• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • 65 सालों से वह मेरे सबसे करीबी दोस्त थे, उन्हें बहुत मिस करूंगा: आडवाणी

65 सालों से वह मेरे सबसे करीबी दोस्त थे, उन्हें बहुत मिस करूंगा: आडवाणी

लालकृष्ण आडवाणी एवं अटल बिहारी वाजपेयी की File Photo

लालकृष्ण आडवाणी एवं अटल बिहारी वाजपेयी की File Photo

लालकृष्ण आडवाणी ने कहा कि अटलजी मेरे लिए वरिष्ठ सहयोगी से अधिक थे. असल में वह पिछले 65 सालों से मेरे सबसे करीबी दोस्त थे.

  • Share this:
    पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और लालकृष्ण आडवाणी को दशकों तक बीजेपी के दाएं और बाएं हाथ की तरह देखा जाता था. पूर्व प्रधानमंत्री के निधन को लालकृष्ण आडवाणी ने अपना व्यक्तिगत नुकसान कहा है. आडवाणी ने कहा कि अटल पिछले 65 सालों से उनके सबसे करीबी दोस्त थे और अब वह उन्हें बहुत याद करेंगे.

    "आज अपने गहरे दुख और उदासी को व्यक्त करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं है, हम सभी भारत के सबसे बड़े नेता अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर शोक व्यक्त करते हैं. अटलजी मेरे लिए वरिष्ठ सहयोगी से अधिक थे. असल में वह पिछले 65 सालों से मेरे सबसे करीबी दोस्त थे," आडवाणी ने एक बयान में कहा.

    आरएसएस प्रचारक के तौर पर काम करने के दिनों में याद करते हुए आडवाणी ने कहा, "मैं आरएसएस के लिए प्रचार के दिनों से लेकर, भारतीय जनसंघ की शुरुआत, इमरजेन्सी का विरोध और 1980 में भारतीय जनता पार्टी का गठन तक उनके साथ अपने लंबे सहयोग की यादों की सराहना करता हूं."

    ये भी पढ़ें: नहीं रहे अटल, जानिए उनके बारे में सब कुछ...

    "अटलजी को केंद्र में पहली स्थिर गैर-कांग्रेस गठबंधन सरकार के अग्रणी के रूप में याद किया जाएगा और मुझे छह साल तक उनके डिप्टी के रूप में काम करने का विशेषाधिकार मिला. मेरे सीनियर के तौर पर उन्होंने हमेशा मुझे हर संभव तरीके से प्रोत्साहित किया और निर्देशित किया," उन्होंने आगे कहा.

    ये भी पढ़ें: अटल बिहारी वाजपेयी की वो अनदेखी तस्वीरें... जो बदलते भारत की गवाह हैं 

    आडवाणी ने कहा कि वाजपेयी की मनोरम नेतृत्व क्षमता, मंत्रमुग्ध करने वाली वाक् क्षमता, देशभक्ति और सबसे अधिक उनकी वास्तिवक मानवीय विशेषताएं जैसे दया, नम्रता और उनकी उल्लेखनीय क्षमता और राजनीतिक विरोधों के बाद भी दूसरों का दिल जीतने की क्षमता ने उनके सार्वजनिक जीवन पर सबसे अधिक प्रभाव डाला. आडवाणी ने कहा कि वह अटल को बहुत याद करेंगे.

    ये भी पढ़ें:  इसलिए भारतीय राजनीति में सबसे खास और अलग चेहरा रहे हैं अटल बिहारी वाजपेयी

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज