अरुण जेटली के अंतिम दर्शन के लिए पहुंचे राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति समेत कई दिग्गज नेता

News18Hindi
Updated: August 24, 2019, 11:44 PM IST
अरुण जेटली के अंतिम दर्शन के लिए पहुंचे राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति समेत कई दिग्गज नेता
पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का पार्थिव शरीर राष्ट्रीय राजधानी के कैलाश कालोनी स्थित उनके आवास पर ले जाया गया जहां राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद एवं भाजपा अध्यक्ष अमित शाह सहित विभिन्न नेताओं ने उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए.

66 के अरुण जेटली का शनिवार को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया. उनके परिवार में पत्नी एवं बच्चे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 24, 2019, 11:44 PM IST
  • Share this:
पूर्व वित्त मंत्री अरूण जेटली (Arun Jaitley) का पार्थिव शरीर राष्ट्रीय राजधानी के कैलाश कालोनी स्थित उनके आवास पर ले जाया गया जहां राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद एवं भाजपा अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) सहित विभिन्न नेताओं ने उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए. 66 के अरुण जेटली का शनिवार को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया. उनके परिवार में पत्नी एवं बच्चे हैं. बाद में भाजपा नेता का पार्थिव शरीर उनके आवास पर लाया गया.

विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं एवं भाजपा (BJP) कार्यकर्ताओं तथा उनके प्रशंसकों ने जेटली को अंतिम विदाई दी. जेटली का पार्थिव शरीर कांच के ताबूत में रखा गया. नेताओं ने इस दौरान श्रद्धासुमन अर्पित किये और पुष्पचक्र चढ़ाया.

केंद्रीय मंत्री अमित शाह, राजनाथ सिंह, निर्मला सीतारमण पीयूष गोयल, हर्षवर्धन, जितेंद्र सिंह और एस. जयशंकर के अलावा भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा सहित विभिन्न नेताओं ने जेटली को अंतिम विदाई दी.

कांग्रेस के कई नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला, कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद, अहमद पटेल, दिग्विजय सिंह, ज्योतिरादित्य सिंधिया, राजीव शुक्ला के अलावा केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान तथा उनके पुत्र चिराग पासवान ने भी दिवंगत नेता को अंतिम विदाई दी.

योगी आदित्यनाथ और अरविंद केजरीवाल, नवीन पटनायक, कमलनाथ समेत विभिन्न मुख्यमंत्रियों ने उनके आवास पर जा कर उन्हें श्रद्धांजलि दी. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, ‘‘वह अंतरराष्ट्रीय मंच पर भी प्रसिद्ध थे. मंत्री रहते हुए देश उनके योगदान को कभी नहीं भूल सकता है . वह देश और पार्टी के लिए संपत्ति थे . अब वह हमारे बीच नहीं हैं और मैं उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं.’’

अहमद पटेल बोले- देश को क्षति हुई
Loading...

अहमद पटेल ने कहा हालांकि जेटली दूसरी पार्टी में थे, जिसकी अलग विचारधारा है लेकिन उनका सबके साथ सद्भाव था. कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘उनकी तरह के बहुत कम लोग हैं . उनके निधन से न केवल भाजपा को बल्कि देश को भी क्षति हुई है.’’

दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की गोद ली गयी पुत्री नमिता कौल ने भी जेटली के पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र चढ़ाया . दिवंगत भाजपा नेता सुषमा स्वराज की बेटी बांसुरी स्वराज भी जेटली के आवास पर पहुंचीं.

केजरीवाल बोले- उनकी कमी खलेगी
केजरीवाल ने कहा, ‘‘जेटली देश के बेहतरीन राजनेताओं में से एक थे . वह एक महान व्यक्ति और प्रखर वक्ता थे . मेरे साथ उनके अच्छे संबंध थे और इस नुकसान की भारपाई किसी तरह से नहीं होगी. दिल्ली को उनकी कमी खलेगी.’’

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने जेटली को ‘‘शानदार सांसद एवं बेहतरीन मंत्री’’ के रूप में याद किया, जिनकी कमी कई लोग महसूस करेंगे. उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने जेटली को ‘‘संवेदनशील’’ व्यक्ति, प्रखर वक्ता और कुशल राजनेता बताया जिन्होंने रक्षा, कानून सहित कई अन्य विभाग पूरी दक्षता के साथ निभाई.

इन नेताओं ने दी श्रद्धांजलि
शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर बादल, उनकी पत्नी एवं केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर भी दिवंगत पूर्व केंद्रीय मंत्री के आवास पर मौजूद थे. पूर्व वित्त मंत्री को श्रद्धा सुमन अर्पित करने वालों में पूर्वी दिल्ली के सांसद गौतम गंभीर, राज्यवर्द्धन सिंह राठौड़, मीनाक्षी लेखी, अनुराग ठाकुर और प्रवेश साहिब सिंह वर्मा शामिल हैं.

भाजपा नेता विजय गोयल ने कहा, ‘‘हम दोनों ने श्रीराम कॉलेज ऑफ कामर्स में एक साथ छात्र संघ का चुनाव लड़ा. वह अध्यक्ष बने और मैं सचिव बना. तब से उनके साथ मेरे संबंध बहुत बेहतर रहे हैं. पश्चिम दिल्ली के सांसद प्रवेश साहिब सिंह वर्मा ने कहा, ‘‘मुझे विश्वास नहीं हो रहा कि हमने उन्हें खो दिया है . यह देश के लिए और मेरे लिए एक बड़ी क्षति है.’’

ये भी पढ़ें-
अरुण जेटली के आवास पर तीन घंटे से अधिक समय तक रुके रहे शाह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 24, 2019, 12:47 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...