कश्मीर छोड़कर जम्मू का रुख कर रहे हैं आतंकी, जानिए क्या है प्लान?

News18Hindi
Updated: September 9, 2019, 11:12 PM IST
कश्मीर छोड़कर जम्मू का रुख कर रहे हैं आतंकी, जानिए क्या है प्लान?
भारतीय सेना (Indian Army) की कड़ी निगरानी और मुस्तैदी के चलते आतंकियों के लिए कश्मीर (Kashmir) में ऑपरेट करना मुश्किल हो रहा है. सुरक्षा के इंतेजामात इतने कड़े हैं कि आतंकियों के मूवमेंट तक बंद है.

भारतीय सेना (Indian Army) की कड़ी निगरानी और मुस्तैदी के चलते आतंकियों के लिए कश्मीर (Kashmir) में ऑपरेट करना मुश्किल हो रहा है. सुरक्षा के इंतेजामात इतने कड़े हैं कि आतंकियों के मूवमेंट तक बंद है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 9, 2019, 11:12 PM IST
  • Share this:
(संदीप बोल)

श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से आर्टिकल 370 (Article 370) के बाद से ही बौखलाया पाकिस्तान (Pakistan) भारत (India) में आतंकी घटनाओं को अंजाम देने की लगातार कोशिशें कर रहा है. हालांकि भारतीय सेना (Indian Army) पाकिस्तान को उसके हर मंसूबे में फेल कर रही है. ऐसे में कश्मीर (Kashmir) में आतंकियों की दाल गल नहीं रही है इसलिए वह अब जम्मू (Jammu) की तरफ़ रुख कर रहे हैं.

ख़ुफ़िया एजेंसियों ने एक अलर्ट जारी किया है, जिसमें ये कहा गया है कि लश्कर-ए-तैयबा (Lashkar-E-Taiba) के चार आतंकवादी जम्मू  में आतंकी हमले की फ़िराक़ में हैं और शोपियां (Shopian) से जम्मू पहुंच भी गए हैं. ख़ुफ़िया जानकारी के मुताबिक़ ये चारों आतंकी बिना किसी हथियार के जम्मू पहुंचे हैं. बताया ये भी जा रहा है कि वो शुंजुआ के आस-पास के रिहायश में रह रहे है. इनके निशाने में सांबा के बारी ब्रामना, शुंजुआन और कालूचक के सेना के कैंप और मिलिट्री इंस्टालेशन हैं.

भारतीय सेना ने आतंकियों को किया पस्त 

भारतीय सेना की कड़ी निगरानी और मुस्तैदी के चलते आतंकियों के लिए कश्मीर में ऑपरेट करना मुश्किल हो रहा है. सुरक्षा के इंतेजामात इतने कड़े हैं कि आतंकियों के मूवमेंट तक बंद हैं. जानकारों की मानें तो ऐसे में आतंकी बिना किसी हथियारों के जम्मू पहुंचे हैं और उनको हथियार वहां पर मौजूद ओवर ग्राउंड वर्करों के जरिए पहुंचाए जाने हैं.

गर्मियों में जम्मू को निशाना बनाने की कर रहे साजिश
वैसे तो आतंकी गर्मियों के मौसम में जम्मू का रुख कम ही करते हैं, गर्मियों में आतंकी सिर्फ कश्मीर में ही आतंकी वारदातों को अंजाम देते रहे हैं. जब सर्दियों में बर्फबारी के चलते वारदातों को अंजाम देना मुश्किल हो जाता है तो ये जम्मू की तरफ़ शिफ़्ट हो जाते हैं लेकिन इस बार उल्टा है आतंकी गर्मियों में जम्मू में सेना के कैंप और इंस्टॉलेशन को निशाना बनाने की फ़िराक़ में है. इससे पहले साल 2018 में जैश के आतंकियों ने शुंजुंवा में सेना के कैंप पर फ़िदायीन हमला किया था.
Loading...

ये भी पढ़ें-
पाक की मदद से 'आकाओं' के संपर्क में हैं आतंकी, भारतीय सेना ने किया पर्दाफाश

लावारिस नावें मिलने के बाद सेना ने कहा- किसी बड़े हमले की फिराक में आतंकी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 9, 2019, 7:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...