अपना शहर चुनें

States

पुडुचेरी: फ्लोर टेस्ट में फेल CM नारायणसामी ने सौंपा इस्तीफा, कहा- निर्वाचित सरकार को गिरा रही BJP

नारायणसामी ने दिया सीएम पद से इस्‍तीफा. (File pic)
नारायणसामी ने दिया सीएम पद से इस्‍तीफा. (File pic)

Puducherry Floor Test: पुडुचेरी में कांग्रेस सरकार विधानसभा में बहुमत साबित नहीं कर सकी. फ्लोर टेस्ट में फेल होने के बाद मुख्यमंत्री वी नारायणसामी ने नवनियुक्त उप राज्यपाल तमिलिसाई सौंदरराजन को अपना इस्तीफा सौंप दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 22, 2021, 1:28 PM IST
  • Share this:
पुडुचेरी. पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी (V Narayansamy) और सत्तारूढ़ कांग्रेस-द्रमुक (Congress-DMK) गठबंधन के विधायकों ने सोमवार को विश्वासमत में सरकार की हार के बाद उप राज्यपाल तमिलिसाई सौंदरराजन को अपना इस्तीफा सौंप दिया. विधानसभा में विश्वासमत प्रस्ताव (Puducherry Floor Test) पर वोटिंग से पहले ही मुख्यमंत्री नारायणसामी और सत्ताधारी पार्टी के अन्य विधायकों ने सदन से वॉकआउट किया. इसके बाद मुख्यमंत्री राजनिवास पहुंचे और उपराज्यपाल तमिलिसाई सौंदरराजन को अपना इस्तीफा सौंप दिया.

पुडुचेरी में सोमवार को कांग्रेस सरकार का भविष्य निर्धारित करने के लिए एक दिन का विशेष सत्र बुलाया गया था. इस दौरान उप राज्‍यपाल के निर्देशानुसार मुख्यमंत्री वी नारायणसामी ने सदन में विश्वास मत प्रस्ताव पेश किया. मुख्यमंत्री ने सदन को बताया कि उनकी सरकार के पास बहुमत है. हालांकि बाद में नारायणसामी की सरकार ने विश्‍वास मत के दौरान बहुमत साबित नहीं कर सकी. वहीं विश्‍वास मत पेश करने से पहले उन्‍होंने पूर्ण राज्‍य की मांग की थी. साथ ही पूर्व उप राज्‍यपाल किरण बेदी (Kiran Bedi) और बीजेपी की केंद्र सरकार पर उनकी सरकार गिराने का आरोप लगाया.

पुडुचेरी की नवनियुक्त उप राज्यपाल तमिलिसाई सौंदरराजन ने मुख्यमंत्री वी नारायणसामी को विधानसभा में बहुमत साबित करने का निर्देश दिया था. विपक्ष के सत्तारूढ़ कांग्रेस-द्रमुक गठबंधन के बहुमत खोने का दावा करने के बाद उपराज्यपाल ने यह निर्देश दिया है. कांग्रेस के विधायक के लक्ष्मीनारायणन और द्रमुक के विधायक वेंकटेशन के रविवार को इस्तीफा देने के बाद 33 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस-द्रमुक गठबंधन के विधायकों की संख्या घटकर 11 हो गई थी, जबकि विपक्षी दलों के 14 विधायक हैं. पूर्व मंत्री ए. नमसिवायम (अब भाजपा में) और मल्लाडी कृष्ण राव समेत कांग्रेस के चार विधायकों ने इससे पहले इस्तीफा दे दिया था, जबकि पार्टी के एक अन्य विधायक को अयोग्य ठहराया गया था. नारायणसामी के करीबी ए जॉन कुमार ने भी इस सप्ताह इस्तीफा दे दिया था.



मुख्‍यमंत्री वी नारायणसामी ने विधानसभा में कहा कि विधायकों को पार्टी के लिए ईमानदार रहना चाहिए. जो विधायक पार्टी से इस्‍तीफा दे चुके हैं वे लोगों का सामना नहीं कर पाएंगे क्‍योंकि लोग उन्‍हें मौकापरस्‍त कह रहे हैं. मुख्‍यमंत्री वी नारायणसामी ने सदन में कहा कि तमिलनाडु और पुडुचेरी में हम दो भाषा प्रणाली का इस्‍तेमाल करते हैं. लेकिन बीजेपी जबरन यहां हिंदी को लाना चाह रही है.
मुख्‍यमंत्री वी नारायणसामी ने विश्‍वास मत प्रस्‍ताव के दौरान विधानसभा में पूर्व उप राज्‍यपाल किरण बेदी और बीजेपी की केंद्र सरकार पर भी कई आरोप लगाए. उन्‍होंने कहा कि किरण बेदी और केंद्र सरकार विपक्ष के साथ मिलकर हमारी सरकार को गिराने की कोशिश कर रही है. केंद्र सरकार ने हमारी सरकार द्वारा मांगे गए फंड को न देकर पुडुचेरी के लोगों के साथ धोखा किया है.

वी नारायणसामी ने कहा कि हमने डीएमके और निर्दलीय विधायकों के समर्थन से सरकार बनाई. उसके बाद हमने कई चुनाव देखे. हमने सभी उप चुनाव जीते. यह साफ है कि पुडुचेरी के लोग हम पर भरोसा करते हैं.  मुख्यमंत्री नारायणसामी और सत्तारूढ़ पार्टी के अन्य विधायकों ने विश्वास मत पर मतदान से पहले सदन से बहिर्गमन किया. विधानसभा अध्यक्ष वीपी शिवकोलुंधु ने कहा कि विश्वास मत परीक्षण में उनकी हार हुई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज