इंडिया ग्‍लोबल वीक 2020 में पीएम मोदी बोले- सुरक्षित दुनिया के लिए हर कदम उठा रहा है भारत

इंडिया ग्‍लोबल वीक 2020 में पीएम मोदी बोले- सुरक्षित दुनिया के लिए हर कदम उठा रहा है भारत
इंडिया ग्‍लोबल वीक 2020 संबोधित करते पीएम मोदी

इंडिया ग्‍लोबल वीक 2020 (India Global Week) के पहले दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने उद्घाटन भाषण दिया. ब्रिटेन के विदेश मंत्री डॉमिनिक राब और गृह सचिव प्रीति पटेल, भारत में अमेरिकी राजदूत केन जस्टर भी इस कार्यक्रम में शामिल होंगे.

  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने गुरुवार को इंडिया ग्‍लोबल वीक 2020 (India Global Week) के पहले दिन उद्घाटन भाषण दिया. तीन दिन तक चलने वाले इस वर्चुअल सम्मेलन का विषय है 'बी द रिवाइवल : इंडिया एंड अ बेटर न्‍यू वर्ल्‍ड.' इंडिया ग्लोबल वीक 2020 में 30 देशों के 5000 वैश्विक प्रतिभागियों को 75 सत्रों में 250 वैश्विक वक्ता संबोधित करेंगे.

उद्घाटन भाषण में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'मौजूदा कार्यक्रम पिछले कुछ वर्षों में इंडिया इंक द्वारा किए गए उत्कृष्ट कार्यों का एक हिस्सा है. आपके इवेंट्स ने भारत में अवसरों को वैश्विक दर्शकों तक पहुंचाने में मदद की है.' पीएम ने कहा, 'इस समय में रिवाइवल के बारे में बात करना स्वाभाविक है. ग्लोबल रिवाइवल और भारत को जोड़ना भी उतना ही स्वाभाविक है. इस बात का विश्वास है कि ग्लोबल रिवाइवल की कहानी में भारत की अग्रणी भूमिका में होगा.'

प्रधानमंत्री ने कहा, 'मैं इसे दो वजहों से काफी करीब से देख पा रहा हूं. पहला भारतीय प्रतिभा. दुनिया भर में आपने भारत की प्रतिभा-शक्ति के योगदान को देखा है. भारतीय टेक इंडस्ट्री और तकनीकी पेशेवरों को कौन भूल सकता है! वे दशकों से रास्ता दिखा रहे हैं. भारत टैलेंट का एक पावर हाउस है जो योगदान देने के लिए उत्सुक है.'



पीएम ने कहा कि दूसरी वजह भारत में सुधार और कायाकल्प करने की क्षमता है. भारतीय प्राकृतिक सुधारक हैं! इतिहास ने दिखाया है कि भारत ने हर चुनौती से पार पाया है वह चाहे सामाजिक हो या आर्थिक.
कोरोना और इकोनॉमी दोनों पर एक साथ है हमारा ध्यान- PM Modi
प्रधानमंत्री ने कहा, 'एक तरफ भारत वैश्विक महामारी के खिलाफ एक मजबूत लड़ाई लड़ रहा है. वहीं लोगों के स्वास्थ्य पर बढ़ते ध्यान के साथ हम अर्थव्यवस्था के स्वास्थ्य पर समान रूप से ध्यान केंद्रित कर रहे हैं.' प्रधानमंत्री ने कहा, 'जब भारत पुनरुद्धार की बात करता है तो  उसके लिए देखभाल के साथ पुनरुद्धार, करुणा के साथ पुनरुद्धार और पर्यावरण और अर्थव्यवस्था दोनों के लिए टिकाऊ पुनरुद्धार मायने रखता है.'

ग्लोबल वीक 2020 को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि वैश्विक समुदाय की भलाई के लिए भारत हर कदम उठा रहा है. यह वह भारत है जो  रिफॉर्म, ट्रांसफॉर्म और परफॉर्म कर रहा है. प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत दुनिया की सबसे खुली अर्थव्यवस्थाओं में से एक है, हम वैश्विक निवेशकों का स्वागत कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि हमें पहले ही आर्थिक पुनरुद्धार के संकेत मिलने लगे हैं.

पीएम ने बताया क्या है आत्मनिर्भर भारत का मतलब
प्रधानमंत्री मोदी ने दवाओं की लागत कम करने में भारत की भूमिका का हवाला देते हुए कहा, 'देश का फार्मा उद्योग न केवल भारत के लिए बल्कि पूरे विश्व के लिए एक पूंजी है.' पीएम ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत का अर्थ आत्मकेंद्रित होना या दुनिया से खुद को बंद कर लेना नहीं है, यह आत्मनिर्भर होने, आत्मोत्पादन करने के बारे में है.

प्रधानमंत्री ने कहा, 'मुझे यह जानकर खुशी हुई कि यह मंच पंडित रविशंकर की 100वीं जयंती भी मना रहा है.  उन्होंने भारतीय शास्त्रीय संगीत की सुंदरता को दुनिया तक पहुंचाया.' कोरोना के संदर्भ में पीएम ने कहा कि आपने यह भी देखा होगा कि नमस्ते कैसे अभिवादन के रूप में वैश्विक हो गया है.

India Global Week में यह लोग भी देंगे भाषण
इस आयोजन में भाग लेने वाले अन्य वक्ताओं में विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर, रेल, वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल, जम्‍मू कश्‍मीर के उपराज्यपाल जी.सी. मुर्मू , ईशा फाउंडेशन के संस्थापक सद्गुरु, आध्यात्मिक नेता श्री श्री रविशंकर, ब्रिटेन के विदेश मंत्री डॉमिनिक राब और गृह सचिव प्रीति पटेल, भारत में अमेरिकी राजदूत केन जस्टर और अन्य शामिल हैं.

कहा गया कि  ब्रिटेन द्वारा आयोजित इस डिजिटल कार्यक्रम में 'आत्मनिर्भर भारत' पर एक ऐसी प्रस्तुति दी जाएगी जिसे ‘पहले कभी नहीं’ देखा गया है. इस कार्यक्रम में मधु नटराज की 'आत्मनिर्भर भारत' पर एक शानदार प्रस्‍तुति होगी और सुप्रसिद्ध सितार वादक पंडित रवि शंकर के 100वें जन्‍मदिन पर उन्‍हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनके तीन प्रतिष्ठित छात्र संगीत का एक कार्यक्रम प्रस्‍तुत करेंगे.

लंदन में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, आयोजकों का अनुमान है कि इस कार्यक्रम में उद्योग और सामरिक विषयों के करीब 250 वक्ता भाग लेंगे और विश्व के कोने-कोने के 5000 से अधिक दर्शकों के समक्ष अपनी बात रखेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading