लाइव टीवी

LoC पर जब आतंकियों से आमने-सामने की लड़ाई में भिड़ गए हमारे जवान- पढ़ें ऑपरेशन डमढोरी बहक की कहानी

Sandeep Bol | News18Hindi
Updated: April 7, 2020, 9:04 AM IST
LoC पर जब आतंकियों से आमने-सामने की लड़ाई में भिड़ गए हमारे जवान- पढ़ें ऑपरेशन डमढोरी बहक की कहानी
इसी हेलीकॉप्टर ने कमांडो को पहुंचाया 11 हज़ार फटी की ऊंचाई पर.

इंडियन आर्मी के उस इलाके में पहुंचते ही आतंकी दो पहाड़ियों के बीच बने एक नाले में कूद गए. वहीं बर्फ की स्लाइड के चलते हमारे दो जवान भी नाले में गिर गए. साथी जवानों को नाले में देख दूसरे जवान भी नाले में कूद पड़े और आमने-सामने की फायरिंग शुरू हो गई.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारत की सीमा में घुसने की कोशिश कर रहे पांच पाकिस्तानी आतंकियों को सुरक्षाबलों ने एलओसी (LOC) के नज़दीक 5 अप्रैल को मार गिराया गया. ये आतंकी 5 दिन से सेना की रडार पर थे, लेकिन मौसम खराब होने के चलते कुछ परेशानियां आ रहीं थी. इसी को देखते हुए ऑपरेशन डमढोरी बहक शुरू किया गया, लेकिन इस ऑपरेशन में इंडियन आर्मी (Indian Army) के भी 5 जवान शहीद हो गए.

मारे गए इन आतंकियों के पास से भी पाकिस्तान (Pakistan) मार्का खाने-पीने का सामान मिला है. पाकिस्तान लगातार आतंकियों को बॉर्डर के इस पार भेजने की कोशिश कर रहा है. मार्च में ही पाक 411 बार सीज फायर का उल्लघंन कर चुका है. खुफिया सूत्रों के मुताबिक, वह कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) आतंकियों को भी भारत में धकेलने की लगातार कोशिश कर रहा है.

एलओसी के नजदीक केरन सेक्टर में चला सेना का ऑपरेशन



ऑपरेशन में शामिल रहे स्पेशल फोर्स के एक कमांडो ने बताया कि एक अप्रैल को सूचना मिली कि 5 आतंकी एलओसी के पास केरन सेक्टर में देखे गए हैं. यह सभी घुसपैठ की कोशिश में लगे हुए थे. जानकारी मिलते ही आतंकियों की तलाश शुरू कर दी गई, लेकिन मौसम खराब था. रुक-रुककर बर्फबारी हो रही थी. खराब मौसम के चलते 4 अप्रैल तक आतंकियों से कोई मुकाबला नहीं हो पाया.



इसके बाद शुरू किया गया ऑपरेशन डमढोरी. स्पेशल फोर्स के 5 जाबांज कमांडो को हेलीकॉप्टर की मदद से एक जगह उतारा गया, जिस जगह उन्हें उतारा गया वो 11 हज़ार फीट की ऊंचाई पर थी. पूरा इलाका बर्फ से ढका हुआ है. इसके बाद सूबेदार संजीव कुमार की लीडरशिप में शुरू हो गया ऑपरेशन डमढोरी.

एक नाले में आमने-सामने चला एनकाउंटर
कमांडो के मुताबिक इंडियन आर्मी के उस इलाके में पहुंचते ही आतंकी दो पहाड़ियों के बीच बने एक नाले में कूद गए. नाले के अंदर ही आतंकियों को घेरने की कोशिश शुरू हो गई. लेकिन बर्फ की स्लाइड के चलते हमारे दो जवान भी नाले में गिर गए. साथी जवानों को नाले में देख दूसरे जवान भी नाले में कूद पड़े. आमने-सामने की फायरिंग शुरू हो गई.

गुत्थमगुथा भी हो गई. थोड़ी देर में ही सभी कमांडो ने पांचों आतंकियों को मार गिराया. तीन जवान मौके पर ही शहीद हो गए. दो अन्य को गोली लग गईं. उन्हें तुरंत ही अस्पताल ले जाया गया, लेकिन इलाज के दौरान उन्होंने भी दम तोड़ दिया.

आतंकियों से बरामद हुआ यह सामान.


आतंकियों के पास से मिला सैटेलाइट फोन और यह सामान

कमांडो ने बताया कि जब आतंकियों की तलाशी ली गई तो उनके पास से एक सैटेलाइट फोन मिला. इसके अलावा रायफल और गोला बारूद भी मिला. साथ ही बड़ी मात्रा में खाने-पीने का सामान भी मिला है. सामान पाक मार्का था. सेना के इस ऑपरेशन में शहीद होने वाले जवानों में सूबेदार संजीव कुमार, हवलदार देवेंद्र सिंह, पैराट्रूपर बालकृष्ण, पैराट्रूपर अमित कुमार और पैराट्रूपर छत्रपाल सिंह शहीद हो गए.

ये भी पढ़ें :-

Covid-19: होम क्वारंटाइन हुए लोगों पर दिल्ली पुलिस ऐसे रख रही नज़र, दर्ज की 176 FIR
Lockdown: हरियाणा से शराब की तस्करी कर रहा था दिल्‍ली पुलिस का ASI, हुआ सस्‍पेंड

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 7, 2020, 6:58 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading