लाइव टीवी

देश में प्रदूषण के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखी चिट्ठी, कहा- हम स्वास्थ्य आपातकाल की स्थिति में

News18Hindi
Updated: November 4, 2019, 3:46 AM IST
देश में प्रदूषण के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखी चिट्ठी, कहा- हम स्वास्थ्य आपातकाल की स्थिति में
नासा के उपग्रह से ली गई तस्वीरों में पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार के अलावा झारखंड एवं पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों में धुंध की चादर छाई हुई है। (AP Photo/Manish Swarup)

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में रविवार को शाम चार बजे 24 घंटे का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 494 दर्ज किया गया जो छह नवंबर 2016 के बाद से सर्वाधिक है. उस दिन एक्यूआई 497 था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 4, 2019, 3:46 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में प्रदूषण (Pollution)की समस्या पर त्वरित कार्रवाई करने का आग्रह करते हुए पर्यावरणविदों के एक समूह ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) को पत्र लिखा. इस पत्र में खासतौर पर तीन साल में सबसे खराब वायु गुणवत्ता वाले शहर दिल्ली (Delhi) को लेकर कदम उठाने का आग्रह किया गया है.

पत्र में लिखा गया, 'हम भारत के लोग आपसे अनुरोध करते हैं कि कृपया वायु प्रदूषण की गंभीर समस्या को हल करने के लिए कोई बड़ा कदम उठाएं. पूरे देश में, विशेष रूप से उत्तर के मैदानी क्षेत्र और दिल्ली में धुंध के कारण स्थिति घातक है जिसका हमारे स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है. हमारे डॉक्टरों के अनुसार हम राष्ट्रीय स्वास्थ्य आपातकाल की स्थिति में हैं.'

इन पर्यावरणविदों में केयर फॉर एयर की ज्योति पांडे, माय राइट टू ब्रीथ की रवीना राज कोहली, यूनाइटेड रेजिडेंट्स ज्वाइंट एक्शन के अतुल गोयल और क्लीन एयर कलेक्टिव के बृकेश सिंह शामिल हैं. बता दें प्रदूषण की वजह से गाजियाबाद, नोएडा, गुरुग्राम और फरीदाबाद के सभी सरकारी एवं निजी स्कूल मंगलवार तक बंद रहेंगे. अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी.

गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद प्रशासन ने कहा कि यह फैसला दीवाली के बाद से वातावरण में पीएम10 और पीएम 2.5 के बढ़े स्तर और उसकी वजह से खराब हुई हवा की गुणवत्ता की वजह से लिया गया है.

प्रदूषण, भारत में प्रदूषण, दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण, दिल्ली में प्रदूषण, वायु गुणवत्ता सूचकांक, दिल्ली में प्रदूषण,pollution, pollution in india, pollution in delhi ncr, pollution in delhi, air quality index, aqi of delhi,narendra modi, नरेंद्र मोदी
(AP Photo/Manish Swarup)


इन जिलों में बंद हैं स्कूल
गौतमबुद्ध नगर (Gautam Buddha Nagar)के जिलाधिकारी बीएन सिंह ने लिखित आदेश में कहा, ‘बच्चों को स्कूल ले जाने में इस्तेमाल होने वाले वाहनों से बड़ी मात्रा में पीएम2.5 और पीएम10 का उत्सर्जन होता है तथा ऐसे वाहनों के परिचालन से स्थिति और खराब होगी. इसलिए गौतमबुद्ध नगर जिले में 12वीं कक्षा तक के सभी स्कूलों को चार नवंबर और पांच नवंबर को भी बंद रखने का फैसला किया गया है.’
Loading...

प्रदूषण से बच्चों की सेहत पर पड़ने वाले असर को देखते हुए गाजियाबाद (Ghaziabad) के जिलाधिकारी अजय शंकर पाण्डेय ने भी इसी तरह का आदेश जारी किया है. दिल्ली सरकार शुक्रवार को ही सभी स्कूलों को मंगलवार तक बंद रखने की घोषणा कर चुकी है. हरियाणा (Haryana) में स्कूली शिक्षा विभाग ने गुरुग्राम और फरीदाबाद के जिला उपायुक्तों को दिए आदेश में कहा कि वे यह सुनिश्चित करें कि सोमवार और मंगलवार को सभी सरकारी एवं निजी स्कूल बंद रहे.

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के (Central Pollution Control Board) आंकड़ों के मुताबिक शनिवार से रविवार शाम चार बजे तक वायु गुणवत्ता सूचकांक नोएडा में 495, ग्रेटर नोएडा में 482, गाजियाबाद में 491, गुरुग्राम में 486 और फरीदाबाद में 496 रहा. सभी शहरों में यह ‘ गंभीर’ श्रेणी में है जिससे लोगों की सेहत, खासतौर पर मरीजों की सेहत पर गंभीर असर पड़ेगा. गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट की ओर से अधिकृत पैनल ने गंभीर हालात से निपटने के लिए शुक्रवार को दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में जन स्वास्थ्य आपातकाल की घोषणा करते हुए सभी निर्माण कार्यों और पटाखा जलाने पर रोक लगा दी थी.

यह भी पढ़ें: मौसम विभाग की 'भविष्यवाणी'- इस दिन दिल्ली-NCR को मिलेगी जहरीली हवाओं से राहत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 4, 2019, 3:35 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...