लद्दाख LAC विवाद: तमिलनाडु में राजनाथ सिंह बोले- कोई भी देश की एक इंच जमीन पर कब्जा नहीं कर सकता

तमिलनाडु के सलेम में भाजयुमो के सम्मेलन को संबोधित करते राजनाथ सिंह.

तमिलनाडु के सलेम में भाजयुमो के सम्मेलन को संबोधित करते राजनाथ सिंह.

Tamil Nadu Election 2021: राजनाथ ने कहा, 'पीएम मोदी के नेतृत्व में हमारी सरकार ने कभी भी देश की एकता, क्षेत्रीय अखंडता और संप्रभुता के साथ कोई समझौता नहीं किया है और न ही हम ऐसा करेंगे.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 21, 2021, 7:45 PM IST
  • Share this:

सलेम (तमिलनाडु). केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को कहा कि भारत किसी भी देश को हमारी सीमा पर एकतरफा कार्रवाई की अनुमति नहीं देगा और इसे किसी भी कीमत पर रोका जाएगा. उन्होंने जोर देकर कहा कि कोई भी देश की एक इंच जमीन पर कब्जा नहीं कर सकता. वे तमिलनाडु के सलेम में भाजपा की युवा इकाई भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) के एक सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे.



इसके साथ ही राजनाथ ने बताया कि पूर्वी लद्दाख में पैंगोंग त्सो झील के पास से सैनिकों के पीछे हटने की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है, लेकिन दुर्भाग्य से कांग्रेस भारतीय सेना की वीरता पर संदेह करती है. उन्होंने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हमारी सरकार ने कभी भी देश की एकता, क्षेत्रीय अखंडता और संप्रभुता के साथ कोई समझौता नहीं किया है और न ही हम ऐसा करेंगे. राजनाथ ने कहा, 'भारत और भारतवासियों का मस्तक कभी नहीं झुकने देंगे.'



भारत-चीन के बीच 10वें दौर की बातचीत हुई

गौरतलब है कि पैंगोंग झील के उत्तरी एवं दक्षिणी छोर से भारत और चीन के सैनिकों, अस्त्र-शस्त्रों तथा अन्य सैन्य उपकरणों को हटाए जाने की प्रक्रिया पूरी होने के दो दिन बाद दोनों पक्षों ने 20 फरवरी को कोर कमांडर स्तर की 10वें दौर की सैन्य वार्ता की जिसमें चर्चा का मुख्य बिंदु पूर्वी लद्दाख में हॉट स्प्रिंग्स, गोगरा और देपसांग जैसे क्षेत्रों से भी सैन्य वापसी की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने का रहा.


ये भी पढ़ें: राजनाथ सिंह ने तमिल को बताया खूबसूरत भाषा, लेकिन इस बात के लिए मांगी माफी



ये भी पढ़ें: पुडुचेरी: कांग्रेस को 5वां झटका, फ्लोर टेस्ट से पहले विधायक ने दिया इस्तीफा



दोनों देशों के बीच सैन्य गतिरोध को नौ महीने हो गए हैं. समझौते के बाद दोनों पक्षों ने पैंगोंग झील के उत्तरी और दक्षिणी छोर क्षेत्रों से अपने-अपने सैनिकों को वापस बुला लिया है तथा अस्त्र-शस्त्रों, अन्य सैन्य उपकरणों, बंकरों एवं अन्य निर्माण को भी हटा लिया है. सूत्रों ने कहा कि 10वें दौर की वार्ता में चर्चा का मुख्य बिंदु अन्य इलाकों से भी वापसी की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने का है. दोनों पक्ष इसके लिए तौर-तरीकों पर चर्चा करने के लिए वार्ता कर रहे हैं.









(इनपुट भाषा से भी)


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज