Assembly Banner 2021

तमिलनाडु में 30 अप्रैल तक बढ़ाया गया लॉकडाउन, कोरोना की जांच पर रहेगा जोर

तमिलनाडु में बढ़ाया गया लॉकडाउन. (File pic)

तमिलनाडु में बढ़ाया गया लॉकडाउन. (File pic)

तमिलनाडु (Tamil Nadu) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के प्रसार को काबू करने के लिए जांच करने, संक्रमितों का पता लगाने और इलाज करने के प्रोटोकॉल को प्रभावी तरीके से लागू किया जाएगा.

  • Share this:
चेन्नई. तमिलनाडु सरकार (Tamil Nadu) ने कोविड-19 (Coronavirus) के कारण लगाए गए लॉकडाउन (Lockdown) को मौजूदा रियायतों और पाबंदियों के साथ 30 अप्रैल तक के लिए बढ़ा दिया है. मुख्य सचिव राजीव रंजन की ओर से जारी एक आदेश में यह जानकारी दी गई है.

आदेश के मुताबिक, वायरस के प्रसार को काबू करने के लिए जांच करने, संक्रमितों का पता लगाने और इलाज करने के प्रोटोकॉल को प्रभावी तरीके से लागू किया जाएगा. इसमें कहा गया है कि यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि सभी जिलों में समान रूप से आरटी-पीसीआर जांच हो और उन जिलों में पर्याप्त जांच की जाएं जहां संक्रमण के मामले ज्यादा हैं.

Youtube Video




रंजन ने कहा कि जिला प्रशासन को कोविड-19 संबंधी उपयुक्त व्यवहार को बढ़ावा देने के लिए सभी जरूरी उपाय करने चाहिए और वे मास्क लगाने, हाथों की स्वच्छता और एक-दूसरे से दूरी के नियमों का सख्ती से पालन कराएं.
उन्होंने कहा कि जिलाधिकारियों को कोविड-19 दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन कराना चाहिए और सामाजिक दूरी के नियम को लागू करने के लिए, जहां तक मुमकिन हो, जिला प्रशासनों को दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 का इस्तेमाल करना चाहिए.

वहीं अगर देश में कोरोना वैक्‍सीन की बात करें तो केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुधवार को बताया कि देश में कोविड रोधी टीके की 6.43 करोड़ से अधिक खुराकें दी जा चुकी हैं. शाम सात बजे तक की अस्थायी रिपोर्ट के अनुसार, 6,43,58,765 लोगों को टीके की खुराकें दी गई हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक, 82,47,288 स्वास्थ्य कर्मियों को टीके की पहली खुराक दी गई है जबकि 52,38,705 स्वास्थ्य कर्मियों को टीके की दूसरी खुराक दी गई है. इसी तरह अग्रिम पंक्ति के 91,34,627 कर्मियों को टीके की पहली खुराक लगाई गई है जबकि 39,23,172 अग्रिम पंक्ति के कर्मियों को टीके की दूसरी खुराक दी गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज