Home /News /nation /

भारत के इस मंदिर से आज भी घबराते हैं पाकिस्तान के सैनिक, जानिए पूरी कहानी!

भारत के इस मंदिर से आज भी घबराते हैं पाकिस्तान के सैनिक, जानिए पूरी कहानी!

तनोट मां जो देवी घंटियाली की बहन हैं

तनोट मां जो देवी घंटियाली की बहन हैं

आक्रमण के दौरान जब पाक सैनिक युद्ध करते करते मंदिर के परिसर में पहुंचकर तोड़फोड़ करने लगे तो जो हुआ वो किसी चमत्कार से कम नहीं था.

    देश की रक्षा के लिए सीमा पर जवान दिन-रात, सर्दी, बर्फ़बारी, बारिश की परवाह किए बिना पूरी लगन से मुस्तैद रहते हैं. उनके ऊपर भगवान की छत्रछाया और आशीर्वाद भी रहता है. जिसके चलते वो दुश्मनों के छक्के छुड़ाने में कामयाब होते हैं. ऐसा माना जाता है कि देवी-देवता अदृश्य रूप में हमारे जवानों की मदद करते हैं. जब सन 1965 और 1971 में पाकिस्तान ने भारत पर हमले में बमबारी की तो कुछ बम सीमा पर बने मंदिरों पर जाकर गिरे लेकिन 1 भी बम नहीं फटा. इसे भगवान का चमत्कार ही कहा जा सकता है.

    Maghi Purnima 2019: इस दिन है माघ पूर्णिमा, भगवान विष्णु करते हैं गंगा में निवास, स्नान करने पर मिलता है मनचाहा फल!

    आइए जानते हैं इन चमत्कारी मंदिरों के बारे में.

    यह चमत्कारी मंदिर पाकिस्तान बॉर्डर के बेहद करीब जैसलमेर में है. यह मंदिर है देवी घंटियाली का. इस मंदिर में माता ने ऐसा चमत्कार किया था जिसे सुनकर आज भी लोगों की रूह कांप उठती है.

    पाकिस्तान ने 1965 में भारत पर आक्रमण के दौरान जब पाक सैनिक युद्ध करते करते मंदिर के परिसर में पहुंचकर तोड़फोड़ करने लगे तो जो हुआ वो किसी चमत्कार से कम नहीं था.

    कुमार विश्वास ने पढ़ी शहीदों के नाम कविता, जिसे सुनकर रो पड़े लाखों लोग!

    मान्यता है कि जब ऐसा हुआ तो पाकिस्तानी सैनिकों का दिमाग जैसे काम करना बंद कर दिया. मंदिर में तोड़फोड़ मचा रहे पाक सैनिक किसी बात को लेकर आपस में ही बहुत बुरी तरह से उलझ गए और उनमें बुरी तरह मार-काट हुई.

    कुछ सैनिक नजर बचाकर मां के मंदिर में जा छिपे. लेकिन मां के जेवर देखकर उनके मन में लालच आ गया और उन्होंने मां के गहने चुराने की कोशिश की. ऐसा माना जाता है कि इस प्रयास में उनकी आंखों की रौशनी चली गई.

    क्या भगवान कृष्ण ने किया था राधा से विवाह, या थीं वो किसी और की पत्नी? जानें सच्चाई

    यहां के मूल निवासियों और जवानों का विश्वास है कि पाकिस्तान द्वारा 1965 के इस हमले में उन्हें मां की ही कृपा की वजह से जीत मिली. ऐसा माना जाता है कि देवी घंटियाली माता तनोट की बहन हैं.

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

     

    Tags: Lifestyle, Pulwama, Rajasthan news, Religion, Up news in hindi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर