना जा रहा है. अगर कंपनियां समझौता तोड़ती हैं, तो उन्हें अपने एक साल के टर्नओवर का 10 फीसद या 10 मिलियन ऑस्ट्रेलियाई डॉलर (लगभग 54 करोड़ रुपये) की पेनाल्टी भरनी होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज