Sushant case: CBI का सुप्रीम कोर्ट में जवाब- ED सहित हमें जांच जारी रखने की इजाजत दें

Sushant case: CBI का सुप्रीम कोर्ट में जवाब-  ED सहित हमें जांच जारी रखने की इजाजत दें
सुशांत मामले में आज होगी सुनवाई.

Sushant Singh rajput case Highlights: सीबीआई (CBI) ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में दिये अपने जवाब में कहा कि अदालत को सीबीआई और ईडी को जांच जारी रखने की इजाजत देनी चाहिए. वहीं ईडी ने रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) और उनके भाई शौविक के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग (Money Laundering) का मामला दर्ज कर जांच शुरू की है. 8 लोगों के बयान दर्ज किए जा चुके हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 13, 2020, 11:03 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. बॉलीवुड एक्‍टर सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस (Sushant Singh Rajput case) में गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में सुनवाई हुई. सुप्रीम कोर्ट ने रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) की ओर से सुशांत सिंह राजपूत के पिता द्वारा पटना में दर्ज कराई गई एफआईआर को मुंबई ट्रांसफर करने की मांग वाली याचिका पर भी सुनवाई की. इससे पहले जस्टिस ऋषिकेश रॉय की एकल पीठ ने मंगलवार को रिया, सुशांत के पिता कृष्ण किशोर सिंह, बिहार सरकार, महाराष्ट्र सरकार और केन्द्र सरकार की दलीलें सुनी थीं. सभी पक्षों ने आज सुप्रीम कोर्ट में लिखित में अपना-अपना जवाब दाखिल किया.

वहीं, बिहार सरकार ने मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में दावा किया था कि अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत को लेकर पटना में दर्ज कराई गई प्राथमिकी कानून के मुताबिक और वैध है. बिहार ने आरोप लगाया था कि इस मामले की जांच के सिलसिले में मुंबई पहुंची राज्य की पुलिस के साथ महाराष्ट्र पुलिस ने कोई सहयोग नहीं किया. बिहार सरकार ने यह भी दावा किया था कि मुंबई पुलिस ने उसे सुशांत सिंह राजपूत की पोस्टमार्टम रिपोर्ट की प्रति भी उपलब्ध नहीं कराई.

पढ़ें Highlights...



>> सीबीआई ने अपने जवाब में कहा कि याचिका में मुख्य दलील और तर्क दिया गया कि अधिकांश लेनदेन मुंबई में हुए हैं और तदनुसार पटना पुलिस को इस मामले की जांच करने का कोई अधिकार क्षेत्र नहीं है. ये याचिका गलत और कई कारणों से खारिज किए जाने के लायक है.
>> सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में अपना जवाब दे दिया है. सीबीआई ने कहा है कि अदालत को सीबीआई और ईडी को जांच जारी रखने की इजाजत देनी चाहिए.

>> सुप्रीम कोर्ट ने सुशांत सिंह की मौत में सीबीआई जांच की मांग करने वाली वकील अजय अग्रवाल की जनहित याचिका पर सुनवाई शुक्रवार 21 अगस्त तक के लिए टाल दी है. इस जनहित याचिका में कहा गया है कि सुशांत सिंह की मौत का केस जिस तरह से मुंबई पुलिस हैंडल कर रही है उससे पूरा देश स्तब्ध है.

>> सुशांत सिंह राजपूत के पिता के के सिंह का वकील विकास सिंह ने बताया रिया चक्रवर्ती आज फिर रिटेन सबमिशन दायर किया है, यह उसकी तीसरी बार है सुप्रीम कोर्ट में केस दायर किया है. आज उसने सुप्रीम कोर्ट के सामने माना लिया है कि सीबीआई के पास केस ट्रांसफर किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि बहुत जल्द सीबीआई के पास ट्रांसफर हो जाएगा. विकास सिंह ने कहा बिहार सरकार और सुशांत सिंह राजपूत के पिता बहुत पहले सीबीआई से जांच कराने की मांग की थी और इस मामले को केंद्र सरकार ने भी स्वीकार किया है. जिस तरह से पिछले दिनों से लगातार सभी पक्षों की दलीलें सुनी जा रही हैं, मुझे उम्मीद है कि जल्द ही मामले को सुनने के बाद केस सीबीआई के पास ट्रांसफर होगा.

उन्होंने कहा कि एक पिता ने अपने बेटे को और चार बहनों ने अपना एकलौते भाई को खोया है, सभी लोग सदमे में हैं, अब केस सीबीआई को सुपुर्द करने में देर नहीं करना चाहिए.

>> ईडी ने रिया चक्रवर्ती और उनके भाई शौविक के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज कर जांच शुरू की है. 8 लोगों के बयान दर्ज किए जा चुके हैं. ऐसे में कई नई कहानियां भी निकल कर सामने आ रही हैं. ईडी के सूत्रों के मुताबिक जांच में सामने आया है कि सुशांत अपनी एक एक्स गर्लफ्रेंड के फ्लैट की EMI भरते थे, हालांकि यह नहीं पता चल सका है कि उसका नाम क्‍या है. बताया जा रहा है कि वो अभी भी उस फ्लैट में रहती है. सूत्रों के अनुसार यह पता चला है कि सुशांत के नाम ही वो फ्लैट लिया गया था. जिसमें उनकी एक्‍स गर्लफ्रेंड रहती हैं. जानकारी के मुताबिक जिस अकाउंट से फ्लैट के पैसे जाते थे उसमें अभी भी करीब 30 लाख रुपये की रकम शेष है.

>> बिहार सरकार के बाद रिया चक्रवर्ती ने भी सुप्रीम कोर्ट में अपनी लिखित दलील पेश कर दी है.

>> बिहार सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में रिया की याचिका पर विस्‍तृत जवाब दाखिल कर दिया है. इसमें दावा किया गया है कि बिहार पुलिस के पास जांच का न्‍यायिक अधिकार है.





>> सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय ने सुशांत के बॉडीगार्ड को समन भेजा था. गुरुवार को ईडी उसका भी बयान दर्ज करेगी.

>> सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की सीबीआई की एकीकृत जांच के लिए दायर जनहित याचिका पर भी सुप्रीम कोर्ट गुरुवार को सुनवाई करेगा. जनहित याचिका में कहा गया है कि इस मामले की मुंबई पुलिस द्वारा की जा रही जांच के तरीके से पूरा देश हैरान है. इस जनहित याचिका पर प्रधान न्यायाधीश एसए बोबडे, न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना और न्यायमूर्ति वी रामासुब्रमणियन की तीन सदस्यीय पीठ सुनवाई करेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज