लाइव टीवी

COVID 19: PM मोदी का बड़ा ऐलान- आज से देश में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन

News18Hindi
Updated: March 25, 2020, 12:42 AM IST
COVID 19: PM मोदी का बड़ा ऐलान- आज से देश में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन
पीएम मोदी ने आज से 21 दिन के लिए लॉकडाउन का ऐलान किया है.

पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के अनुसार संपूर्ण लॉकडाउन के दौरान देश में सभी जरूरी सेवाएं जारी रहेंगी. देश में मंगलवार रात तक कोरोना वायरस संक्रमित (Coronavirus) लोगों की संख्‍या 536 हो गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2020, 12:42 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के बढ़ते खतरे से निपटने के लिए मोदी सरकार पूरी कोशिश कर रही है. इसके तहत कई अहम कदम भी उठाए जा रहे हैं. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने कोरोना महामारी पर देश को मंगलवार को दूसरी बार संबोधित किया. पीएम मोदी ने इस दौरान ऐलान किया कि बुधवार यानी 25 मार्च से पूरे देश में लॉकडाउन किया जा रहा है. देश में यह लॉकडाउन 21 दिन के लिए होगा. यह जनता कर्फ्यू से आगे का कदम है. ये संपूर्ण लॉकडाउन एक तरह का कर्फ्यू ही है.

इस दौरान देश में सभी जरूरी सेवाएं जारी रहेंगी. यह कदम हर हिंदुस्‍तानी को बचाने के लिए लिया जा रहा है. पीएम मोदी ने कहा कि आप सभी किसी भी तरह की अफवाह और अंधविश्‍वास से बचें.

'21 दिन घर पर रहिये'
पीएम मोदी ने कहा, 'अगर इन 21 दिन आप नहीं संभले तो देश 21 साल पीछे चला जाएगा. बाहर निकलना क्‍या होता है, यह 21 दिन के लिए भूल जाइये. घर पर ही रहें.  मैं यह बात परिवार के सदस्‍य के तौर पर कह रहा हूं.' पीएम मोदी ने कहा कि मैं यह बात परिवार के सदस्‍य के तौर पर कह रहा हूं. इसमें लिखा है, को-कोई, रो-रोड पर, ना- न निकले.'






'प्रयासों को बहुत गंभीरता से लें'
पीएम मोदी ने कहा, 'कुछ लोगों की लापरवाही, कुछ लोगों की गलत सोच, आपको, आपके बच्चों को, आपके माता पिता को, आपके परिवार को, आपके दोस्तों को, पूरे देश को बहुत बड़ी मुश्किल में झोंक देगी. पिछले 2 दिनों से देश के अनेक भागों में लॉकडाउन कर दिया गया है. राज्य सरकार के इन प्रयासों को बहुत गंभीरता से लेना चाहिए. आज रात 12 बजे से पूरे देश में, संपूर्ण लॉकडाउन होने जा रहा है.'

'जरूरी सेवाएं दे रहे लोगों के लिए प्रार्थना कीजिये'
पीएम मोदी ने कहा, 'मैं हाथ जोड़कर कह रहा हूं जो भारतीय जहां है, वहीं रहे.' उन्‍होंने कहा कि कोरोना वायरस से निपटने का सबसे बड़ा उपाय उन देशों से सीख है, जिन्‍होंने इससे निपटने के लिए अहम कदम उठाए. पीएम मोदी ने कहा कि 24 घंटे काम कर रहे मीडिया, डॉक्‍टरों, पुलिसकर्मियों और जरूरी सेवाएं दे रहे सभी लोगों के बारे में सोचिये जो घर परिवार से दूर जान जोखिम में डालकर अपना कर्तव्‍य निभा रहे हैं. उनके लिए प्रार्थना कीजिये.

'15 हजार करोड़ रुपये के फंड का ऐलान'
पीएम मोदी ने कहा कि सभी आवश्‍यक वस्‍तुओं की सप्‍लाई बनी रहे, इसके लिए उपाय किए गए हैं और आगे भी किए जाएंगे. यह दौर गरीबों के लिए संकट की घड़ी लाई है. उनकी मदद के लिए सब लोग साथ आ रहे हैं. पीएम मोदी ने कहा, 'केंद्र सरकार ने 15 हजार करोड़ रुपये का ऐलान किया है. इससे देश में कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने के सभी संसाधन जुटाए जाएंगे. सभी सुविधाएं और सेवाएं बढ़ाई जाएंगी. सभी राज्‍य सरकारों से मैने अनुरोध किया है कि उनकी पहली प्राथमिकता स्‍वास्‍थ्‍य सेवाएं ही हों.'

पीएम मोदी ने कहा, 'कोरोना वैश्विक महामारी से बनी स्थितियों के बीच, केंद्र और देशभर की राज्य सरकारें तेजी से काम कर रही है. रोजमर्रा की जिंदगी में लोगों को असुविधा न हो, इसके लिए निरंतर कोशिश कर रही हैं.'

'21 दिन का समय बहुत अहम'
पीएम मोदी ने कहा, 'इस लॉकडाउन की एक आर्थिक कीमत देश को उठानी पड़ेगी. लेकिन एक-एक भारतीय के जीवन को बचाना इस समय मेरी, भारत सरकार की, देश की हर राज्य सरकार की, हर स्थानीय निकाय की, सबसे बड़ी प्राथमिकता है.' उन्‍होंने कहा, 'आने वाले 21 दिन हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं. हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो, कोरोना वायरस की संक्रमण की साइकिल तोड़ने के लिए कम से कम 21 दिन का समय बहुत अहम है.'

पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि हर भारतीय ने जनता कर्फ्यू को सफल बनाया है. हर भारतीय ने पूरी जिम्‍मेदारी के साथ जन कर्फ्यू में योगदान दिया है. आप सभी प्रशंसा के पात्र हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस से बचने का एकमात्र उपाय है सोशल डिस्‍टेंसिंग. इसके अलावा कोई और उपाय नहीं है. कुछ लोग इस गलतफहमी में हैं कि सोशल डिस्‍टेंसिंग सिर्फ बीमारों के लिए है. यह सही नहीं है. यह सभी नागरिकों के लिए है, प्रधानमंत्री के लिए भी है.

19 मार्च को भी किया था संबोधित
इससे पहले पीएम मोदी ने कोरोना वायरस संक्रमण पर बातचीत के लिए 19 मार्च को देश को संबोधित किया था. इसमें उन्‍होंने 22 मार्च को ‘जनता कर्फ्यू’ लागू करने और लोगों से घर-घर दूध, अखबार, राशन पहुंचाने वालों, पुलिसकर्मियों, स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों और मीडियाकर्मियों के प्रति आभार जताने की अपील की थी. उन्‍होंने ऐसे लोगों का आभार जताने के लिए 22 मार्च की शाम 5 बजे घर की खिड़की, बालकनी या गेट पर आकर ताली, घंटा-थाली बजाने की अपील की थी. जिसका लोगों ने पालन किया था.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को लोगों से लॉकडाउन का गंभीरता से पालन करने की अपील करते हुए राज्य सरकारों से नियमों और कानूनों का पालन कराना सुनिश्चित करने को भी कहा था.

'सरकार प्रतिबद्ध है'
जनता में संघर्ष की भावना को बनाए रखने को जरूरी बताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में निराशावाद, नकारात्‍मकता और अफवाहों से निपटना महत्‍वपूर्ण है. उन्होंने कहा कि लोगों को आश्‍वस्‍त किए जाने की जरूरत है कि सरकार कोविड-19 से निपटने के लिए प्रतिबद्ध है.

यह भी पढ़ें: दूसरे बैंक के ATM से पैसे निकालने पर नहीं लगेगा कोई चार्ज- वित्त मंत्री

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 24, 2020, 7:24 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर