LIVE NOW

India China Rift: PM मोदी बोले- हमारी सीमा में कोई नहीं घुसा, हमारी कोई पोस्‍ट किसी के कब्‍जे में नहीं है

यहां पढ़ें India China Rift से जुड़े Live Updates: पैंगोंग त्सो (pangong lake) के किनारे दोनों पक्षों के बीच हुए संघर्ष के बाद दोनों देशों की सेनाओं के बीच गत पांच मई से गलवान और पूर्वी लद्दाख के कुछ अन्य क्षेत्रों में गतिरोध बना हुआ है.

Hindi.news18.com | June 19, 2020, 9:17 PM IST
facebook Twitter Linkedin
Last Updated June 19, 2020

हाइलाइट्स

9:13 pm (IST)

पीएम मोदी ने कहा कि देश को सुरक्षित रखने के लिए जमीन, आसमान और समुद्र में सेना को जो कुछ भी करने की जरूरत है, वो करेगी. सेना देश की रक्षा के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रही. उन्‍होंने कहा कि अब हमारे जवान उन इलाकों की भी निगरानी कर रहे हैं, जहां पहले निगरानी नहीं हो पा रही थी.

9:06 pm (IST)

पीएम मोदी ने कहा कि देश को सुरक्षित रखने के लिए जमीन, आसमान और समुद्र में सेना को जो कुछ भी करने की जरूरत है, वो करेगी. उन्‍होंने कहा कि अब हमारे जवान उन इलाकों की भी निगरानी कर रहे हैं, जहां पहले निगरानी नहीं हो पा रही थी.

8:58 pm (IST)

सर्वदलीय बैठक में पीएम मोदी ने साफतौर पर कहा कि हमारी सीमा में कोई घुसपैठ नहीं हुई है. साथ ही हमारी कोई भी पोस्‍ट चीन ने नहीं कब्‍जाई है. उन्‍होंने यह भी कहा कि इस समय हमारे पास ऐसी क्षमताएं हैं कि कोई भी हमारी एक इंच जमीन के ऊपर नहीं देख सकता.


8:23 pm (IST)

सूत्रों के अनुसार सर्वदलीय बैठक में अकाली दल के सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि इस स्थिति से निपटने पर अभी सवाल करने का ठीक समय नहीं है. भारत प्रधानमंत्री के साथ है. चीन को यह संदेश देना है कि हम प्रधानमंत्री के साथ हैं.


8:16 pm (IST)

वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के नेता जगनमोहन रेड्डी ने कहा, 'पीएम मोदी धन्‍यवाद. दुनिया में भारत की साख बढ़ रही है. भारत दुनियाभर में रणनीतिक साझेदारी बढ़ा रहा है. प्रधानमंत्री आप हमारी ताकत हैं. चीन भारत को अस्थिर करना चाहता है.'


8:01 pm (IST)

सूत्रों के अनुसार सर्वदलीय बैठक में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि हम सब एक हैं. प्रधानमंत्री हम आपके साथ हैं. हम सशस्‍त्र बल और उनके परिवार के साथ हैं. उन्‍होंने कहा कि भारत शांति चाहता है. लेकिन इसका ये मतलब नहीं है कि हम कमजोर हैं. भारत मजबूत है, मजबूर नहीं. हमारी सरकार की क्षमता है कि आंखे निकालकर हाथ में दे देना.'


7:55 pm (IST)

जदयू प्रमुख और बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि चीन के खिलाफ पूरे देश में आक्रोश है. हम सबमें कोई अंतर नहीं है. हम एक हैं. भारत चीन को सम्‍मान देना चाहता था लेकिन उसे 1962 में क्‍या किया. उन्‍होंने कहा कि भारतीय बाजार में चीनी उत्‍पादों की भरमार बड़ी समस्‍या है. चीनी उत्‍पाद अब देश में नहीं होने चाहिए. यह हमारा कर्तव्‍य है और हमें केंद्र सरकार को समर्थन देना होगा.


7:38 pm (IST)

सूत्रों के अनुसार ममता बनर्जी ने कहा, 'चीन लोकतंत्र नहीं है. वहां तानाशाही है. वे वहीं करते हैं जो वह एहसास करते हैं. दूसरी ओर हम एक साथ मिलकर काम करते हैं. भारत जीतेगा, चीन हारेगा. एकता के साथ बोलो, एकता से सोचो. एकता से काम करो.'


7:35 pm (IST)

सूत्रों के अनुसार सर्वदलीय बैठक में टीएमसी प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, 'सर्वदलीय बैठक देश के लिए अच्‍छा संदेश है. यह दर्शाता है कि हम जवानों साथ एकजुट हैं. टीएमसी पूरी एकजुटता के साथ सरकार के साथ है.'

7:18 pm (IST)

सूत्रों के अनुसार सोनिया गांधी ने कहा, 'देश को आश्वासन की जरूरत है कि यथास्थिति बहाल हो. माउंटेन स्ट्राइक कोर की वर्तमान स्थिति क्या है? विपक्षी दलों को नियमित रूप से जानकारी दी जानी चाहिए.' 

LOAD MORE
नई दिल्ली. पूर्वी लद्दाख (East Ladakh) की गलवान घाटी (Galwan Valley) में भारत के 20 सैन्यकर्मियों के शहीद होने के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया है. इस झड़प में 20 भारतीय सैन्यकर्मी शहीद हो गये थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने आज चीन मसले पर सर्वदलीय बैठक (All Party Meeting) की. इसमें पीएम मोदी ने साफतौर पर कहा कि हमारी सीमा में कोई घुसपैठ नहीं हुई है. साथ ही हमारी कोई भी पोस्‍ट चीन ने नहीं कब्‍जाई है. उन्‍होंने यह भी कहा कि इस समय हमारे पास ऐसी क्षमताएं हैं कि कोई भी हमारी एक इंच जमीन के ऊपर नहीं देख सकता.

यहां पढ़ें India China Rift से जुड़े Live Updates:

फोटो

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज