होम /न्यूज /राष्ट्र /

Farmers Live Updates: किसानों की घर वापसी, टिकरी बॉर्डर पर JCB से हटाए जा रहे अस्‍थाई तंबू

Farmers Live Updates: किसानों की घर वापसी, टिकरी बॉर्डर पर JCB से हटाए जा रहे अस्‍थाई तंबू

Farmers Protest Live Updates: दिल्‍ली की विभिन्‍न सीमाओं पर लगे किसानों के तंबुओं को निकालने का काम गुरुवार को ही शुरू हो गया था. ऐसे में अब शनिवार को किसान अपने घरों की ओर लौटना शुरू कर चुके हैं. ये किसान अधिकांश रूप से पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी यूपी के जिलों से दिल्‍ली की सीमाओं पर डटे थे.

  • News18Hindi
  • | December 11, 2021, 14:45 IST
    LAST UPDATED A YEAR AGO
    12:28 (IST)

    टिकरी बॉर्डर में किसानों की ओर से सीमेंट और ईंट से बनाए गए आश्रय स्‍थलों और टेंपरेरी बनावटों को भी हटाया जा रहा है. यहां से बड़ी संख्‍या में किसान अपने-अपने घरों को जा रहे हैं.

    11:42 (IST)

    टिकरी बॉर्डर से घर जाते समय किसानों ने ट्रैक्‍टरों में गाने गाकर और डांस करके जश्‍न मनाया. 

    11:28 (IST)
    सिंघु बॉर्डर किसानों के आंदोलन का मुख्‍य हिस्‍सा रहा है. शनिवार को किसानों ने सिंघु बॉर्डर से घर जाना शुरू कर दिया है. किसानों के एक समूह ने सिंघु बॉर्डर पर बैठकर भजन का पाठ किया.

    11:24 (IST)

    किसानों ने शनिवार सुबह से दिल्‍ली की सीमाएं खाली करके अपने घरों की ओर जाना शुरू कर दिया है. किसान ट्रैक्‍टर और ट्रकों के जरिये घरों के लिए निकल रहे हैं. ऐसे में सिंघु बॉर्डर के पास केएमपी फ्लाईओवर पर ट्रैफिक जाम की स्थिति हो गई है.

    10:32 (IST)
    किसानों ने सिंघू, टिकरी और गाजीपुर सीमाओं पर राजमार्गों पर नाकेबंदी हटा दी और तीन विवादास्पद कृषि कानूनों को निरस्त करने और फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर कानूनी गारंटी के लिए एक समिति गठित करने सहित उनकी अन्य मांगों को पूरा करने के लिए केंद्र के लिखित आश्वासन का जश्न मनाने के लिए एक 'विजय मार्च' निकाला.

    10:29 (IST)

    दिल्‍ली-उत्‍तर प्रदेश की सीमा पर स्थित गाजीपुर बॉर्डर से भी किसान जश्‍न मनाते हुए घरों की ओर जा रहे हैं. इस दौरान उनके ट्रैक्‍टर्स पर टेंट, तंबू, खाने का सामान समेत अन्‍य सामान भी लदे देखे जा सकते हैं.

    9:40 (IST)

    गाजीपुर बॉर्डर पर किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा है, 'रविवार सुबह 8 बजे किसानों का बड़ा समूह इलाका खाली कर देगा. आज की बैठक में हम बात करेंगे, प्रार्थना करेंगे और उन लोगों से मिलेंगे, जिन्‍होंने हमारा सहयोग किया. लोगों ने इलाका खाली करना शुरू कर दिया है. इसमें 4 से 5 दिन लगेंगे. मैं खुद 15 दिसंबर को यहां से जाऊंगा.'

    9:33 (IST)

    किसान आंदोलन स्‍थगित होने के बाद दिल्‍ली के सिंघु बॉर्डर पर किसान बड़ी संख्या में जश्‍न मना रहे हैं. इसके साथ ही बॉर्डर पर किसान ट्रैक्‍टरों और ट्रकों के जरिये घरों की ओर लौट रहे हैं.

    9:30 (IST)

    दिल्‍ली-उत्‍तर प्रदेश की सीमा पर स्थित गाजीपुर बॉर्डर पर भी किसानों ने आंदोलन स्‍थगित करने के बाद तंबू हटाने का काम शुरू कर दिया है. ट्रैक्‍टरों में भी किसान सामान रखकर घरों की ओर निकल रहे हैं.

    नई दिल्‍ली. कृषि कानूनों (Farm Laws) की वापसी की मांग को लेकर करीब 13 महीने से दिल्‍ली की विभिन्‍न सीमाओं (Delhi Borders) पर बैठकर आंदोलन कर रहे किसान (Farmers Protest) आज से अपने घर लौट (Farmers Return Home) रहे हैं. पहले उनकी मांग थी कि 3 विवादित कृषि कानूनों को वापस लिया जाए. इसके बाद न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य पर कमेटी और अन्‍य मांगों को लेकर भी वह आंदोलनस्‍थलों पर डटे हुए थे. अब शनिवार से दिल्‍ली की सीमाएं खाली होने लगेंगी.

    ऐसे में दिल्‍ली की सीमाओं पर हलचल बढ़ गई है. शुक्रवार को सिंघु बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर पर अतिरिक्‍त ट्रैक्‍टर ट्रॉली भी देखने को मिली है. दिल्‍ली की विभिन्‍न सीमाओं पर गड़े किसानों के तंबुओं को निकालने का काम गुरुवार को ही शुरू हो गया था. ऐसे में अब शनिवार को किसान अपने घरों को लौटना शुरू कर देंगे. ये किसान अधिकांश रूप से पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी यूपी के जिलों से दिल्‍ली की सीमाओं पर डटे थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 नवंबर को घोषणा की थी कि उनकी सरकार विवादास्पद कृषि कानूनों को वापस ले लेगी और इसके बाद संसद में उन्हें 29 नवंबर को निरस्त कर दिया गया.

    पढ़ें Kisan Andolan के Live Updates

    विज्ञापन