2000 KM पैदल चलकर बेंगलुरु से गोंडा पहुंचा मजदूर, घर पहुंचते ही सांप ने ले ली जान

2000 KM पैदल चलकर बेंगलुरु से गोंडा पहुंचा मजदूर, घर पहुंचते ही सांप ने ले ली जान
लॉकडाउन के दौरान कई राज्यों में नाग-नागिन के वीडियो वायरल हुए. (प्रतीकात्मक फोटो)

2000 किमी पैदल चल बेंगलुरु से उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में अपने घर पहुंचे प्रवासी मजदूर (Migrant Workers) की सांप के काटने से मौत हो गई.

  • Share this:
बेंगलुरु. प्रवासी मज़दूरों (Migrant Workers) को उनके गृहराज्य पहुंचाने के लिए रेल मंत्रालय में कई श्रमिक स्पेशल ट्रेनों (Shramik Special Trains) चलाई हैं. लेकिन इसके बावजूद भी कई ऐसे मजदूर हैं जो पैदल ही अपने राज्य लौट रहे हैं. कई मजदूरों ने रास्ते में ही दुर्घटनाओं का शिकार हो अपनी जान गवां दी. बेंगलुरु से उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में लौटे एक ऐसे ही मजदूर की उस समय मौत हो गई जब घर पहुंचने के कुछ देर बाद ही उसे सांप ने काट लिया. व्यक्ति ने अपने घर पहुंचने के लिए 2000 किलोमीटर का लंबा सफ़र तय किया था.

12 मई को बेंगलुरू से घर के लिए हुआ था रवाना
लॉकडाउन के कारण हो रही दिक्कतों के चलते गोंडा के रहने वाले सलमान ने अपने घर जाने का निर्णय किया. सलमान ने 12 मई को बेंगलुरू से उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले के लिए यात्रा शुरू की थी. 15 दिन की लंबी यात्रा के बाद सलमान अपने घर पहुंचा तो उसकी खुशी का कोई ठिकाना नहीं रहा.

घर पहुंचते ही खेत में काट लिया सांप
सलमान के घर पहुंचने के कुछ देर बाद जब वह अपने खेत पर गया तो वहां उसे सांप ने काट लिया. ज्यादा देर हो जाने के कारण उसने खेत में ही दम तोड़ दिया. सलमान की मौत से परिवारवाले काफी सदमे में हैं.





भीड़ के चलते ट्रेन में नहीं मिली थी जगह
सलमान के साथियों ने बताया कि श्रमिक स्पेशल ट्रेन बहुत अधिक भीड़ होने के कारण उन लोगों को जगह नहीं मिली. उसके सभी साथियों ने मिल कर पैदल ही यात्रा करने का सोचा. उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के कारण नौकरी छूट गई थी, जो कुछ भी पैसा था वो भी ख़त्म हो गया था. खाने तक की दिक्कते आने लगी थी.

 

ये भी पढ़ें : कौन हैं वो शख्स जिन्हें इंडिया से है ऐतराज, क्यों बदलवाना चाहते हैं देश का नाम

 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading