होम /न्यूज /राष्ट्र /

सुप्रीम कोर्ट पहुंचे शुभेंदु अधिकारी, कहा- बंगाल से बाहर ट्रांसफर करें CM की चुनाव याचिका

सुप्रीम कोर्ट पहुंचे शुभेंदु अधिकारी, कहा- बंगाल से बाहर ट्रांसफर करें CM की चुनाव याचिका

ममता बनर्जी ने दी है  अधिकारी के निर्वाचन को चुनौती. (File Pic)

ममता बनर्जी ने दी है अधिकारी के निर्वाचन को चुनौती. (File Pic)

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता शुभेंदु अधिकारी ( Suvendu Adhikari) ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का दरवाजा खटखटाते हुए नंदीग्राम से उनकी जीत के खिलाफ ममता बनर्जी द्वारा दाखिल चुनाव याचिका को पश्चिम बंगाल से बाहर स्थानांतरित करने का अनुरोध किया है. अधिकारी एक समय मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee ) के करीबी सहयोगी थे और वह बाद में भाजपा (BJP ) में शामिल हो गए थे. वह अभी राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता हैं. उन्होंने विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी को 1,956 मतों से पराजित किया था.

अधिक पढ़ें ...
    नयी दिल्ली. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता शुभेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari)  ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का दरवाजा खटखटाते हुए नंदीग्राम से उनकी जीत के खिलाफ ममता बनर्जी द्वारा दाखिल चुनाव याचिका को पश्चिम बंगाल से बाहर स्थानांतरित करने का अनुरोध किया है. अधिकारी एक समय मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee)  के करीबी सहयोगी थे और वह बाद में भाजपा (BJP)  में शामिल हो गए थे. वह अभी राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता हैं. उन्होंने विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी को 1,956 मतों से पराजित किया था.

    वकील कबीर बोस ने कहा कि भाजपा नेता ने कलकत्ता उच्च न्यायालय में लंबित ममता बनर्जी की याचिका को राज्य के बाहर स्थानांतरित करने का अनुरोध किया. याचिका में नंदीग्राम निर्वाचन क्षेत्र से विजयी रहे शुभेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) की जीत को चुनौती दी गई है. चुनाव आयोग ने नंदीग्राम निर्वाचन क्षेत्र से अधिकारी को विजेता और तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष बनर्जी को उपविजेता घोषित किया था. बता दें बनर्जी ने ईवीएम मशीनों से छेड़छाड़ और चुनाव आयोग के संबंधित अधिकारी द्वारा दोबारा मतगणना की मांग को ठुकराने का आरोप लगाते हुए नतीजों की घोषणा के बाद कहा था कि इस मुद्दे को लेकर अदालत का दरवाजा खटखटाया जाएगा.



    ये भी पढ़ें :  दिल्ली पुलिस पर 25,000 का जुर्माना, दंगा पीड़ित की रिपोर्ट नहीं लिखने का मामला

    ये भी पढ़ें :  पहले पति, फिर पिता की मौत; बाड़मेर की लक्ष्मी ने RAS परीक्षा में जिद से रची सफलता की इबारत

    अगली सुनवाई 12 अगस्त को, कलकत्ता हाईकोर्ट की जस्टिस शंपा सरकार करेंगी

    पश्चिम बंगाल में बीजेपी के नेता शुभेंदु अधिकारी के नंदीग्राम विधानसभा सीट से निर्वाचन को चुनौती देने वाली पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की याचिका पर अगली सुनवाई 12 अगस्त को होगी. मामले की सुनवाई कलकत्ता हाईकोर्ट की जस्टिस शंपा सरकार करेंगी. इस मामले की 14 जुलाई को हुई सुनवाई कोलकाता हाईकोर्ट के जस्टिस कौशिक चंद ने की. इससे पहले की सुनवाई में जस्टिस चंदा ने कहा था कि सीएम ममता बनर्जी को सुनवाई के पहले दिन पेश होना होगा क्योंकि यह एक चुनाव याचिका है. मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी के वकील ने इस पर हाईकोर्ट में कहा था कि वह कानून का पालन करेंगी. तृणमूल कांग्रेस प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने अपनी याचिका में बीजेपी विधायक शुभेंदु अधिकारी पर जन प्रतिनिधि कानून, 1951 की धारा 123 के तहत भ्रष्ट आचरण अपनाने का आरोप लगाया है. ममता बनर्जी ने याचिका में यह भी दावा किया है कि चुनाव प्रक्रिया में खमियां थीं.


    ममता को पहली बार मिली हार, छह महीने के भीतर उपचुनाव लड़ना होगा  

    हाल ही में संपन्न हुए चुनाव मेंअधिकारी ने नंदीग्राम सीट 1,956 मतों से जीती थी, जिससे ममता को 32 वर्षों में पहली चुनावी हार का सामना करना पड़ा. बंगाल चुनाव में प्रचंड जीत के बाद ममता बनर्जी ने लगातार तीसरी बार जीत हासिल की. हालांकि नंदीग्राम में उन्हें खुद एक छोटे अंतर से हार का सामना करना पड़ा. मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बने रहने के लिए, बनर्जी को छह महीने के भीतर उपचुनाव लड़ना होगा और राज्य विधानसभा का सदस्य बनना होगा.undefined

    Tags: BJP, CM Mamata Banerjee, Election, Petition in Supreme Court, Supreme Court, Suvendu Adhikari

    अगली ख़बर