• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • गीर से आई अच्छी खबर, एक साथ 100 शेरनियां गर्भवती

गीर से आई अच्छी खबर, एक साथ 100 शेरनियां गर्भवती

गुजरात का गीर जंगल दुनिया में अकेला ऐसा जंगल है जो एशियाई बब्बर शेर का निवास है। गीर के अभ्यारण्य से हमेशा दिलचस्प खबरें मिलती रहती हैं...

गुजरात का गीर जंगल दुनिया में अकेला ऐसा जंगल है जो एशियाई बब्बर शेर का निवास है। गीर के अभ्यारण्य से हमेशा दिलचस्प खबरें मिलती रहती हैं...

गुजरात का गीर जंगल दुनिया में अकेला ऐसा जंगल है जो एशियाई बब्बर शेर का निवास है। गीर के अभ्यारण्य से हमेशा दिलचस्प खबरें मिलती रहती हैं...

  • Share this:
    जूनागढ़, गुजरात। गुजरात का गीर जंगल दुनिया में अकेला ऐसा जंगल है जो एशियाई बब्बर शेर का निवास है। गीर के अभ्यारण्य से हमेशा दिलचस्प खबरें मिलती रहती हैं। इस बार शेर के शौकीन और वन्यप्रेमियों के लिए अच्छी खबर मिल रही है। अच्छी खबर यह है कि गीर के अभ्यारण्य में रह रहे बब्बर शेर की आबादी में जबर्दस्त इजाफा होने वाला है। गुजरात के जंगलों में करीब 125 शेरनियों में से 100 गर्भवती हैं, यानि इस मॉनसून में 200 शावकों की दहाड़ जंगल में सुनाई देंगी। वन विभाग के कर्मचारी और शेर प्रेमी इस खबर से खासे खुश हैं।

    एक समय था जब 10 में से 12 शेर ही इस जंगल में बच्चे थे मगर जूनागढ़ के नवाब ने शेर के शिकार पर प्रतिबंध लगा दिया। तभी से शेर की आबादी धीरे धीरे बढ़ने लगी। वैसे तो गीर का जंगल 1412 चोरस किलोमीटर में फैला हुआ है लेकिन शेर की आबादी बढ़ने के कारण अब शेर सौराष्ट्र के जूनागढ़, अमरेली, सोमनाथ, भावनगर और पोरबंदर जिले के कुल 22000 चोरस किलोमीटर विस्तार में रहने लगे है।

    पिछले वर्ष मई 2015 में हुई आखरी गिनती के अनुसार सौराष्ट्र में 109 नर शेर, 201 शेरनियां और 213 शावक थे। वन विभाग के मुख्य वन संरक्षक डॉ. ए. पी. सिंह ने बताया कि लायन कन्जर्वेशन के कारन शेर के बल मृत्य दर कम हो गई है इसलिए शेर की शंख्या में काफी बढ़ोतरी हो रही है। डॉ. सिंह ने कहा कि वन विभाग अध्ययन रेस्क्यू सेन्टर, स्टाफ की सतर्कता के कारण नवजात शावकों को बचाने में सफलता मिलती है इसलिए शावकों की शंख्या बढ़ रही है।

    पिछली बार मई 2015 में जब शेर की आबादी की गिनती हुई थी तब आबादी का वृद्धि अंक 27 प्रतिशत था, मगर इस बार यह आंकड़ा बढ़ने की संभावना है। गीर वन विभाग के अनुभवी नायब वन संरक्षक नवल अपारनाथी का कहना है कि जिस तरह से आबादी का ग्रोथ हो रहा है इससे पता चलता है कि करीब 200 शेरनी में से आधी शेरनी ने बच्चों को जन्म दिया तो करीब 150 से 200 शावक और आ जाएंगे। नायब वन संरक्षक अपारनाथी ने बताया की ज्यादातर शेरनी 3 बच्चों को जन्म देती है कभी कभी 4 बच्चें भी जन्म लेते हैं और दुर्लभ केस में 5 बच्चों का भी जन्म होता है।

    जानकारी के अनुसार गीर के एक बड़े शेर परिवार की 6 में से 5 शेरनी गर्भवती है और अगर तीन बच्चे के जन्म को मानकर चले तो एक ही शेर परिवार में 15 शावकों का इजाफा हो सकता है।

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज