News18-Ipsos Exit Poll: भारत में कब सटीक और कब फेल हुए एग्जिट पोल्‍स?

मोदी की इस धमाकेदार जीत में अकेले बीजेपी का आधी सीटें जीतना भारतीय राजनीति के नए युग की शुरुआत का संकेत है.

News18Hindi
Updated: May 20, 2019, 5:43 AM IST
News18-Ipsos Exit Poll: भारत में कब सटीक और कब फेल हुए एग्जिट पोल्‍स?
न्‍यूज 18 द्वारा क्रिएट की गई तस्‍वीर
News18Hindi
Updated: May 20, 2019, 5:43 AM IST
लोकसभा चुनाव के अंतिम दौर का मतदान खत्‍म हो गया है. अब Exit Poll ने विपक्षियों को सकते में
डाल दिया है. CNN News18-Ipsos एग्जिट पोल के मुताबिक उम्मीद की जा रही है कि बीजेपी के
नेतृत्व वाली एनडीए 2019 के लोकसभा चुनाव में 336 सीटें जीत सकती है. लगभग सभी एग्जिट पोल्‍स का अनुमान एक जैसा है.



मोदी की इस धमाकेदार जीत में अकेले बीजेपी का आधी सीटें जीतना भारतीय राजनीति के नए युग की शुरुआत का संकेत है. ऐसा युग, जिसमें राष्ट्रवाद ने जाति और क्षेत्रवाद के सारे समीकरणों को ध्वस्त कर दिया है. इसके अलावा यह पहला मौका होगा जब कांग्रेस से अलग किसी और पार्टी के नेतृत्व में बना राजनीतिक गठबंधन पूरे बहुमत के साथ सत्ता में वापसी कर रहा है. कांग्रेस के नेतृत्व में लड़ रहे यूपीए को महज 82 सीटों पर सिमटना पड़ सकता है. हालांकि, असल परिणाम तो 23 मई को ही सामना आएगा. हम बताएंगे कि कब कब सटीक साबित हुए एग्जिट पोल्‍स के आंकड़ें?

कब शुरू हुआ ओपिनियन पोल?

वैसे तो दुनिया में ओपिनियन पोल का चलन 1940 में शुरू हुआ था, लेकिन भारत में इसकी शुरुआत 1960 में हुई थी. सेंटर फॉर द स्टडी ऑफ डेवलपिंग सोसायटीज (CSDS) ने इसकी शुरुआत की थी. जबकि इसे 1980 में जमीनी स्‍तर पर उतारने की कोशिश की गई थी. उस वक्‍त के पत्रकार प्रणव रॉय ने मतदाताओं की नब्‍ज को टटोलने के लिए एक सर्वे किया था. इसी को देश में एग्जिट पोल की शुरुआत कहा जाता है.

सटीक एग्जिट पोल
Loading...

लोकसभा चुनाव 1996 में सीएसडीएस के एग्जिट पोल ने खंडित जनादेश के संकेत दिए थे. जब चुनाव के परिणाम आए तो ये एकदम सटीक पाए गए. ये वही चुनाव था जिसमें बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी. हालांकि उस दौरान वे बहुमत से दूर थी. उस समय अटल बिहारी वाजपेयी ने सरकार बनाई थी, लेकिन उनकी सरकार 13 दिन में ही गिर गई थी. इसके बाद एचडी देवेगौड़ा और इंद्र कुमार गुजराल ने मिलकर यूपीए की सरकार बनाई थी.

1998 के एग्जिट पोल

90 के दशक में टीवी का चलन बढ़ने लगा था. उस दौरान एग्जिट पोल भी लोकप्रिय होने लगा था. 1998 के लोकसभा चुनाव में लगभग हर न्‍यूज चैनल ने एग्जिट पोल किए थे. उस समय के चुनाव में देश के चार सबसे बड़े चुनावी सर्वे ने एनडीए सरकार को सबसे बड़ी पार्टी बताया था. फिर भी एनडीए को बहुमत से दूर दिखाया गया था. उस समय के एग्जिट पोल में एनडीए को 214-249 के बीच सीटें और यूपीए को 145-164 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया था. इस चुनाव में एनडीए 252 और कांग्रेस ने 166 सीटें जीती थी.

1999 के एग्जिट पोल

जब 1999 में लोकसभा चुनाव हुए तो लगभग सभी बड़े सर्वे में एनडीए को 300 सीटें मिलने का अनुमान
लगाया गया था. नतीजों में एनडीए ने 296 सीटें हासिल हुई थी. जबकि यूपीए 134 सीटों पर सिमट गई थी.
उस दौरान एग्जिट पोल्‍स में यूपीए और एनडीए के सीटों का अनुमान तो सटीक रहा, लेकिन तीसरे पार्टी के मामले में एग्जिट पोल्‍स फेल हो गए. उस समय तीसरे नंबर की पार्टी को 34-95 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया था, लेकिन तीसरे नंबर की पार्टी को 113 सीटें मिली थी.

जब फेल हुए एग्जिट पोल्‍स

एग्जिट पोल्‍स के हिसाब से 2004 का चुनाव सबसे ज्‍यादा निराश करने वाला था. इस चुनाव में सभी एग्जिट
पोल्‍स धराशाही हो गए थे. सभी पोल्‍स में एनडीए को बहुमत मिलने का अनुमान लगाया था. लेकिन जब रिजल्‍ट आया जो एनडीए 200 का आंकड़ा भी नहीं छू पाई. 1999 में कारगिल युद्ध जीतने के बाद भी एनडीए को केवल 189 सीटों से ही संतोष करना पड़ा. इस चुनाव में यूपीए को 222 सीटें मिली थी और उसने सपा और बसपा के समर्थन से सरकार बना ली थी.

2009 के चुनाव में भी पोल्‍स का फेल्‍योर

2009 के लोकसभा चुनाव में भी एग्जिट पोल्‍स के अनुमान फेल साबित हुए थे. इस चुनाव में यूपीए और
एनडीए के बीच कड़ी टक्‍कर बताया गया था. अनुमान था कि यूपीए को 199 और एनडीए को 197 सीटें
मिलेंगी. लेकिन रिजल्‍ट इसके एकदम उलट रहा. यूपीए जबरदस्‍त बढ़त के साथ जादुई आंकड़े से महज कुछ सीटें ही दूर थी. यूपीए ने 262 सीटों पर जीत हासिल की थी. एनडीए को 159 सीटें मिली थी.

2014 के लोकसभा चुनाव में सटीक अनुमान

2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान लगभग सभी एग्जिट पोल्‍स में मोदी लहर बताया गया था. लगभग सभी ने बीजेपी नीत एनडीए सरकार बनने की बात कही थी. जब चुनाव के परिणाम आए तो बीजेपी को 282 और एनडीए को 336 सीटें मिलीं. जबकि यूपीए महज 59 सीटों पर सिमट कर रह गई थी. जिसमें से कांग्रेस को 44 सीटें मिली थीं.

ये भी पढ़ें: Exit Poll 2019, Final Results: एनडीए के वोट शेयर में जबरदस्त उछाल, बीजेपी को 39.6% वोट

ये भी पढ़ें: अब मोदी 2.0 की बारी : News18-Ipsos Exit Poll सर्वे के मुताबिक, बीजेपी कर रही है धमाकेदार बहुमत के साथ वापसी

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...