अपना शहर चुनें

States

LoC पर खतरा: सेना के कमांडर ने दी चेतावनी- पाक 250 आतंकियों की करा सकता है घुसपैठ

सांकेतिक तस्वीर. (File pic ANI)
सांकेतिक तस्वीर. (File pic ANI)

Jammu-Kashmir: शीर्ष कमांडर ने कहा, ‘वे घुसपैठ के लिए खराब मौसम का इस्तेमाल करने का प्रयास करेंगे, लेकिन सुरक्षा बल कश्मीर में एलओसी (LOC) से सीधे घुसपैठ और पीर पंजाल के दक्षिण इलाकों से घुसपैठ पर नजर बनाए हुए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 27, 2020, 6:52 PM IST
  • Share this:
श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में हाल ही में सुरक्षा व्यवस्था के साथ डीडीसी के चुनाव (DDC Election) पूरे हुए हैं. इसके बाद अब सेना के शीर्ष कमांडर का बयान चिंता को बढ़ाने वाला है. सेना की 15वीं कोर के मुखिया लेफ्टिनेंट जनरल बी एस राजू (General BS Raju) ने आशंका जताई है कि पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान नियंत्रण रेखा यानी एलओसी पर तनाव बढ़ा सकता है. उन्होंने इस तथ्य के पीछे एक रिपोर्ट का हवाला दिया है.

शीर्ष कमांडर राजू ने कहा सर्दियों का मौसम शुरू होने के साथ ही अपने अंदरूनी मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए पाकिस्तान (Pakistan) द्वारा एलओसी के पास तनाव बढ़ाने की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता है. लेफ्टिनेंट जनरल ने कहा कि इस तरह की रिपोर्ट हैं कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में ‘लांच पैड’ पर 200 से 250 आतंकवादी (Terrorist) मौजूद हैं, जो घुसपैठ की फिराक में हैं. सामरिक रूप से महत्वपूर्ण यह कोर नियंत्रण रेखा के आसपास निगरानी बनाए रखने और दूरवर्ती क्षेत्रों में आतंकवाद से निपटने के लिए जिम्मेदार है.

सेना के शीर्ष कमांडर ने हाल में संपन्न जिला विकास परिषद चुनावों के बारे में भी बात की और कहा कि वह खुश हैं कि चुनाव शांतिपूर्ण तरीके से हुए और लोग जम्मू-कश्मीर में लोकतंत्र को मजबूत करने की खातिर वोट देने के लिए निकले. उन्होंने कहा, ‘यह अब निर्वाचित प्रतिनिधियों पर निर्भर करता है कि वे लोगों के लिए काम करें और लोग भी उनसे विकास करने के लिए कहें.’



नियंत्रण रेखा पर सर्दियों में कम ऊंचाई वाले इलाकों से घुसपैठ के बारे में उन्होंने कहा कि इस तरह की लगातार खबरें आ रही हैं कि पीओके में 200 से 250 आतंकवादी घुसपैठ की फिराक में हैं. उन्होंने कहा, ‘वे घुसपैठ के लिए खराब मौसम का इस्तेमाल करने का प्रयास करेंगे लेकिन सुरक्षा बल कश्मीर में एलओसी से सीधे घुसपैठ और पीर पंजाल के दक्षिण इलाकों से घुसपैठ पर नजर बनाए हुए हैं. एलओसी पर तैनाती पुख्ता है और कई स्तर पर निगरानी उपकरण लगे हुए हैं.’
यह भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर के बारामूला में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में दो आतंकवादी ढेर

हम मुश्किलों से निपटने के लिए तैयार हैं
सेना के कमांडर ने कहा, ‘अंदरूनी मुद्दों से अपने लोगों का ध्यान भटकाने के लिए पाकिस्तान सर्दियों के मौसम में भी आतंकवादियों की घुसपैठ कराकर या संघर्ष विराम उल्लंघन कर सीमा पर तनाव बढ़ा सकता है. दोनों स्थितियों में हम तैयार हैं और इस तरह के किसी भी दुसाहस का करारा जवाब देंगे.’ सेना के शीर्ष अधिकारी अंदरूनी राजनीतिक अशांति का जिक्र उस घटना के लिए कर रहे हैं, जिसमें 11 राजनीतिक दलों के गठबंधन पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट ने इमरान खान सरकार को अगले वर्ष 31 जनवरी तक इस्तीफा देने का समय दिया है.

जैश के 4 आतंकी पकड़े गए
रविवार को भी जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों ने बड़ी आतंकी साजिश को नाकाम किया है. यहां राज्य के बडगाम जिले में चार जैश ए मोहम्मद के आतंकवादियों को गिरफ्तार किया है. इसके अलावा जवानों ने एक पुलिसकर्मी को भी गिरफ्तार किया है. पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि सूचना के आधार पर जवानों ने जिले के हयातपोरा इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाया था. गिरफ्तार हुए आतंकियों की पहचान अल्ताफ हुसैन, शाबिर अहमद भट, जमशेद माग्रे और जाहिद डार के रूप में हुई है.

(भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज