होम /न्यूज /राष्ट्र /भारतीय सेना को मिला पहला लाइट कॉम्बैट हेलिकॉप्टर, सीमा पर निगरानी के साथ दुश्मनों पर करेगा घातक हमला

भारतीय सेना को मिला पहला लाइट कॉम्बैट हेलिकॉप्टर, सीमा पर निगरानी के साथ दुश्मनों पर करेगा घातक हमला

HAL ने स्वदेशी लाइट कॉम्बैट हेलिकॉप्टर गुरुवार को भारतीय सेना को सौंपा. (फोटो- ट्विटर/@adgpi)

HAL ने स्वदेशी लाइट कॉम्बैट हेलिकॉप्टर गुरुवार को भारतीय सेना को सौंपा. (फोटो- ट्विटर/@adgpi)

Light Combat Helicopter: आर्मी एवियेशन कोर में इस विशेष हेलिकॉप्टर को शामिल किया गया है. इस लाइट कॉंबेट हेलिकॉप्टर के थ ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड ने लाइट कॉम्बैट हेलिकॉप्टर भारतीय सेना को सौंपा.
सेना इस तरह के 95 हेलिकॉप्टर और खरीदेगी.
यह 51.10 फीट लंबा, 15.5 फीट ऊंचा है. इसका वजन 5800 किलोग्राम है.

नई दिल्ली. हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) ने देश में निर्मित स्वदेशी लाइट कॉम्बैट हेलिकॉप्टर गुरुवार को भारतीय सेना को सौंपा. आर्मी एवियेशन कोर में इस विशेष हेलिकॉप्टर को शामिल किया गया है. इस लाइट कॉंबेट हेलिकॉप्टर के थल सेना के एवियेशन कोर में शामिल होने के बाद भारतीय सेना की कॉबेट ताक़त में ज़बरदस्त इजाफा माना जा रहा है. 3 अक्टूबर भारतीय वायुसेना में भी लाइट कॉम्बैट हेलिकॉप्टर (LCH) को आधिकारिक तौर पर शामिल किया जाएगा. खुद रक्षामंत्री राजनाथ सिंह जोधपुर में वायुसेना को लाइट कॉंबेट हेलिकॉप्टर सौंपेंगे.

पाकिस्तान से लगती सीमा के जोधपुर एयर बेस पर इसे स्थापित किया जाएगा. वायुसेना के पहला पहला LCH स्कवाडर्न ये हैलिकॉप्टर स्वदेशी रूप से डिज़ाइन और विकसित किया है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इससे पाकिस्तान सीमा की निगरानी आसान हो जाएगी. सेना इस तरह के 95 और हेलिकॉप्टर खरीदेगी. इनकी सात यूनिट्स बनाई जाएंगी. जिन्हें सात अलग-अलग पहाड़ी इलाकों पर तैनात किया जाएगा. इस लाइट कॉम्बैट हेलिकॉप्टर की खासियत की बात करें तो इसमें दो लोग बैठ सकते हैं. यह 51.10 फीट लंबा, 15.5 फीट ऊंचा है. इसका वजन 5800 किलोग्राम है.

6500 फीट की ऊंचाई तक उड़ सकता है लाइट कॉम्बैट हेलिकॉप्टर
इसमें 700 किलोग्राम वजन के हथियार लगाए जा सकते हैं. यह अधिकतम 268 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से उड़ सकता है. इसकी रेंज 550 किलोमीटर है. एक बार में यह लगातार 3 घंटे 10 मिनट उड़ सकता है. यह अधिकतम 6500 फीट की ऊंचाई तक जा सकता है. लाइट कॉम्बैट हेलिकॉप्टर में मौजूद चार हार्डप्वाइंट्स में रॉकेट, मिसाइल व बम फिट किये जा सकते हैं. ये हवा से सतह और एयर टू एयर में हमला करने में सक्षम हैं.

दुश्मनों की मिसाइलों और रॉकेटों को कर देगा फेल
इसमें क्लस्टर म्यूनिशन, अनगाइडेड बम और ग्रैनेड लॉन्चर लगाए जा सकते हैं. इस हेलिकॉप्टर में शैफ और फ्लेयर डिस्पेंस भी हैं ताकि दुश्मन की मिसाइलों और रॉकेटों को फेल किया जा सके. इसको सेना में शामिल करने पर पुराने Mi-35 और Mi-25 हेलिकॉप्टरों को हटाया जा सकेंगे. बता दें कि इन दोनों हेलिकॉप्टरों को रूस ने बनाए थे.

Tags: HAL, Indian army

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें