CM से चर्चा: PM मोदी बोले- अभी थोड़ी सी लापरवाही सारी मेहनत पर फेर सकती है पानी

पीएम मोदी कर रहे हैं 21 राज्‍यों के सीएम से बातचीत.
पीएम मोदी कर रहे हैं 21 राज्‍यों के सीएम से बातचीत.

पीएम मोदी (Narendra Modi) ने मंगलवार को 21 राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों के साथ कोविड 19 (Covid 19) पर चर्चा की. देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के कुल मामले बढ़कर 3,43,091 हो गए हैं.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के मामलों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने मंगलवार को 21 राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों से बातचीत की. पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि भारत में कोरोना महामारी का रिकवरी रेट 50 फीसदी से अधिक है. देश में अभी भी कोविड 19 महामारी का प्रभाव विश्‍व के अन्‍य हिस्‍सों जितना अधिक नहीं है. उन्‍‍‍‍‍‍‍‍होंने कहा कि इस समय थोड़ी सी भी लापरवाही पूरी मेहनत पर पानी फेर सकती है. बता दें कि पीएम मोदी बुधवार को भी 17 राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों से बात करेंगे.

'फेस मास्‍क और दो गज की दूरी जरूरी'
पीएम मोदी ने इस दौरान मुख्‍यमंत्रियों से कहा कि अनलॉक 1 को लागू हूए दो हफ्ते बीत गए हैं. इस हमें मिले अनुभव भविष्‍य में काम आएंगे. आज मैं आप लोगों से जमीनी हालात जानूंगा. आपके सुझाव भविष्‍य की रणनीति तय करने में मदद करेंगे. पीएम मोदी ने कहा कि अभी भी बिना फेस मास्‍‍क लगाए बाहर जाना उचित नहीं है. दो गज की दूरी, हाथ धोना और सैनिटाइजर का इस्‍तेमाल बेहद जरूरी है. बाजार खुलने के साथ ही लोग बाहर निकल रहे हैं, ऐसे में यह बेहद महत्‍वपूर्ण है.

कोरोना से हो रही मौत पर दुख जताया
वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिये मुख्‍यमंत्रियों चर्चा में पीएम मोदी ने देश में कोरोना वायरस के कारण हो रही मौतों पर दुख जाहिर किया. उन्‍होंने कहा कि महामारी के समय में किसी भी भारतीय की मौत के बारे में जानना दुखदायी है. पीएम मोदी ने कहा भारत में हो रही हर एक मौत पीड़ादायी है. लेकिन यह सच है कि भारत अभी उन देशों में शामिल है, जहां कोरोना से कम मौतें हो रही हैं.



अर्थव्‍यवस्‍था पर कहा ये...
पीएम मोदी ने कहा, 'हमें हमेशा ध्यान रखना है कि हम कोरोना को जितना रोक पाएंगे, उसका बढ़ना जितना रोक पाएंगे, उतना ही हमारी अर्थव्यवस्था खुलेगी, हमारे दफ्तर खुलेंगे, मार्केट खुलेंगे, ट्रांसपोर्ट के साधन खुलेंगे, और उतने ही रोजगार के नए अवसर भी बनेंगे.'

 
पीएम मोदी ने कहा कि भविष्य में जब कभी भारत की कोरोना के खिलाफ लड़ाई का अध्ययन होगा, तो ये दौर इसलिए भी याद किया जाएगा कि कैसे इस दौरान हमने साथ मिलकर काम किया, सह संघवाद का सर्वोत्तम उदाहरण प्रस्तुत किया है.पीएम मोदी ने कहा कि पिछले कुछ हफ्तों में लिए गए निर्णयों का फल अब अर्थव्‍यवस्‍था में देखने को मिल रहा है. उन्‍होंने कहा कि हमारे यहां जो छोटे उद्योग हैं उन्हें राह दिखाने की जरूरत है. मुझे पता है आपके नेतृत्व में इस दिशा में काफी काम हो रहा है. व्‍यापार और इंडस्‍ट्री अपनी पुरानी रफ्तार पकड़ सकें, इसके लिए वैल्‍यू चेन पर भी हमें मिलकर काम करना होगा. किसान और लोकल प्रोडक्‍ट पर भी बोलेपीएम मोदी ने कहा कि किसान के उत्पाद की मार्केटिंग के क्षेत्र में हाल में जो रिफॉर्म्स किए गए हैं, उससे भी किसानों को बहुत लाभ होगा. लोकल प्रोडक्ट के लिए जिस क्लस्टर बेस्ड रणनीति की घोषणा की गई है, उसका भी लाभ हर राज्य को होगा. इसके लिए जरूरी है कि हम हर ब्लॉक, हर जिले में ऐसे प्रोडक्ट्स की पहचान करें, जिनकी प्रासंस्‍करण या मार्केटिंग करके, एक बेहतर प्रोडक्ट हम देश और दुनिया के बाज़ार में उतार सकते हैं.आज इन राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों से की चर्चा16 जून को 21 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों से प्रधानमंत्री ने बातचीत की. इनमें पंजाब (Punjab), असम, केरल (Kerala), उत्तराखंड, झारखंड, छत्तीसगढ़, त्रिपुरा, हिमाचल प्रदेश, चंडीगढ़, गोवा, मणिपुर, नागालैंड, लद्दाख, पुडुचेरी, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, मिजोरम, अंडमान और निकोबार, दादरा और नगर हवेली और दमन और दीव, सिक्किम और लक्षद्वीप शामिल हैं.
पीएम मोदी कर रहे हैं सीएम से बातचीत.



देश में 3,43,091 कोरोना केस
देश में पिछले 24 घंटे में 10,215 लोग कोरोना वायरस संक्रमण से ठीक हुए हैं. देश में ठीक होने वाले कुल लोगों की संख्‍या 1,80,013 हो गई है. भारत में कोविड 19 का रिकवरी रेट बढ़कर 52.47 फीसदी हो गया है. देश में कोरोना के कुल मामले बढ़कर 3,43,091 हो गए हैं. साथ ही देश में 9900 लोगों की मौत हो चुकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज