लाइव टीवी

जम्मू-कश्मीर में नहीं रहेंगे इस जगह के पुलिसकर्मी, अपने प्रदेश में होगी तैनाती

भाषा
Updated: October 20, 2019, 5:39 PM IST
जम्मू-कश्मीर में नहीं रहेंगे इस जगह के पुलिसकर्मी, अपने प्रदेश में होगी तैनाती
लद्दाख के 380 से ज्यादा पुलिसकर्मियों को लद्दाख ट्रांसफर किया जाएगा.

कांस्टेबल से इंस्पेक्टर रैंक तक के इन पुलिसकर्मियों को दिल्ली (Delhi) और चंडीगढ़ (Chandigarh) जैसे अन्य केंद्रशासित प्रदेशों के पुलिसकर्मियों के जैसे वेतन एवं भत्ते मिलेंगे.

  • Share this:
नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर (Jammu & Kashmir) में विभिन्न स्थानों पर कार्यरत लद्दाख (Ladakh) के 380 से अधिक पुलिसकर्मियों को शीघ्र ही उनके नवगठित प्रदेश स्थानांतरित किया जाएगा. साथ ही उन्हें नए केंद्रशासित प्रदेश के प्रशासनिक नियंत्रण के अंतर्गत तैनात किया जाएगा. अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी. नया लद्दाख केंद्रशासित प्रदेश 31 अक्टूबर को अस्तित्व में आ जाएगा.

केंद्रीय गृह मंत्रालय (Union Home Ministry) ने जम्मू-कश्मीर पुलिस (Jammu Kashmir Police) की विभिन्न शाखाओं में कार्यरत पुलिसकर्मियों के तबादलों को मंजूरी दे दी है. मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘लद्दाख मूल के करीब 385 पुलिसकर्मियों के तबादलों को मंजूरी दे दी गई है और वे नए केंद्रशासित प्रदेश के अंतर्गत काम करेंगे. नया केंद्रशासित प्रदेश 31 अक्टूबर को अस्तित्व में आ जाएगा.’’

गृह मंत्रालय के अंतर्गत रहेगी लद्दाख पुलिस
ये पुलिसकर्मी लद्दाख केंद्रशासित प्रदेश पुलिस के साथ काम करेंगे. लद्दाख केंद्रशासित पुलिस सीधे गृह मंत्रालय के अंतर्गत रहेगी. कांस्टेबल से लेकर इंस्पेक्टर रैंक तक के इन पुलिसकर्मियों को चंडीगढ़ (Chandigarh) एवं अंडमान निकोबार द्वीप समूह (Andaman Nicobar Islands) जैसे अन्य केंद्रशासित प्रदेशों के पुलिसकर्मियों के जैसे वेतन एवं भत्ते मिलेंगे.

केंद्रशासित प्रदेश लद्दाख की पुलिस एवं कानून व्यवस्था उपराज्यपाल के प्रत्यक्ष नियंत्रण में होगी और केंद्र उपराज्यपाल के माध्यम से इस ऊंचाई वाले क्षेत्र का प्रशासन चलाएगा.

लद्दाख की नहीं होगी कोई विधानसभा
जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम, 2019 के अनुसार लद्दाख की विधानसभा नहीं होगी. यह अधिनियम कहता है कि जम्मू-कश्मीर के वर्तमान राज्य के आईएएस और आईपीएस नियुक्ति दिवस 31 अक्टूबर को और उस दिन से वर्तमान कैडरों के अंतर्गत काम करते रहेंगे. लेकिन भविष्य में जम्मू-कश्मीर और लद्दाख केंद्रशासित प्रदेशों में नियुक्त किये जाने वाले अखिल भारतीय सेवा अधिकारी अरुणाचल (Arunachal), गोवा (Goa), मिजोरम (Mizoram), केंद्रशासित प्रदेश कैडर से होंगे जो केंद्रशासित प्रदेश कैडर के नाम से चर्चित है.
Loading...

पांच अगस्त को केंद्र सरकार ने अनुच्छेद 370 (Article 370) में संशोधन कर जम्मू-कश्मीर को प्राप्त विशेष राज्य का दर्जा समाप्त कर दिया था और उसे जम्मू-कश्मीर एवं लद्दाख केंद्रशासित प्रदेशों में बांट दिया था.

ये भी पढ़ें-

भारतीय सेना ने PoK में टेरर कैंप्स किए तबाह, 35 आतंकी और 6 पाक सैनिक ढेर
J&K: तंगधार में पाकिस्तान की फायरिंग में दो जवान शहीद, एक आम शख्स की भी मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 20, 2019, 4:40 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...