• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • भूख प्यास नहीं छीन सकी जिंदगी, 300Km पैदल चलने के बाद लू लगने से हुई प्रवासी मजदूर की मौत

भूख प्यास नहीं छीन सकी जिंदगी, 300Km पैदल चलने के बाद लू लगने से हुई प्रवासी मजदूर की मौत

Demo pic

Demo pic

प्रवासी मजदूरों (Migrant labourer) का एक समूह ओडिशा (Odisha) के मलकानगिरी जाने के लिए रविवार को हैदराबाद (Hyderabad) से पैदल निकला था, इन लोगों ने सोमवार दोपहर के बाद से कुछ भी नहीं खाया था.

  • Share this:
    हैदराबाद. कोरोना वायरस संक्रमण को काबू करने के लिए लागू लॉकडाउन (Lockdown) के कारण हैदराबाद (Hyderabad) से अपने गृह राज्य ओडिशा (Odisha) पैदल जा रहे एक प्रवासी मजदूर (Migrant labourer) की 300 किलोमीटर चलने के बाद भद्राचलम में लू लगने से मौत हो गई. अधिकारियों ने बताया कि प्रवासी मजदूरों का समूह ओडिशा के मलकानगिरी जाने के लिए रविवार को हैदराबाद से पैदल निकला था. जब ये लोग मंगलवार को भद्राचलम पहुंचे तो एक प्रवासी मजदूर के सीने में दर्द हुआ और उसने उलटी की, उसके बाद वह बेहोश होकर सड़क पर गिर पड़ा.

    सोमवार दोपहर से कुछ भी नहीं खाया था
    उसके मित्रों ने पुलिस को इस बारे में सूचित किया, जिसने उसे भद्राचलम के अस्पताल में भर्ती कराया. अस्पताल में उसे मृत घोषित कर दिया गया. अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि व्यक्ति की मौत संभवत: लू लगने से हुई, क्योंकि उसकी त्वचा और मुंह सूखा हुआ था. उन्होंने व्यक्ति के मित्रों के हवाले से बताया कि उनमें से किसी भी व्यक्ति ने सोमवार दोपहर के बाद से कुछ भी नहीं खाया था.

    अधिकारियों ने व्यक्ति के परिजनों को उसकी मौत की सूचना दी और शव को मलकानगिरी ले जाने के लिए एक वाहन का प्रबंध किया. हैदराबाद और भद्राचलम के बीच सड़क से दूरी 310 किलोमीटर है.



    ट्रक पलटने से हुई महिला की मौत
    मंगलवार को तेलंगाना के कामरेड्डी जिले में एक खचाखच भरे वाहन के पलटने से 32 साल की महिला श्रमिक की मौत हो गयी जबकि 20 अन्य लोग घायल हो गए. ये लोग अपने गृह राज्य झारखंड जा रहे थे. पुलिस ने बताया कि 21 प्रवासी श्रमिकों के एक समूह ने एक वाहन किराये पर लिया और उसमें बैठकर अपने गृह राज्य झारखंड के गढ़वा जा रहे थे. उन्होंने बताया कि वाहन पहले से खचाखच भरा हुआ था और यह कामरेड्डी जिले के डागी गांव में दोपहर बाद ढाई बजे पलट गया, क्योंकि वाहन का एक टायर फट गया था.

    लगातार लौट रहे हैं मजदूर
    कोरोना वायरस लॉकडाउन के चलते प्रवासी मजदूर (Migrant Labours) बेरोजगार हो गए हैं. वे मार्च से ही बड़े शहरों को छोड़कर अपने गांवों की ओर वापस जा रहे हैं. इनमें से कई लोग सैकड़ों किमी चलकर अपने घरों को पहुंचे. इनमें से कई लोग अपने घरों तक पहुंचने से पहले ही दुर्घटना या थकान से मौत का शिकार भी बन गए.

    ये भी पढ़ें :- Lockdown:दिल्ली में यहां से नहीं जाएगी कोई भी बस-ट्रेन, भीड़ को न आने की सलाह

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज