फिल्म निर्माता पर देशद्रोह का मामला दर्ज, कहा था- लक्षद्वीप में कोविड फैलाने के लिए इस्तेमाल किया जैविक हथियार

फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना की फाइल फोटो

फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना की फाइल फोटो

लक्षद्वीप पुलिस ( Lakshadweep Police ) ने गुरुवार को फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना पर एक टीवी डिबेट के दौरान उनकी 'जैविक हथियार' टिप्पणी को लेकर देशद्रोह के आरोप में मामला दर्ज किया है.

  • Share this:

तिरुवनंतपुरम. लक्षद्वीप पुलिस ( Lakshadweep Police) ने गुरुवार को फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना (Aisha Sulthana) पर एक टीवी डिबेट के दौरान उनकी 'जैविक हथियार' टिप्पणी को लेकर देशद्रोह के आरोप में मामला दर्ज किया है. भाजपा की लक्षद्वीप इकाई के अध्यक्ष अब्दुल खादर द्वारा कवरत्ती पुलिस में शिकायत दर्ज कराने के बाद उनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया. शिकायत में दावा किया गया कि एक मलयालम चैनल में एक टीवी बहस के दौरान 'सुल्ताना केंद्र शासित प्रदेश में कोरोना के प्रसार के बारे में झूठी खबर प्रसारित कर रही है.'

खादर की शिकायत में लक्षद्वीप में चल रहे विवादास्पद सुधारों पर मलयालम चैनल 'मीडिया वन टीवी' पर हालिया बहस का हवाला दिया गया था जिसमें आयशा ने कथित तौर पर कहा था कि केंद्र द्वीपों पर 'जैव-हथियार' का उपयोग कर रहा है.

Aisha Sulthana ने क्या कहा ?

सुल्ताना ने आरोप लगाया था कि केंद्र सरकार ने लक्षद्वीप में कोविड के प्रसार के लिए 'जैविक हथियारों' का इस्तेमाल किया. भाजपा नेता ने कहा कि केंद्र द्वीपवासियों की देखभाल करने की कोशिश कर रहा है. क्या इस देखभाल के परिणामस्वरूप एकाएक कोविड मरीज़ों की संख्या बढ़ जाती है जहां शून्य मामले थे. कुछ दिन बाद प्रति दिन सैकड़ों मामले पाए जा रहे थे. उन्होंने जैविक हथियार का इस्तेमाल किया है. मैं एक बात बहुत स्पष्ट रूप से कह सकती हूं कि केंद्र ने उस स्थान पर जैव हथियार का उपयोग किया है, जहां शून्य मामले थे.'
डिबेट के दौरान ही बीजेपी नेता बीजी विष्णु ने सुल्ताना से कहा कि वह अपना आधारहीन बयान वापस लें. जब टीवी एंकर ने इस बयान पर स्पष्टीकरण मांगा, तो सुल्ताना ने द्वीप स्थिति की तुलना 'दुनिया के खिलाफ इस्तेमाल की जाने वाली चीनी वायरस के की खबरों' से की.


सुल्ताना ने दोहराया कि उन्होंने कहा कि वह टिप्पणी की जिम्मेदारी लेने के लिए तैयार हैं और इस बयान को दोहराया कि 'प्रशासक ने द्वीप में जैव हथियार का इस्तेमाल किया.' हालांकि एंकर ने इसे 'गंभीर मामला' करार दिया और कहा कि यह सुल्ताना का निजी विचार है. एक घंटे की  टीवी डिबेट में लक्षद्वीप के सांसद मोहम्मद फैजल और सीपीएम की कोमलम कोया ने भी हिस्सा लिया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज