Lockdown के दौरान दिल्ली-NCR में 6 बार लगे भूकंप के झटके, अभी नहीं टला है खतरा!

Lockdown के दौरान दिल्ली-NCR में 6 बार लगे भूकंप के झटके, अभी नहीं टला है खतरा!
झारखंड के जमशेदपुर में आज सुबह भूकंप के झटके महसूस किए गए.

दिल्ली के कुछ इलाकों में अभी भी भूकंप का खतरा टला नहीं हैं. जानकारों की मानें तो लिथोस्फीयर की प्लेट्स आपस में रगड़ खा रही हैं, जिसके कारण अभी दिल्ली में और भूकंप के झटके महसूस किए जा सकते हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान पिछले 2 महीनों में दिल्ली (Delhi) की धरती भूकंप (Earthquake)  के झटकों से 6 बार हिल चुकी है. रिक्टर पैमाने (Richter scale) पर इन भूकंप के झटकों की तीव्रता कम थी, इसलिए लोगों का ज्यादा खतरा महसूस नहीं हुआ. लेकिन दिल्ली के कुछ इलाकों में अभी भी भूकंप का खतरा टला नहीं हैं. जानकारों की मानें तो लिथोस्फीयर की प्लेट्स आपस में रगड़ खा रही हैं, जिसके कारण अभी दिल्ली में और भूकंप के झटके महसूस किए जा सकते हैं.

इस वजह से दिल्ली पर है भूकंप का ज्यादा खतरा
दिल्ली में भूकंप का सबसे ज्यादा खतरा बना रहता है. भूकंप मापने वाले जोन मैक्रो सेस्मिक जोनिंग मैपिंग के अनुसार भारत को 4 जोन में विभाजित किया गया है. भूकंप को मापने के लिए भारत को जोन 2, जोन 3, जोन 4 और जोन 5 में बांटा गया है. जानकारों के अनुसार दिल्ली और इसके आसपास का इलाका जोन 4 में आता है. ये वो इलाका हैं जहां पर 7.9 तीव्रता वाला भूकंप आ सकता है.

क्यों आता है भूकंप?



ये बात बहुत ही कम लोगों का पता है कि पृथ्वी चार परतों से बनी हुई है. इनर कोर, आउटर कोर, मैनटल और क्रस्ट. क्रस्ट और ऊपरी मैन्टल को लिथोस्फेयर. ये सभी परतें 50 किलोमीटर मोटी है और खास तरह के वर्गों में बंटी हुई है. इन वर्गों को टैकटोनिक प्लेट्स कहा जाता है. ये प्लेट्स अपनी-अपनी जगहों पर हिलती रहती है. लेकिन जब ये परतें तेजी से हिलती है तो भूकंप के झटके महसूस किए जाते हैं. वैज्ञानिकों के अनुसार, टैकटोनिक प्लेट्स क्षैतिज और ऊर्ध्वाधर, दोनों ही तरह से अपनी जगह से हिल सकती हैं.



लॉकडाउन के बीच कब-कब भूकंप से हिली राजधानी
कोरोना के कहर और लॉकडाउन के दौरान दिल्ली में पहली बार भूकंप के झटके 13 अप्रैल को 3.5 की तीव्रता वाले आए थे. इसकी गहराई दिल्ली-एनसीआर में 8 किलोमीटर थी. ठीक उसी के अगले दिन यानी 14 अप्रैल को भी कम तीव्रता वाला भूकंप आया था, जिसकी तीव्रता रिएक्टर स्केल पर 2.7 मापी गई थी. इससे पहले 10 मई को भी दिल्ली में मौसम बदलने के बाद भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए थे.

भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 3.5 मापी गई थी. 15 मई को चौथी बार आए भूकंप के बारे में जानकारों का कहना है कि दिल्ली में एक बार फिर से भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं. दिल्ली के पीतमपुरा इलाके में 2.2 की तीव्रता से भूकंप आया. दिल्ली में बीते लॉकडाउन के दौरान चार बार भूकंप के झटके महसूस किए जा चुके हैं. वहीं आज पांचवी भी दो बार लगातार झटके महसूस किए गए.


ये भी पढ़ेंः-
दिल्ली-NCR में 4.6 तीव्रता का भूकंप, रोहतक में जमीन से सिर्फ 5 KM अंदर था केंद्र

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading