कश्मीर में आतंकी साजिश भड़काने का नया प्लान! लश्कर के कमांडर ने लिखी खास किताब

लश्कर घाटी में टीआरएफ यानि 'द रेसिसटेंट फ्रंट' और PAFF यानि "Peoples anti fascist front" इन दो नामों से ऑपरेट कर रहा है.

साज़िश के तहत आतंक की इस किताब का लिंक सोशल मीडिया पर शेयर किया गया है ताकि घाटी में बड़े पैमाने पर इसका वितरण किया सके. इस किताब का नाम 'शोहदा की पुकार' रखा गया है, जिसका मतलब है शहीदों की पुकार. लश्कर ने घाटी में युवाओं की भर्ती के लिए ये नई चाल चली है.

  • Share this:
नई दिल्ली. जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में भारतीय सेना (Indian Army) और स्थानीय पुलिस द्वारा आतंकी साजिशों को लगातार नाकाम किया जा रहा है. सेना और पुलिस के कदमों से बौखलाए आतंकी रोजाना नई साजिश को अंजाम दे रहे हैं और अब लश्कर के कमांडर मोहम्मद अब्बास शेख उर्फ गाजी ओमर मुख्तार ने एक 93 पन्नों की किताब लिखी है.

साज़िश के तहत आतंक की इस किताब का लिंक सोशल मीडिया पर शेयर किया गया है ताकि घाटी में बड़े पैमाने पर इसका वितरण किया सके. इस किताब का नाम 'शोहदा की पुकार' रखा गया है, जिसका मतलब है शहीदों की पुकार. लश्कर ने घाटी में युवाओं की भर्ती के लिए ये नई चाल चली है.

दरअसल लश्कर घाटी में  टीआरएफ यानि 'द रेसिसटेंट फ्रंट' और PAFF यानि "Peoples anti fascist front" इन दो नामों से ऑपरेट कर रहा है. इसके पीछे का मक़सद लश्कर को "Indianise" कर इन नामों से घाटी में स्थानीय आतंकी संगठन के तौर पर स्थापित करना है. साथ ही जम्मू कश्मीर में आतंकवाद को जारी रखते हुए FATF यानी "फाइनेंसियल एक्शन टास्क फोर्स" को ये दिखाना है कि अब लश्कर और जैश जैसे पाक की ज़मीन से कंट्रोल किए जाने वाले आतंकी संगठन  जम्मू कश्मीर में सक्रिय नही हैं.

ये भी पढ़ें- फाइजर, मॉडर्ना के कोविड टीके पुरुषों की प्रजनन क्षमता को प्रभावित नहीं करते

ऐसा दिखाकर पाकिस्तान एफएटीएफ की ब्लैक लिस्ट से बचने और ग्रे लिस्ट से बाहर निकलने की कोशिश में है. गुरुवार को लश्कर ने सोपोर हमले पर प्रोपगेंडा वीडियो के जरिए सुरक्षा बलों को धमकी भी दी थी. वीडियो में 12 जून को जम्मू कश्मीर के सोपोर में हुए आतंकी हमले में हुई आम लोगों की मौत का जिम्मेदार सुरक्षा बलों को ठहराया गया और बदले की धमकी भी दी गई है. जम्मू कश्मीर के सोपोर में हुए इस हमले में तीन सिविलियन मारे गए थे जबकि दो पुलिस वाले शहीद हो गए थे.

20 दिनों में 3 बड़ी घटनाओं को दिया अंजाम
दरअसल कश्मीर में पिछले 20 दिनों में तीन बड़ी आतंकी घटनाओं को अंजाम दिया गया है और तीनों में ही "The Resistance front "यानी लश्कर की भूमिका है. बीते गुरुवार की रात को श्रीनगर के सफाकदल में जम्मू कश्मीर पुलिस के जावेद अहमद की हत्या से पहले सोपोर में आतंकी हमला और बीजेपी नेता राकेश पंडित हत्याकांड में भी "The Resistance front "की  ही भूमिका थी.

फिलहाल लश्कर की हर नई चाल पर सुरक्षा एजेंसियों की पैनी नज़र है और नए नान से घाटी में सिर उठाने  की उसकी कोशिशों को कुचलने की  रणनीति भी तैयार की जा चुकी है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.