Home /News /jharkhand /

laborer hand cut off by illegal crusher son was handicapped due to leg cut last year owner absconded bruk

मर गयी इंसानियत! क्रशर से कटा मजदूर का हाथ तो इलाज कराने की जगह संचालक हुआ फरार 

मजदूर के साथ हादसा होते ही क्रशर मालिक अपना दफ्तर बंद कर फरार हो गया.

मजदूर के साथ हादसा होते ही क्रशर मालिक अपना दफ्तर बंद कर फरार हो गया.

Jharkhand News: जिस पत्थर क्रशर प्लांट में सुरेश मोदी के साथ हादसा हुआ है वह सुरक्षा मानक के विपरीत संचालित किया जा रहा था, जहां थोड़ी सी चूक ने सुरेश मोदी को जीवन भर के लिए अपाहिज बना दिया. मजदूर सुरेश मोदी देवरी थाना क्षेत्र के जमखोखरो गांव का निवासी है, क्रशर भी उसी गांव में संचालित है. इसके संचालक बंशी मोदी है.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

मजदूर के साथ हादसा होते ही क्रेशर मालिक अपना दफ्तर बंद कर फरार हो गया.
काफी देर बाद पुलिस व स्थानीय लोगों के सहयोग से मजदूर को अस्पताल पहुंचाया गया.
पिछले साल क्रेशर से बेटे का भी पैर कट गया था.

रिपोर्ट- एजाज अहमद 

गिरिडीह. झारखंड के गिरिडीह जिले में मानवता को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है. दरअसल गिरिडीह के जमुआ और देवरी बॉर्डर पर जमखोखरो में संचालित एमएस बरनवाल स्टोन चिप्स नामक अवैध क्रशर्स में बीते देर शाम को असुरक्षा के बीच मजदूर सुरेश मोदी के बायां के हाथ दो टुकड़े हो गए. मजदूर के साथ हादसा होते ही क्रेशर मालिक बंसी मोदी अपना दफ्तर बंद कर फरार हो गया. हादसे के बाद घायल मजदूर कराहता रहा, लेकिन क्रशर मालिक की मानवता भी नहीं डोली और वह अपने मजदूर को अस्पताल भिजवाने की व्यवस्था करने के बजाय फरार हो गया.

काफी देर बाद पुलिस व स्थानीय लोगों के सहयोग से उसे अस्पताल पहुंचाया गया, जहां उसकी नाजुक स्थिति को देखते हुए इलाज के लिए रांची रेफर कर दिया गया. दरअसल पिछले वर्ष घायल मजदूर का पुत्र बिट्टू भी अपाहिज हो चुका है. सड़क हादसे में घायल होने के बाद उसे एक पैर गंवानी पड़ी थी. अब पिता अपना हाथ गंवा चुका है. पति और बेटे के अपाहिज होने के साथ ही द्रोपदी देवी छाती पीट-पीटकर रो रही है.

सुरक्षा मानकों को नजरंदाज कर चल रहा था प्लांट 
बिलखते हुए द्रोपदी ने बताया कि बेटे के अपाहिज होने के बाद पति मजदूरी कर भरण पोषण करता था. लेकिन, अब पति का भी एक साथ चला गया, अब परिवार का क्या होगा? दरअसल, जिसके पत्थर क्रशर प्लांट में सुरेश मोदी के साथ हादसा हुआ है वह सुरक्षा मानक के विपरीत संचालित किया जा रहा था, जहां थोड़ी सी चूक ने सुरेश मोदी को जीवन भर के लिए अपाहिज बना दिया. मजदूर सुरेश मोदी देवरी थाना क्षेत्र के जमखोखरो गांव का निवासी है, क्रशर भी उसी गांव में संचालित है. इसके संचालक बंशी मोदी है.

पुलिस ने सुरेश मोदी को पहुंचाया अस्पताल 

हालांकि सूचना मिलने के बाद देवरी थाना पुलिस मौके पर पहुंची और घायल सुरेश को अस्पताल पहुंचाया. वहीं पीड़ित के परिजनों का बयान लिया है और आगे की कार्रवाई में पुलिस जुट गई है. इस घटना को लेकर देवरी थाना प्रभारी सरोज सिंह ने भी बताया कि सूचना मिलते ही घटनास्थल पर वह पहुंचे और पीड़ित परिजनों का बयान लेकर मामले की तफ्तीश में पुलिस जुट गई है.

Tags: Giridih news, Jharkhand Government, Jharkhand news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर