राहुल गांधी ने शेयर किया वीडियो, प्रवासी मजदूरों ने बताया अपना दर्द

राहुल गांधी
राहुल गांधी

कोरोनावायरस के चलते देश भर में लागू लॉकडाउन की वजह से मजदूरों के पलायन पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक डॉक्यूमेंट्री जारी की.

  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) मजदूरों से जुड़ी एक डॉक्यूमेंट्री जारी की. इस डॉक्यूमेंट्री में राहुल मजदूरों से पूछते दिख रहे हैं कि उनके पास पैसा है या नहीं. उन्हें लॉकडाउन के बारे में कैसे पता चला. राहुल ने जिन मजदूरों से बात की वह यूपी स्थित झांसी के निवासी हैं. मजदूरों ने बताया कि वे हरियाणा की एक फैक्ट्री में काम करते थे.

मजदूरों ने बताया कि घर से बाहर निकलना गुनाह हो गया था. पुलिस तो पुलिस, स्थानीय लोग भी बाहर निकलने पर मारते थे, पुलिस वाले दो टाइम आते थे और स्थानीय लोग पूरा दिन रहते थे.

राहुल से कहा- हमको गांव पहुंचा दीजिए....
एक महिला ने भावुक होते हुए राहुल से कहा कि 'हम लोगों को गांव पहुंचा दीजिए. हम लोगों को वापस हरियाणा मत पहुंचाना. हमको गांव जाना है. हरियाणा में जहां रहते थे वहां 5-5 हजार रुपए का सामना छूट गया. अब तो वो वापस आने से रहा.'




राहुल ने पूछा कि 'सरकार अगर मदद कर सके तो उसे क्या करना चाहिए, इस पर लोगों ने कहा कि 'जो लोग गांव जाना चाहें उन्हें गांव जाने दिया जाए. साथ ही रोजगार शुरू हो जाए. वीडियो में राहुल ने मांग की है कि श्रमिकों के साथ न्याय हो. सरकार तुरंत उनके लिए सीधा कैश ट्रान्सफर करे. 13 करोड़ परिवार को 7500 रुपए दे.'

इस वीडियो के आखिर में राहुल ने कहा कि मेरे प्रवासी श्रमिक भाई बहनों, आप इस देश की शक्ति हो. हिन्दुस्तान की शक्ति को सक्षम बनाना हमारा कर्तव्य है. कहा कि पूरा देश आपके साथ न्याय हो.



इससे पहले शुक्रवार को ही कांग्रेस की अगुवाई में विपक्षी दलों की बैठक में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को कहा कि अगर सरकार की ओर से गरीबों, मजदूरों, किसानों और सूक्ष्म, लघु, एवं मध्यम उपक्रमों (एमएसएमई) की वित्तीय मदद नहीं की गई तो देश में ‘आर्थिक तबाही’ हो जाएगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज